Hindi News »Rajasthan »Pokran» अब किराए पर नहीं चलेगा फार्मासिस्ट का लाइसेंस

अब किराए पर नहीं चलेगा फार्मासिस्ट का लाइसेंस

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) उपखंड क्षेत्र सहित पूरे जिले में कई स्थानों पर मेडिकल स्टोर पर चल रहे लाइसेंस...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 06, 2018, 06:05 AM IST

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

उपखंड क्षेत्र सहित पूरे जिले में कई स्थानों पर मेडिकल स्टोर पर चल रहे लाइसेंस का खेल अब नहीं चल सकेगा। उपखंड क्षेत्र सहित पूरे जिले में सैकड़ों मेडिकल स्टोर है जो किराए के लाइसेंस पर चल रहे है। उनकी अब दुकानें पूर्ण रूप से ठप हो जाएगी तथा किराए पर देने वाले फार्मासिस्ट के लाइसेंस भी निरस्त हो जाएंगें।

उपखंड क्षेत्र व पूरे जिले में लाइसेंस धारक के लाइसेंस पर दुकान भी चलती है और वह उसी लाइसेंस पर फार्मासिस्ट की नौकरी भी करता है। कहीं स्थानों पर एक ही लाइसेंस का उपयोग दो जगहों पर किया जा रहा है, लेकिन अब एक लाइसेंस पर ही एक ही कार्य हो सकेगा। फार्मासिस्ट पर नकेल कसने के लिए औषधी नियंत्रण विभाग की ओर से फार्मासिस्ट के लाइसेंस को आधार से जोड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। नए लाइसेंस धारकों को खाद्य एवं औषधी प्रशासन एफएसडीए पोर्टल पर ऑन लाइन दस्तावेज अपलोड करना होगा। अब बिना आधार कार्ड के मेडिकल स्टोर का लाइसेंस भी नहीं बन सकेगा और न ही लाइसेंस रिन्युअल हो सकेगा। एक फार्मासिस्ट के नाम से एक ही पंजीयन होगा।

नहीं कर सकेंगे दो कार्य एक साथ : चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कई फार्मासिस्ट ऐसे है जिन्होंने अपने लाइसेंस किराए पर दे रखे है तथा स्वयं एमआर की नौकरी भी कर रहे है। दस्तावेज ऑन लाइन होने से फार्मासिस्ट के नाम सामने आ सकेंगे। अब नियमानुसार मेडिकल दुकान और एमआर की नौकरी एक साथ नहीं की जा सकेगी। जो फार्मासिस्ट है वहीं मेडिकल दुकान संचालन करेगा।

ऑन लाइन होगा आवेदन : फार्मासिस्ट को एम एसओ आईडी बनाकर एमएसडीएयूपी डॉट जीओवी डॉट इन पर ऑन लाइन आवेदन करना होगा। इसमें मेडिकल स्टोर संचालन व फार्मासिस्ट को अपना आधार कार्ड नंबर जिस मोबाइल से लिंक होगा। उसी पर ओपीडी आएगा। उसके बाद फार्मासिस्ट का पंजीयन होगा। पंजीयन होने के बाद फार्मासिस्ट एक ही दुकान पर कार्य करेंगे। अन्य जगह पर करने वाले कार्य के लाइसेंस निरस्त हो जाएगा।



फार्मासिस्टों के लाइसेंस को आधार से लिंक करने की प्रक्रिया शुरू है। आधार से जुड़ने के बाद फार्मासिस्ट एक ही दुकान का संचालन कर पाएगा। फार्मासिस्टों को आधार पर लिंक करवाना होगा नहीं तो लाइसेंस निरस्त की कार्रवाई की जाएगी। डॉ. बाबूलाल बुनकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×