• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • राजस्व लोक अदालत: एक दिन में छह सौ से अधिक मामलों का निस्तारण किया
--Advertisement--

राजस्व लोक अदालत: एक दिन में छह सौ से अधिक मामलों का निस्तारण किया

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) पंचायत समिति सांकड़ा के ग्राम पंचायत सांकड़ा व जैमला में आयोजित किया गया। शिविर...

Danik Bhaskar | Jun 02, 2018, 05:55 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

पंचायत समिति सांकड़ा के ग्राम पंचायत सांकड़ा व जैमला में आयोजित किया गया। शिविर में राजस्व लोक अदालत शिविर में कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को राहत पहुंचाई गई। ग्राम पंचायत सांकड़ा में आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविर में एक सफलता की कहानी साबित हुई।

शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि ग्राम पंचायत सांकड़ा व जैमला में आयोजित शिविर में उपस्थित अधिकारियों को लताड़ लगाते हुए कहा कि शिविर में आने वाले हर उपभोक्ताओं की समस्या का समाधान करने तथा आने वाले शिविर में उपभोक्ताओं द्वारा दी जा रही शिकायतों को रजिस्टर पर अंकित करने के निर्देश दिए। सैनी ने बताया कि शिविर में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सैनी ने बताया कि ग्राम पंचायत सांकड़ा में आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविर में ग्राम खेतासर निवासी गणपतसिंह को चालीस वर्ष बाद उसे मालिकाना हक मिला। सैनी ने बताया कि गणपतसिंह का नाम राजस्व रिकार्ड में गणेशसिंह दर्ज हो गया था। जिसके कारण गणपतसिंह को राजस्व संबंधी किसी प्रकार का लाभ नहीं मिल रहा था। सैनी ने बताया कि शिविर स्थल पर गणपतसिंह ने उपस्थित होकर राजस्व रिकार्ड में गलत के नाम बारे में प्रार्थना पत्र पेश किया जिस पर सैनी ने की गणपतसिंह के सरकारी दस्तावेजों की बारीकी से जांच की गई। जांच के दौरान गणपतसिंह का नाम सही पाया गया। सैनी ने तहसीलदार को गणेशसिंह के स्थान पर गणपतसिंह का नाम दर्ज करने के आदेश दिए। जिस पर तहसीलदार ने राजस्व रिकार्ड में गणेशसिंह के स्थान पर गणपतसिंह का नाम अंकित कर चालीस वर्ष बाद गणपतसिंह को न्याय दिया गया। सैनी ने बताया कि सांकड़ा में आयोजित शिविर में 393 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। सैनी ने बताया कि 7 रिकार्ड दुरुस्ती, धारा 53 के 1 प्रकरण, खातेदारी अधिकारों की घोषणा के 2 प्रकरण, पत्थर गड़ी के 1 प्रकरण, तरमीम दुरुस्ती के 2 प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को राहत पहुंचाई गई। इसी प्रकार जैमला में आयोजित लोक अदालत शिविर में धारा 136 के 2 प्रकरण, धारा 53 के 2 प्रकरण, धारा 88 के 1 प्रकरण का निस्तारण ग्रामीणों को राहत पहुंचाई गई। सैनी ने बताया कि तहसीलदार द्वारा 1 बंटवारनामा, 88 नामान्तरकरण, 70 राजस्व नकलें, 48 अन्य का र्यो का निस्तारण किया गया। सैनी ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 172 बच्चों का माप तोल व 22 आयरन गोलियां दी गई। इसी प्रकार श्रम विभाग द्वारा 40 श्रमिकों का पंजीयन किया गया। कृषि विभाग द्वारा 65 म्रुदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण किया। सैनी ने बताया कि आयुर्वेदिक विभाग द्वारा 23 रोगियों का उपचार किया। सामाजिक न्याय विभाग 8 पेंशनों का प्रकरणों का निस्तारण किया। इसी पशुपालन विभाग 874 पशुओं का उपचार व 240 पशुओं का टीकाकरण किया गया। शिविर में विधायक शैतानसिंह राठौड़, पोकरण तहसीलदार हनुमानराम चौधरी, सहायक प्रशासनिक अधिकारी सत्यनारायण पणिया, डिस्कॉम के सहायक अभियंता हनुमानराम चौधरी सहित कई विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

पोकरण (आंचलिक) गणपतसिंह को मालिकाना हक देती शिविर प्रभारी रेणु सैनी