• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • तीन वर्ष से बंद है आरओ प्लांट, ग्रामीणों नहीं मिल रहा है शुद्ध और मीठा पानी
--Advertisement--

तीन वर्ष से बंद है आरओ प्लांट, ग्रामीणों नहीं मिल रहा है शुद्ध और मीठा पानी

पोकरण (आंचलिक) | उपखंड क्षेत्र भणियाणा के ग्राम पंचायत भैसड़ा में जलदाय विभाग द्वारा लाखों रुपए खर्च कर ग्रामीणों...

Danik Bhaskar | Jun 05, 2018, 05:55 AM IST
पोकरण (आंचलिक) | उपखंड क्षेत्र भणियाणा के ग्राम पंचायत भैसड़ा में जलदाय विभाग द्वारा लाखों रुपए खर्च कर ग्रामीणों को शुद्ध व मीठा पानी उपलब्ध करवाने के लिए गांव में आरओ प्लांट लगाया गया था। लेकिन तीन वर्ष से बंद आरओ प्लांट होने के कारण ग्रामीणों को आज भी दूषित पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। ग्रामीण पेंपसिंह ने बताया कि जलदाय विभाग द्वारा लाखों रुपए खर्च कर तीन वर्ष पूर्व गांव में आरओ प्लांट स्थापित किया गया था। लेकिन आरओ प्लांट शुरू नहीं होने के कारण ग्रामीणों को आज भी शुद्ध व मीठा पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। उन्होंने बताया कि गांव के कुएं के पानी क्लोराइड की मात्रा अधिक होने से गांव में कई प्रकार की बीमारियां फैली हुई है। ग्रामीणों को फ्लोराइड युक्त बेस्वाद पानी पीने से जोड़ो में दर्द घुटनों में दर्द हड्डियों में सुजन इत्यादि बीमारियों से लोग जूझ रहे है। भाटी ने बताया की राजस्थान सरकार द्वारा संचालित संस्थाओं ने आरओ प्लांट लगा तो दिए मगर चालू नहीं करने की वजह ग्रामीणों को परेशानी झेलनी पड़ रहीं हैं। भाटी ने कहा कि आरओ प्लांट भैसड़ा के बस स्टैंड के पास होने से काफी यात्रियों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। भैसड़ा का बस स्टैंड काफी बड़ा है आठ से दस बसों का संगम एक साथ होता है। इस आरओ प्लांट का फायदा भी यात्रियों को नहीं मिल रहा है। व ग्रामीणों को मजबूरी मे फ्लोराइड युक्त बेस्वाद पानी पीना पड़ रहा है। भाटी ने बताया कि कई बार संबंधित अधिकारियों व जन प्रतिनिधियों को भी अवगत करवाया। लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की गई।

पोकरण (आंचलिक) ग्राम पंचायत भैसड़ा में तीन वर्ष से बंद पड़ा आरओ प्लांट