• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • ट्यूबवैल से अवैध रूप से भरे जा रहे पानी के टैंकर पर लगी रोक,कर्मचारी को पाबंद किया
--Advertisement--

ट्यूबवैल से अवैध रूप से भरे जा रहे पानी के टैंकर पर लगी रोक,कर्मचारी को पाबंद किया

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग द्वारा खुदवाया गया ट्यूबवैल...

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 06:00 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग द्वारा खुदवाया गया ट्यूबवैल से अवैध रूप से भरे जा रहे पानी के टैंकर के चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। एक्सईएन दिनेश नागौरी ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल के पास विभाग द्वारा ट्यूबवैल खुदवाया गया है । यहां से उन्हीं टैंकरों को पानी भरने की इजाजत हैं जिनके माध्यम से जलदाय विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में निशुल्क पानी की सप्लाई करा रही है। उन्होंने बताया कि यदि इस ट्यूबवैल से कोई प्राईवेट व्यक्ति पानी भरता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई अमल लाई जाएगी। नागौरी ने संबंधित एईएन व जेईएन को ट्यूबवैल से पानी की चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा उनके खिलाफ पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाने के निर्देश दिए। नागौरी ने इस ट्यूबवैल पर सरकारी कार्मिक की नियुक्ति की गई है। उसके बाद भी पानी की चोरी हो रही है तो संबंधित कार्मिक व अवैध रूप से टैंकर भरने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नागौरी ने जेईएन को मौके पर भेजकर ट्यूबवैल से पानी की चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर जैसलमेर पोकरण के संस्करण में सोमवार को जलदाय विभाग के अधिकारियों के सामने अवैध रूप से भरे जा रहे हैं पानी के टैंकर शीर्षक से खबर प्रकाशित होने के बाद जलदाय विभाग सतर्क हुआ। सोमवार की सुबह से ही गोमट ट्यूबवैल से अवैध रूप से पानी भरने वाले टैंकर नहीं दिखाई दिए। जलदाय विभाग के एक्सईएन दिनेश नागौरी ने संबंधित एईएन व जेईएन को मौके पर भेजा तथा संबंधित कर्मचारियों को पूरे दिन उपस्थिति देने के निर्देश दिए। ग्रामीणों ने अवैध रूप से पानी का कारोबार करने वालों पर अंकुश लगने पर भास्कर का आभार प्रकट किया।

पानी का अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ एक्सईएन ने कार्रवाई के दिए निर्देश

लाठी में जीएलआर से व्यर्थ बह रहा पानी, जलदाय विभाग नहीं कर रहा कार्रवाई

लाठी | सोढ़ाकोर गांव में जलदाय विभाग की उदासीनता के चलते जलापूर्ति के समय जीएलआर से हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। जानकारी के अनुसार सोढ़ाकोर गांव में जलदाय विभाग की ओर से ग्रामीणों को पेयजल सुविधा मुहैया करवाने के लिए जीएलआर का निर्माण करवाया गया है, लेकिन जलदाय विभाग के कर्मचारियों की उदासीनता के चलते जलापूर्ति के समय पानी व्यर्थ बह रहा है। इसको लेकर ग्रामीणों ने जलदाय विभाग के कर्मचारियों को अवगत करवाया था, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। जीएलआर से व्यर्थ पानी बहने से ग्रामीणों को पेयजल समस्या का भी सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय निवासी भूपेंद्रसिंह राठौड़ ने बताया कि सोढ़ाकोर गांव में उनके घर पास बनी जीएलआर पशुखेळी से रोज हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है जिससे वहां कीचड़ जमा हो गया है। पानी एक जगह जमा होने से गंदगी हो गई है स्थानीय लोगों को इस गंदगी से बीमारियां फेल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि इस जीएलआर की कई सालों से सफाई भी नहीं करवाई गई है ग्रामीणों को मजबूरन गंदा पानी पीना पड़ रहा है। उन्होंने ने जलदाय विभाग से पशुखेळी के पास गंदगी व जीएलआर में जमा कीचड़ की सफाई करवाने की मांग की है।

चिमनपुरा दर्जियों की ढाणी में पेयजल सप्लाई सुचारू कराने की मांग

पोकरण | माडवा गांव के चिमनपुरा दर्जियों की ढाणी निवासी पन्नाराम दैया ने उपखण्ड अधिकारी भणियाणा को ज्ञापन सौंप दर्जियों की ढाणी में पिछले दो वर्ष से बंद जलापूर्ति को शुरू करवाने की मांग की। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि बलूसिंह की ढाणी से चिमनपुरा दर्जियों की ढाणी जीएलआर में गत दो वर्ष से पानी नहीं पहुंचा है। मौखिक रूप से कई बार विभागीय अधिकारियों को अवगत करवाया गया तथा सक्षम अधिकारियों को फोन पर भी कई बार सूचित किया गया। लेकिन आश्वासन दिया जा रहा है। गत वर्ष गर्मियों में टैंकर द्वारा भी कुछ समय जलापूर्ति की गई। इस बार अभी तक वर्षा भी नहीं हुई है। जिसके चलते जल्द से जल्द लाइन की जांच करवाकर व पेयजल सप्लाई सुचारू करवाने के संबंध में उचित कार्रवाई की जाए। तब तक टैंकर से जलापूर्ति करवाई जाए।

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग द्वारा खुदवाया गया ट्यूबवैल से अवैध रूप से भरे जा रहे पानी के टैंकर के चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। एक्सईएन दिनेश नागौरी ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल के पास विभाग द्वारा ट्यूबवैल खुदवाया गया है । यहां से उन्हीं टैंकरों को पानी भरने की इजाजत हैं जिनके माध्यम से जलदाय विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में निशुल्क पानी की सप्लाई करा रही है। उन्होंने बताया कि यदि इस ट्यूबवैल से कोई प्राईवेट व्यक्ति पानी भरता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई अमल लाई जाएगी। नागौरी ने संबंधित एईएन व जेईएन को ट्यूबवैल से पानी की चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा उनके खिलाफ पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाने के निर्देश दिए। नागौरी ने इस ट्यूबवैल पर सरकारी कार्मिक की नियुक्ति की गई है। उसके बाद भी पानी की चोरी हो रही है तो संबंधित कार्मिक व अवैध रूप से टैंकर भरने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नागौरी ने जेईएन को मौके पर भेजकर ट्यूबवैल से पानी की चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर जैसलमेर पोकरण के संस्करण में सोमवार को जलदाय विभाग के अधिकारियों के सामने अवैध रूप से भरे जा रहे हैं पानी के टैंकर शीर्षक से खबर प्रकाशित होने के बाद जलदाय विभाग सतर्क हुआ। सोमवार की सुबह से ही गोमट ट्यूबवैल से अवैध रूप से पानी भरने वाले टैंकर नहीं दिखाई दिए। जलदाय विभाग के एक्सईएन दिनेश नागौरी ने संबंधित एईएन व जेईएन को मौके पर भेजा तथा संबंधित कर्मचारियों को पूरे दिन उपस्थिति देने के निर्देश दिए। ग्रामीणों ने अवैध रूप से पानी का कारोबार करने वालों पर अंकुश लगने पर भास्कर का आभार प्रकट किया।