• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • लोक अदालत शिविर का निरीक्षण करने पहुंचे संभागीय आयुक्त, मांगी प्रगति रिपोर्ट
--Advertisement--

लोक अदालत शिविर का निरीक्षण करने पहुंचे संभागीय आयुक्त, मांगी प्रगति रिपोर्ट

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत शिविर पंचायत समिति सांकड़ा के...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 05:45 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत शिविर पंचायत समिति सांकड़ा के ग्राम पंचायत बाहरट का गांव में शिविर आयोजित किया गया। गुरुवार को संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता ने शिविर में पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान गुप्ता ने सभी अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट मांग की। गुप्ता ने शिविर में उपस्थित सभी अधिकारियों को बुलाकर विभागीय संबंधित प्रगति रिपोर्ट मांगवाकर उसकी जांच की। संभागीय आयुक्त गुप्ता ने शिविर में जाकर एक-एक अधिकारियों के पास जाकर शिविर में होने वाले कार्यों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी ली। गुप्ता ने सभी अधिकारियों को अपने विभाग से संबंधित प्रगति रिपोर्ट मांगी जिस पर सभी अधिकारियों ने अपने-अपने विभाग की प्रगति रिपोर्ट संभागीय आयुक्त के सामने रखी। जिस पर संभागीय आयुक्त ने सभी अधिकारियों को अच्छी से अच्छी प्रगति रिपोर्ट लाने के निर्देश दिए।

पोकरण (आंचलिक). शिविर में अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट लेते संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता।

बाहरट गांव में 329 प्रकरणों का हुआ निस्तारण

ग्राम पंचायत बाहरट गांव में आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविर में कई वर्षों से अटके पड़े प्रकरणों का निस्तारण किया गया। शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि शिविर में धारा 53 का 1 प्रकरण, धारा 88 का 1 प्रकरण, धारा 212 का 1 प्रकरण का निस्तारण कर ग्रामीणों को राहत पहुंचाई। सैनी ने बताया कि भणियाणा तहसीलदार 98 नामांतरण, 4 बंटवारनामा, 105 नकलें, 50 शुद्धि पत्र, 69 अन्य प्रकरणों को 329 प्रकरणों का निस्तारण किया। संभागीय आयुक्त गुप्ता ने उपस्थित महिलाओं को उज्जवला योजना के तहत निशुल्क गैस कनेक्शन तथा पट्टों का वितरण किया गया। शिविर में शिविर प्रभारी पोकरण उपखण्ड अधिकारी रेणु सैनी, भणियाणा तहसीलदार गुलाब सिंह चौहान, बारहठ का गांव सरपंच गजेंद्रसिंह रतनू, जलदाय विभाग के एक्सईएन दिनेश नागोरी सहित अन्य अधिकारी और ग्रामीण मौजूद थे।