• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • पोकरण में डेढ़ घंटे में 2 इंच बारिश, गर्मी से मिली राहत, सड़काें पर भरे पानी में फंसे वाहन
--Advertisement--

पोकरण में डेढ़ घंटे में 2 इंच बारिश, गर्मी से मिली राहत, सड़काें पर भरे पानी में फंसे वाहन

शहर सहित कई ग्रामीण इलाकों में गुरुवार को दोपहर 2.45 बजे जमकर बारिश हुई। तापमान गिरने से लोगों को भीषण गर्मी से राहत...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 05:45 AM IST
शहर सहित कई ग्रामीण इलाकों में गुरुवार को दोपहर 2.45 बजे जमकर बारिश हुई। तापमान गिरने से लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली, वहीं सड़कों पर बरसाती पानी भरने से कई वाहन फंस गए और यातायात व्यवस्था बाधित हो गई।

सुबह से बादल छाए होने से लोगों ने अच्छी बारिश के कयास लगाए थे, वहीं नम हवाओं के कारण वातावरण ठंडा हो गया। दोपहर 2.30 बजे हल्की बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ और 15 मिनट बाद ऐसी झड़ी लगी कि करीब डेढ़ घंटे में 49 एमएम बारिश दर्ज की गई। मूसलाधार बारिश के बाद सालमसागर तालाब, रामदेवसर तालाब में पानी की आवक शुरू हुई। क्षेत्र में अच्छी बरसात से किसानों ने खेतों की ओर रुख कर जुताई कार्य शुरू कर दिया।

इन क्षेत्रों में हुई जमकर बरसात

शहर के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी बारिश को समाचार मिले हैं। वहीं पोकरण क्षेत्र के ऊंजला, माडवा, सैलवी चाचा, लंवा, धूड़सर, मोरानी, एका सहित कई क्षेत्र में जमकर बारिश हुई। इसी प्रकार भणियाणा क्षेत्र के भणियाणा जैमला, दूधिया, भगवतीपुरा, जसवंतपुरा, सरदारसिंह की ढाणी, तेलीवाड़ा, मेघासर, बल्लूसिंह की ढाणी, सनावडिया, नई राजमथाई, सहित कई ग्रामीणों इलाकों में जमकर बारिश हुई। अच्छी बरसात बाद खेतों में बुआई की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

यातायात व्यवस्था बाधित

शहर में गुरुवार को हुई झमाझम बरसात के कारण शहर के कई सड़कों पर काफी मात्रा में पानी भर गया, जिसके कारण शहर के कई मार्ग पर यातायात व्यवस्था पूरी तरह से बाधित हो गई। इसमें फलसूंड सड़क मार्ग, भवानीपोल सड़क मार्ग, मंगलपुरा, भास्कर मोहल्ला जाने वाला मार्ग, मदरसा के पास, रेलवे स्टेशन जाने वाले सड़क मार्ग पर काफी मात्रा में पानी भर जाने के कारण कई छोटे वाहन अटक गए।।

पानी की किल्लत होगी दूर

गुरुवार को हुई जोरदार बरसात के कारण क्षेत्र के विभिन्न नािडयों व तालाबों में बरसाती पानी की अच्छी आवक हो रही है। कई जगह नाडियां व तालाब भर गए हैं, वहीं आस क्षेत्र के जलस्रोतों में भी पानी की आवक शुरू हो गई है। क्षेत्र के सुधलाई तालाब, मेहरलाई तालाब समेत अन्य जलस्रोतों में अच्छी आवक से पानी की किल्लत दूर होने की आस बंधी है।