Hindi News »Rajasthan »Pokran» तूफान आया, लेकिन गति कम रहने से नुकसान नहीं

तूफान आया, लेकिन गति कम रहने से नुकसान नहीं

जयपुर | मौसम विभाग के अलर्ट के बीच प्रदेश में मंगलवार को जयपुर सहित लगभग सभी जिलों में तेज अंधड़ व तूफान आया। इस...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 09, 2018, 06:05 AM IST

तूफान आया, लेकिन गति कम रहने से नुकसान नहीं
जयपुर | मौसम विभाग के अलर्ट के बीच प्रदेश में मंगलवार को जयपुर सहित लगभग सभी जिलों में तेज अंधड़ व तूफान आया। इस दौरान कई जगह बूंदाबांदी भी हुई। तेज आंधी से कई जगह पेड़ गिर गए और खंभे उखड़ गए। जयपुर में अधिकतम 60 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूलभरी हवा चलीं। दिन में अधिकांश समय हवाओं की रफ्तार 20 से 30 किलोमीटर प्रतिघंटा रही।

जयपुर में सांगानेर एयरपोर्ट और कलेक्ट्रेट सहित कुछ इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई। बीकानेर में 10, सरदारशहर में 15, राजगढ़ व रतनगढ़ में 12, घड़साना में 10, पाेकरण में 14 और फलोदी व लोहावट में 17 मिमी बारिश ने मौसम बदल दिया।

मौसम विभाग ने जयपुर में मंगलवार को तेज अंधड़, धूल भरी हवाओं और मेघ गर्जन की चेतावनी दी थी।





जयपुर शहर में सुबह 4 बजे से तेज हवाओं ने डेरा डाला, जो सुबह करीब 6 बजे तक चलीं। उसके बाद सुबह 8.30 बजे शहर के आसमान पर धूल का गुबार छाया। हालांकि, कुछ देर बाद मौसम खुल गया। दोपहर बाद फिर से तेज हवाएं चलीं, लेकिन उनकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा रही।





जयपुर में धूल का गुबार

कहां कितनी बारिश (मिलीमीटर)

अजमेर 3.4

बीकानेर 10

सरदारशहर 15

राजगढ़ 12

रतनगढ़ 12

चूरू 7.6

घड़साना 10

पोकरण 14

फलोदी 17

लोहावट 17

अगले 24 घंटे...

अगले 24 घंटों में पश्चिमी सहित पूर्वी राजस्थान के कुछ जिलों में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है। नागौर को छोड़कर पूरे पश्चिमी राजस्थान में धूल भरी हवाएं चलेंगी।

पूर्वी राजस्थान में अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, दौसा, धौलपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, राजसमंद, सवाई माधोपुर व सीकर में हल्की बारिश के साथ मेघ गर्जन की संभावना है। सिरोही व टोंक में धूल भरी हवाओं के आसार हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×