Hindi News »Rajasthan »Pokran» पोकरण में आंधियों से अब भी सड़कों पर रेत, बसें टैक्सियां बंद, ऊंट गाड़ी से सफर कर रहे हैं लोग

पोकरण में आंधियों से अब भी सड़कों पर रेत, बसें टैक्सियां बंद, ऊंट गाड़ी से सफर कर रहे हैं लोग

जैसलमेर जिले में सोमवार को कुछ हिस्सों में बारिश हुई तो पोकरण में धूलभरी आंधियों से अब भी राहत नहीं है। पोकरण और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 20, 2018, 05:55 AM IST

पोकरण में आंधियों से अब भी सड़कों पर रेत, बसें टैक्सियां बंद, ऊंट गाड़ी से सफर कर रहे हैं लोग
जैसलमेर जिले में सोमवार को कुछ हिस्सों में बारिश हुई तो पोकरण में धूलभरी आंधियों से अब भी राहत नहीं है। पोकरण और भणियाणा उपखंड क्षेत्र में चलने वाली आंधियों ने न सिर्फ जनजीवन को प्रभावित किया है बल्कि यातायात व्यवस्था को पूरी तरह से ठप कर दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों से बाड़मेर के लिए चलने वाली बसों और टैक्सियां भी सड़कों पर जमा रेत के कारण काफी प्रभावित हुई है। सड़कों पर जमा रेत के कारण कई ढाणियां भी राजस्व गांवों से पूरी तरह से कट चुकी है। बाड़मेर जाने वाली बस और टैक्सियां भी बंद हैं। सड़कों पर जमा रेत के कारण जहां एक ओर वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है वहीं दूसरी ओर लोगों को मजबूरी में ऊंट नगाड़ों पर यात्रा करनी पड़ रही है।

पोकरण क्षेत्र के साथ साथ भणियाणा क्षेत्र में भी इन दिनों सड़कों पर आंधी के कारण रेत के टीले जमा हो गए हैं। जिन्हें हटाने में इन दिनों सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारी पूरी तरह से नाकाम दिखाई दे रहे हैं। क्षेत्र में चलने वाली धूलभरी आंधी के कारण पोकरण से बड़ली नाथूसर, बड़ली मांडा के साथ साथ फलसूंड से मानासर जाने वाली सड़क पर रेत जमा होने के कारण बालोतरा, पाटोदी, बायतू, देवड़ों की ढाणी, राइकों की ढाणी, चौधरियों की ढाणी, सऊवों का वास, खोखसर, परेऊ जाने वाली बसें व टैक्सियां भी बंद हो गई है। इसके साथ ही रामदेवरा से नाचना जाने वाली सड़क, आसकंद्रा से नाचना, सत्याया, लोहारकी, छायण, बरड़ाना की सड़कों पर रेत जमा हो गई।

भीखोड़ाई. ग्रामीण क्षेत्रों में जाने वाली सड़कों पर जमा है रेत के टीले, इससे वाहनो का चलना दूभर हो गया है ।

अधिकारी कर रहे हैं खानापूर्ति

आंधियों का दौर चलने के कारण सड़कों पर रेत के टीले बन गए हैं। जिसके कारण आमजन की परेशानी बढ़ गई है। वहीं इन सब परेशानियों से दूर सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारी मात्र खानापूर्ति कर रहे हैं। आंधियों से सड़कों पर जमा रेत की परेशानी से अवगत करवाने पर विभाग का जेईएन फलसूंड तो पहुंचा, लेकिन फलसूंड चौराहा पर घूमकर उन्होंने कार्य की इतिश्री कर दी। न तो सड़कों का मौका मुआयना किया और न ही इन सड़कों पर जमा रेत को हटाने के संबंध में कोई कार्रवाई की। इसके कारण विभागीय अधिकारियों के इस रवैये को लेकर आमजन में विभागीय अधिकारियों के खिलाफ काफी रोष व्याप्त है।

पिछले दिनों चले आंधियों के दौर के कारण क्षेत्र की कई सड़कों पर रेत के टीले बन गए हैं। जिसके कारण यातायात व्यवस्था पूरी तरह से बाधित हो गई है। इस संबंध में विभागीय अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। परबतसिंह भाटी, ग्रामीण, दिधू

आंधियों के कारण सड़कों पर रेत जमा हो गई है। जिसके कारण गांवों का संपर्क टूट गया है। ऐसे में कई बार वाहन सड़कों पर जमा रेत में फंस जाते हैं। जिसके कारण आमजन को परेशानी उठानी पड़ रही है। रेवतदान, बस ऑपरेटर

आंधियों के कारण सड़कों पर जमा रेत को हटाने का टेंडर हो चुका है। इस संबंध में जेईएन द्वारा मौका मुआयना कर जल्द ही सड़कों पर रेत हटाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। ओमप्रकाश चौधरी, एक्सईएन, सार्वजनिक निर्माण विभाग पोकरण

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×