Hindi News »Rajasthan »Pokran» ई-मित्र से किसानों को मिलेगी पैमाइश की ऑन लाइन रिपोर्ट, तहसील कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी

ई-मित्र से किसानों को मिलेगी पैमाइश की ऑन लाइन रिपोर्ट, तहसील कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) किसानों को अपनी खेती पैमाइश करवाने के लिए तहसील कार्यालयों के चक्कर काटने बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 02, 2018, 05:50 AM IST

ई-मित्र से किसानों को मिलेगी पैमाइश की ऑन लाइन रिपोर्ट, तहसील कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

किसानों को अपनी खेती पैमाइश करवाने के लिए तहसील कार्यालयों के चक्कर काटने बाद भी पैमाइश रिपोर्ट उपलब्ध नहीं होती थी। राज्य सरकार ने निर्धारित तिथि तय कर किसानों को पैमाइश रिपोर्ट ऑन लाइन मिलेगी। जिससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी तथा किसानों को पैमाइश के लिए कहीं पर भी भटकना नहीं पड़ेगा। किसानों के लिए खुशी की खबर है। किसानों को अपनी पैमाइश रिपोर्ट लेने के लिए तहसील कार्यालय में जाना नहीं पड़ेगा।

वहीं ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से उपभोक्ताओं को मिलेगी। जिससे किसानों को अब पैमाइश के लिए दर-दर की ठोकरें नहीं खानी पड़ेगी। तहसील कार्यालयों में कार्यरत पटवारियों द्वारा पैमाइश की रिपोर्ट भी तैयार कर संबंधित ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से रिपोर्ट देंगे। उसके बाद संबंधित उपभोक्ता के पास मैसेज आएगा। उसके बाद किसानों अपनी पैमाइश रिपोर्ट केन्द्र के माध्यम से ले सकते है।

पोकरण (आंचलिक) पैमाईश के लिए किसानों को अब नहीं काटना पड़ेगा कार्यालय के चक्कर ।

पंद्रह दिन में पैमाइश रिपोर्ट होगी ऑन लाइन

किसानों को अपनी खेती पैमाइश का आवेदन करवाने बाद 15 दिन के बाद किसानों को ऑन लाइन रिपोर्ट मिलेगी जिससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी। वहीं किसान अपनी खेत की पैमाइश रिपोर्ट ऑन लाइन भी देख सकता है तथा ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से भी घर बैठे मंगवा सकते है। पटवारियों द्वारा आने वाले आवेदनों की जांच करेंगे तथा संबंधित तहसीलदार को भी इस संबंध सूचित करने के बाद संबंधित पटवारियों द्वारा उनके खेत में जाकर पैमाइश करेंगे। उसके बाद पैमाइश रिपोर्ट ऑन लाइन करेंगे। तहसीलदार द्वारा सत्यापन के बाद संबंधित संबंधित पटवारियों को पैमाइश के लिए ऑन लाइन रिपोर्ट देंगे। जिस पर पटवारी द्वारा नियत तिथि पर पैमाइश रिपोर्ट तैयार कर ऑन लाइन करेंगे। जिससे किसानों को नियत तिथि पर रिपोर्ट ऑन लाइन उपलब्ध होगी।

किसानों को सीमाज्ञान की रिपोर्ट ऑन लाइन उपलब्ध करवाने के पटवारियों द्वारा ऑन लाइन रिपोर्ट तैयार की जा रही है। जल्द ही पटवारियों द्वारा किसानों को ऑन लाइन रिपोर्ट तैयार कर किसानों को ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से उपलब्ध करवाई जाएगी। भूराराम सुथार, अध्यक्ष, पटवार संघ पोकरण

किसानों को पैमाइश रिपोर्ट ऑन लाइन करवाने के लिए संबंधित पटवारियों को निर्देश दिए जा चुके है। ई-मित्र पर आने वाली पैमाइश के आवेदन भी लिए जा रहे है। इसके लिए तहसील कार्यालय में अलग से कंप्यूटर कक्ष लगाया गया है। ई-मित्र के माध्यम से आने वाली पैमाइश रिपोर्ट तैयार की जा रही है। किसानों को कहीं पर भी पैमाइश के लिए चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। बीरमाराम, कार्यवाहक तहसीलदार पोकरण

सीमाज्ञान के लिए ई-मित्र पर करना होगा आवेदन

किसानों को अपनी खेत की पैमाइश करवाने के लिए ई-मित्र केन्द्र के माध्यम आवेदन करना होगा। जिसमें किसान का नाम, पिता का नाम, खसरा नंबर, रकबा, खेत की जमाबंदी, मोबाइल नंबर, रहवास करने वाले का मूल निवास, जातिप्रमाण पत्र, सहित कई अन्य दस्तावेज के साथ ई-मित्र केन्द्र पर ऑन लाइन आवेदन करना होगा। ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से तहसीलदार की आईडी पर आवेदन उपलब्ध होगा। जिस पर तहसीलदार द्वारा उन आवेदनों की जांच कर संबंधित पटवारी को पैमाइश के लिए रिपोर्ट भेजेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×