• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • अधिकारियों की मनमर्जी पर निर्भर है पेयजल सप्लाई
--Advertisement--

अधिकारियों की मनमर्जी पर निर्भर है पेयजल सप्लाई

उपखंड क्षेत्र के कई गांवों में लम्बे समय से पीने के पानी की सप्लाई नहीं हुई है। ऐसे में पानी भले ही आए या नहीं आए...

Danik Bhaskar | Jun 04, 2018, 05:50 AM IST
उपखंड क्षेत्र के कई गांवों में लम्बे समय से पीने के पानी की सप्लाई नहीं हुई है। ऐसे में पानी भले ही आए या नहीं आए लेकिन जलदाय विभाग इन लोगों के घरों में पानी के बिल पहुंचाने में एक दिन भी देरी नहीं दिखाते हैं। लम्बे समय से पीने के पानी को तरस रहे ग्रामीणों को मजबूरी में पानी का बिल भरना पड़ रहा है।

पीने के पानी की सप्लाई में बरती जा रही अनियमितता को देखते हुए कई बार ग्रामीणों द्वारा धरना प्रदर्शन भी किया गया। लेकिन प्रदर्शन के कुछ दिनों बाद पुन: पानी सप्लाई की स्थिति जस की तस बनी हुई है। जलदाय विभाग द्वारा इस संबंध में अभी तक कोई पुख्ता प्रबंध नहीं किए जाने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में पीने का पानी नहीं पहुंच पा रहा है। वहीं दूसरी ओर जलदाय विभाग के अधिकारियों द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पीने के पानी की सप्लाई में विफल हो रहे जलदाय विभाग के कारण ग्रामीणों को मजबूरन महंगे दामों में पानी की खरीद करनी पड़ रही है। लगभग 800 से 1000 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब से ग्रामीणों द्वारा पानी की कीमत चुकानी पड़ रही है।

ऐसे में आमजन की परेशानी से बेखबर विभागीय अधिकारी विभिन्न योजनाओं में मिल रही नाममात्र की सफलताओं को गिनाने से बाज नहीं आ रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र में निवास कर रहे लोगों को पीने के पानी सप्लाई के लिए जलदाय विभाग द्वारा पाइप लाइन बिछाई गई थी। लेकिन लम्बे समय से ग्रामीण क्षेत्र में पानी की सप्लाई लडख़ड़ाई हुई है। वहीं जलदाय विभाग द्वारा कई स्थानों पर बनाई गई जीएलआर और एसआर तक पानी पहुंचाने के लिए पाइप लाइन भी बिछाई गई थी। लेकिन पानी के अभाव में यह पाइप लाइन इन दिनों गुम सी हो गई है। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के लोग पीने के पानी की आपूर्ति को लेकर परेशान नजर आ रहे हैं।


समस्या

उपखंड के कई गांवों में लम्बे समय से नहीं आ रहा है पानी, पेयजल व्यवस्था से परेशान ग्रामीणों का टैंकर ही सहारा

पोकरण. ग्रामीणों को मजबूरी में मंगवाने पड़ रहे है पानी के टेंकर (फाईल फोटो )