--Advertisement--

51 गांव व 415 ढाणियों में टैंकर से पेयजल सप्लाई

भीषण गर्मी के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में गहराए पेयजल संकट को देखते हुए पूर्व में कई बार ग्रामीणों द्वारा पानी के...

Danik Bhaskar | May 31, 2018, 05:55 AM IST
भीषण गर्मी के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में गहराए पेयजल संकट को देखते हुए पूर्व में कई बार ग्रामीणों द्वारा पानी के टैंकरों से पानी की सप्लाई सुचारू करने की मांग की थी। लेकिन ठेकेदारों द्वारा अत्यधिक रुपए भरने के कारण इन टैंकरों का टेंडर नहीं हो पा रहा था। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में टैंकरों के माध्यम से होने वाली पीने के पानी की सप्लाई बंद पड़ी थी। लेकिन बुधवार को जलदाय विभाग द्वारा टैंकरों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की सप्लाई शुरू कर दी है। जिसके कारण जहां एक ओर भीषण गर्मी में ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। वहीं दूसरी ओर पेयजल संकट के कारण मची हाहाकार से अधिकारियों को भी निजात मिली है। क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में पेयजल आपूर्ति को सुचारू करने के लिए शुरू किए गए 10 टैंकरों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति सुचारू की जाएगी। इसके साथ ही जलदाय विभाग के स्वयं के 7 टैंकरों द्वारा हाल ही में ग्रामीण क्षेत्रों में पीने के पानी की आपूर्ति की जा रही है। ऐसे में कुल 17 टैंकरों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति को सुचारू किया जा रहा है। वहीं टैंकरों से पेयजल आपूर्ति सुचारू करने के साथ ही ग्रामीणों के साथ साथ अधिकारियों ने भी राहत की सांस ली।

17 टैंकरों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति

टैंकर सप्लाई में अधिकारियों द्वारा बरती जा रही है पारदर्शिता

जलदाय विभाग द्वारा हाल ही में शुरू किए गए टैंकरों से पेयजल आपूर्ति तथा सप्लाई के दौरान पूर्ण पारदर्शिता बरती जाए इसके पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जहां एक ओर टैंकरों में जीपीएस सिस्टम से लोकेशन लोकेट कर टैंकरों की स्थिति को पूर्ण ऑनलाइन देखा जा सकता है। वहीं टैंकर के वाटर प्वाइंट से भरकर पानी ले जाने पर तीन रसीद दी जाएगी। जिसमें एक रसीद प्वाइंट पर कार्यरत कर्मचारी रखता है। वहीं दो रसीदों पर जहां पानी डाला जा रहा है वहां के ग्रामीणों के हस्ताक्षर करवाने के बाद एक रसीद ठेकेदार खुद रखता है ओर दूसरी अधिकारियों को सौंपता है। जिसके चलते जहां एक ओर पानी आपूर्ति सप्लाई में पारदर्शिता बनी रहती है। वहीं लोगों को काफी राहत भी मिली है।

जलदाय विभाग द्वारा बुधवार से शुरू किए गए टैंकरों से पेयजल आपूर्ति के साथ ही क्षेत्र के कुल 51 राजस्व गांवों के साथ साथ 415 ढाणियों में पेयजल आपूर्ति सुचारू की जाएगी। जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि ऐसे गांव जहां पर पीने के पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। साथ ही पेयजल आपूर्ति का और कोई साधन नहीं है। उन स्थानों को चिह्नित कर जलदाय विभाग द्वारा टैंकरों के माध्यम से पेयजल आपूर्ति को सुचारू किया जाएगा।