• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • यात्रियों से भरी बस के जाम तोड़ने पर प्रदर्शनकारियों ने बस पर किया पथराव
--Advertisement--

यात्रियों से भरी बस के जाम तोड़ने पर प्रदर्शनकारियों ने बस पर किया पथराव

नेशनल हाइवे 114 पर बसे चाचा गांव में शनिवार की सुबह कचरा फेंकने के लिए सड़क पार करते हुए एक महिला को स्पीड से आ रही...

Danik Bhaskar | Jun 03, 2018, 05:45 AM IST
नेशनल हाइवे 114 पर बसे चाचा गांव में शनिवार की सुबह कचरा फेंकने के लिए सड़क पार करते हुए एक महिला को स्पीड से आ रही फॉरच्यूनर कार ने टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। दुर्घटना के बाद कार चालक फरार हो गया। हादसे के बाद चाचा गांव के ग्रामीणों ने नेशनल हाइवे को जाम कर दिया। लगभग दो घंटों तक नेशनल हाइवे जाम रहा तथा प्रदर्शनकारियों ने हाइवे प्रशासन के खिलाफ जमकर हंगामा किया। इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाकर हाइवे को बंद कर दिया। इस बीच यात्रियों से भरी एक बस ने जाम तोड़ने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने उस पर पथराव किया। सूचना मिलने पर पुलिस भी घटना स्थल पर पहुंची। वहीं ग्रामीणों ने हाइवे पर स्पीड ब्रेकर के साथ ही अन्य मांगे भी रखी। जिस पर पुलिस और ग्रामीणों की आपसी सहमति के बाद नेशनल हाइवे को खोला गया।

एनएच 114 पर चाचा गांव के पास की घटना

जाम तोड़कर निकल रही बस पर प्रदर्शनकारियों ने किया पथराव, बस के शीशे टूटे

सड़क दुर्घटना में महिला की मौत के दौरान आक्रोशित ग्रामीणों द्वारा नेशनल हाइवे पर जाम लगाया। उसी समय जैसलमेर से जोधपुर को चलने वाली जय भवानी बस जाम को तोड़ते हुए निकलना चाहती थी।आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने बस पर पथराव करना शुरू कर दिए, जिससे बस के कांच टूट गए।प्रदर्शनकारियों द्वारा बस को क्षतिग्रस्त करने को लेकर अभी तक पुलिस में किसी प्रकार का कोई मुकदमा दर्ज नहीं करवाया गया है।

घर का कचरा फेंकने के लिए सड़क पार कर रही थी महिला, कार ने टक्कर मारी, मौत, ग्रामीणों ने दो घंटे तक लगाया जाम

छह माह में सात 7 दुर्घटनाएं

चाचा गांव पर बने पुल तथा सड़क पर पिछले छह माह में 7 दुर्घटनाएं हो चुकी है। इसमें एक दर्जन लोग घायल हो चुके हैं। चाचा गांव के पास घुमावदार मोड़ पर वाहन चालक पुलिए को नहीं देख पाते हैं और कई बार इस पुलिए से टकरा जाते हैं। वहीं चाचा गांव के नेशनल हाइवे पर बसे होने के कारण वाहनों की गति को रोकने के लिए कोई स्पीड ब्रेकर नहीं है। स्पीड ब्रेकर बनाने की मांग को लेकर कई बार ग्रामीणों द्वारा मांग उठाई गई थी, लेकिन अभी तक स्पीड ब्रेकर नहीं बनाए गए। इससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

सड़क पर पत्थर डाले टायर जलाए, लगा जाम

महिला की मौत के बाद ग्रामीणों ने जमकर नेशनल हाइवे विभाग तथा प्रशासन के खिलाफ दो घंटे तक प्रदर्शन किया और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। ग्रामीणों ने सड़क पर पत्थर डालकर तथा टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। दो घंटे बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे तथा ग्रामीणों से समझाईश की। ग्रामीणों ने मांग रखी कि चाचा गांव में ब्रेकर लगाए जाने, वाहन को जब्त किया जाए। दोनों पक्षों की आपसी सहमति के बाद जाम खोला गया।

दुर्घटना के बाद चालक कार के साथ भाग गया

शनिवार की सुबह लगभग 10 बजे चाचा गांव निवासी कंवरूदेवी प|ी भोमाराम मेघवाल (25) सड़क के दूसरे पार खाली स्थान पर कचरा डालने के लिए सड़क पार कर रही थी। तभी तेज गति से पोकरण से जैसलमेर की ओर आ रही अ फॉरच्यूनर कार ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। गाड़ी से टकराने के साथ ही महिला की घटना स्थल पर ही मौत हो गई और वाहन चालक टक्कर के साथ ही गाड़ी लेकर फरार हो गया। दुर्घटना के साथ ही ग्रामीण महिला को पोकरण राजकीय अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।