Hindi News »Rajasthan »Pokran» बूस्टिंग स्टेशन पर हो रही अघोषित कटौती, पानी की सप्लाई बाधित

बूस्टिंग स्टेशन पर हो रही अघोषित कटौती, पानी की सप्लाई बाधित

क्षेत्र में इन दिनों गहराने वाले पेयजल संकट में बूस्टिंग स्टेशन पर बिजली की आंख मिचौली कोढ़ में खाज का काम कर रहा...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 05:50 AM IST

बूस्टिंग स्टेशन पर हो रही अघोषित कटौती, पानी की सप्लाई बाधित
क्षेत्र में इन दिनों गहराने वाले पेयजल संकट में बूस्टिंग स्टेशन पर बिजली की आंख मिचौली कोढ़ में खाज का काम कर रहा है। जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्रों में पहले से ही पेयजल सप्लाई सुचारू नहीं हो पा रही है। वहीं दूसरी ओर बूस्टिंग स्टेशनों पर बिजली की आवाजाही और वॉल्टेज की समस्या के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को समय पर और पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा हमेशा ही जलदाय विभाग के अधिकारियों को शिकायत की जा रही है, लेकिन इन बूस्टिंग स्टेशनों पर समय पर पर्याप्त बिजली की सुविधा उपलब्ध हो जाए तो जरूर ग्रामीण क्षेत्रों में गहराया पेयजल संकट में काफी सुधार आए।

लाठी और रामदेवरा में स्थिति काफी खराब

जलदाय विभाग द्वारा लाठी और रामदेवरा ग्रामीण क्षेत्रों में बूस्टिंग स्टेशन बनाए गए हैं। लेकिन हाल ही में लाठी और रामदेवरा बूस्टिंग स्टेशन में बिजली सप्लाई के दौरान काफी अनियमितता होने के कारण टंकियों में पर्याप्त पानी भी नहीं पहुंच पा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों द्वारा जलदाय विभाग के अधिकारियों को पीने के पानी की समस्या के संबंध में अवगत करवाया जा रहा है। लेकिन डिस्कॉम द्वारा समय पर पर्याप्त बिजली सप्लाई नहीं करने के कारण इन ग्राम पंचायतों में लगी पानी की टंकी में भी पर्याप्त पानी नहीं आ पा रहा है। बूस्टिंग स्टेशन पर बार बार हो रही अवैध कटौती के कारण पानी की सप्लाई पूरी तरह से लडख़ड़ा गई है। जहां एक ओर बूस्टिंग स्टेशन पर पर्याप्त बिजली सप्लाई नहीं हो रही है। वहीं दूसरी ओर जलदाय विभाग के अधिकारियों की समस्या बढ़ती जा रही है।

6 बूस्टिंग स्टेशनों को सीधा फीडर से जोड़ा जाएगा

भास्कर संवाददाता | पोकरण

क्षेत्र में इन दिनों गहराने वाले पेयजल संकट में बूस्टिंग स्टेशन पर बिजली की आंख मिचौली कोढ़ में खाज का काम कर रहा है। जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्रों में पहले से ही पेयजल सप्लाई सुचारू नहीं हो पा रही है। वहीं दूसरी ओर बूस्टिंग स्टेशनों पर बिजली की आवाजाही और वॉल्टेज की समस्या के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को समय पर और पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा हमेशा ही जलदाय विभाग के अधिकारियों को शिकायत की जा रही है, लेकिन इन बूस्टिंग स्टेशनों पर समय पर पर्याप्त बिजली की सुविधा उपलब्ध हो जाए तो जरूर ग्रामीण क्षेत्रों में गहराया पेयजल संकट में काफी सुधार आए।

लाठी और रामदेवरा में स्थिति काफी खराब

जलदाय विभाग द्वारा लाठी और रामदेवरा ग्रामीण क्षेत्रों में बूस्टिंग स्टेशन बनाए गए हैं। लेकिन हाल ही में लाठी और रामदेवरा बूस्टिंग स्टेशन में बिजली सप्लाई के दौरान काफी अनियमितता होने के कारण टंकियों में पर्याप्त पानी भी नहीं पहुंच पा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों द्वारा जलदाय विभाग के अधिकारियों को पीने के पानी की समस्या के संबंध में अवगत करवाया जा रहा है। लेकिन डिस्कॉम द्वारा समय पर पर्याप्त बिजली सप्लाई नहीं करने के कारण इन ग्राम पंचायतों में लगी पानी की टंकी में भी पर्याप्त पानी नहीं आ पा रहा है। बूस्टिंग स्टेशन पर बार बार हो रही अवैध कटौती के कारण पानी की सप्लाई पूरी तरह से लडख़ड़ा गई है। जहां एक ओर बूस्टिंग स्टेशन पर पर्याप्त बिजली सप्लाई नहीं हो रही है। वहीं दूसरी ओर जलदाय विभाग के अधिकारियों की समस्या बढ़ती जा रही है।

6 बूस्टिंग स्टेशनों को सीधा फीडर से जोड़ा जाएगा

बूस्टिंग स्टेशनों पर बिजली की आवाजाही के साथ साथ वॉल्टेज के उतार चढ़ाव के कारण आए दिन होने वाली परेशानी को देखते हुए जलदाय विभाग द्वारा हाल ही में 6 बूस्टिंग स्टेशनों को डायरेक्टर फीडर से जोड़ने की कवायद शुरू कर दी है। इन 6 बूस्टिंग स्टेशनों में लोंगासर, मसुरिया, हरियासर, धोलासर, कल्याणसिंह की ढाणी मोतीसर, सादा बूस्टिंग स्टेशन शामिल है। इन बूस्टिंग स्टेशनों को डायरेक्ट फीडर से जोड़ने के संबंध में जलदाय विभाग द्वारा कुछ लाइनों के रुपए जमा करवा चुके हैं और कुछ का कार्य प्रगति पर है। इस संबंध में विभागीय अधिकारियों द्वारा कार्रवाई पूर्ण कर जल्द ही 6 बूस्टिंग स्टेशनों को डायरेक्ट फीडर से जोड़ दिया जाएगा। ताकि ग्रामीणों को समय पर पीने का पानी उपलब्ध हो सके।

हाल ही में लाठी और रामदेवरा बूस्टिंग स्टेशन पर बिजली की अनियमितता के कारण पीने के पानी का संकट खड़ा हो गया है। इसके साथ ही विभाग द्वारा 6 बूस्टिंग स्टेशनों को डायरेक्ट फीडरों से जोड़ने की कार्रवाई की जा रही है। ताकि लोगों को इस भीषण गर्मी में राहत मिल सके। दिनेश नागौरी, एक्सईएन, जलदाय विभाग पोकरण

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×