पोकरण

--Advertisement--

उपभोक्ताओं को बिना अंगूठा लगाए मिलेगा राशन

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के...

Danik Bhaskar

May 03, 2018, 05:50 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों में जिले की किसी भी उचित मूल्य दुकान में खाद्यान्न प्राप्त करने की सुविधा की गई। इससे उपभोक्ताओं को आसानी ने अब राशन सामग्री उपलब्ध होगी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने मोबाइल के ओटीपी के माध्यम अब उपभोक्ताओं राशन सामग्री उपलब्ध होगी। लंबे समय से आ रही उपभोक्ताओं की शिकायतों पर ध्यान देते हुए विभाग ने मोबाइल ओटीपी के माध्यम से कोई भी उपभोक्ता अपनी राशन सामग्री खरीद सकता है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना अन्तर्गत समस्त पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित किए जाने तथा हर हाल में खाद्य सुरक्षा मुहैया करवाए जाने के उद्देश्य से उपखंड क्षेत्र सहित पूरे जिले में पोर्टेबिलिटी का प्रावधान किया गया है। ताकि अपने मूल निवास स्थान पर नहीं रहने की स्थिति में भी लाभार्थी जिले के किसी भी उचित मूल्य दुकान से राशन सामग्री प्राप्त कर सकेंगे। लाभार्थी का आधार राशन कार्ड में सीडेड नहीं होने तथा पोस मशीन द्वारा किसी लाभार्थी के फिंगर प्रिंट सत्यापित नहीं होने की परिस्थिति में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्रेषण अथवा प्राधिकृत अधिकारी के माध्यम से बायपास सिस्टम एक्टिवेट करवाकर राशन प्राप्त करने की व्यवस्था की गई। सभी राशन डीलर द्वारा रजिस्टर्ड लाभार्थियों को पोर्टेबिलिटी का लाभ दिए जाने के लिए सभी राशन डीलर अधिकृत है। लाभार्थियों द्वारा व श्रमिकों आदि की बायोमैट्रिक पहचान आधार कार्ड नंबर से सीडेड नहीं होने तथा अधिक आयु के लाभार्थियों के बायोमैट्रिक पहचान पोस मशीन से सत्यापित नहीं होने पर लाभार्थी के भामाशाह में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी मंगवाकर राशन प्राप्त कर सकते हैं।

आधार कार्ड व भामाशाह कार्ड के बिना नहीं मिलेगी सामग्री

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने आदेश के साथ-साथ यह लिखा है कि उपभोक्ताओं का आधार कार्ड व भामाशाह कार्ड के बिना उपभोक्ताओं राशन सामग्री नहीं मिलेगी। आधार कार्ड व भामाशाह कार्ड होने पर ही उपभोक्ताओं को राशन सामग्री उपलब्ध होगी। कोई उपभोक्ता राशन डीलर भामाशाह में पंजीकृत आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी वन टाईम पासवर्ड मंगवाकर अपनी पहचान सुनिश्चित करें। यदि आपका अथवा आपके परिवार के किसी भी सदस्य मोबाइल नंबर भामाशाह में रजिस्टर्ड नहीं है तो प्राधिकृत अधिकारी के कार्यालय प्रमाण-पत्र प्राप्त कर राशन सामग्री ले सकता है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी, रसद अधिकारी, प्रवर्तन निरीक्षक, अधिशाषी अधिकारी को प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया।

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों में जिले की किसी भी उचित मूल्य दुकान में खाद्यान्न प्राप्त करने की सुविधा की गई। इससे उपभोक्ताओं को आसानी ने अब राशन सामग्री उपलब्ध होगी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने मोबाइल के ओटीपी के माध्यम अब उपभोक्ताओं राशन सामग्री उपलब्ध होगी। लंबे समय से आ रही उपभोक्ताओं की शिकायतों पर ध्यान देते हुए विभाग ने मोबाइल ओटीपी के माध्यम से कोई भी उपभोक्ता अपनी राशन सामग्री खरीद सकता है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना अन्तर्गत समस्त पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित किए जाने तथा हर हाल में खाद्य सुरक्षा मुहैया करवाए जाने के उद्देश्य से उपखंड क्षेत्र सहित पूरे जिले में पोर्टेबिलिटी का प्रावधान किया गया है। ताकि अपने मूल निवास स्थान पर नहीं रहने की स्थिति में भी लाभार्थी जिले के किसी भी उचित मूल्य दुकान से राशन सामग्री प्राप्त कर सकेंगे। लाभार्थी का आधार राशन कार्ड में सीडेड नहीं होने तथा पोस मशीन द्वारा किसी लाभार्थी के फिंगर प्रिंट सत्यापित नहीं होने की परिस्थिति में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्रेषण अथवा प्राधिकृत अधिकारी के माध्यम से बायपास सिस्टम एक्टिवेट करवाकर राशन प्राप्त करने की व्यवस्था की गई। सभी राशन डीलर द्वारा रजिस्टर्ड लाभार्थियों को पोर्टेबिलिटी का लाभ दिए जाने के लिए सभी राशन डीलर अधिकृत है। लाभार्थियों द्वारा व श्रमिकों आदि की बायोमैट्रिक पहचान आधार कार्ड नंबर से सीडेड नहीं होने तथा अधिक आयु के लाभार्थियों के बायोमैट्रिक पहचान पोस मशीन से सत्यापित नहीं होने पर लाभार्थी के भामाशाह में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी मंगवाकर राशन प्राप्त कर सकते हैं।

राशन डीलर करेंगे इसका प्रचार प्रसार

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति ने सभी जिले के उचित मूल्य विक्रेताओं को राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में इसका अधिक से अधिक प्रसार प्रचार करें ताकि उपभोक्ताओं पता चल सके। 1 मई से 30 जून तक चलने वाले शिविर में संबंधित हल्के राशन डीलर उपस्थित रहकर उपभोक्ताओं को मोबाइल ओटीपी के माध्यम दी जा रही सामग्री के बारे में विस्तारपूर्वक अवगत करवाए। शिविर में इस प्रसार प्रसार करने के लिए बड़े पोस्टर लगाकर इसका प्रचार प्रसार करेंगे।


Click to listen..