Hindi News »Rajasthan »Pokran» नहरी अधिकारियों ने कहा ; अब पानी सुरक्षित है, साफ पानी मिलने से रसायन का असर खत्म

नहरी अधिकारियों ने कहा ; अब पानी सुरक्षित है, साफ पानी मिलने से रसायन का असर खत्म

भास्कर संवाददाता | जैसलमेर/नाचना/नोख रसायनयुक्त पानी को लेकर नहरी क्षेत्र के लोगों में दहशत फैली हुई है, वहीं...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 24, 2018, 06:05 AM IST

  • नहरी अधिकारियों ने कहा ; अब पानी सुरक्षित है, साफ पानी मिलने से रसायन का असर खत्म
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | जैसलमेर/नाचना/नोख

    रसायनयुक्त पानी को लेकर नहरी क्षेत्र के लोगों में दहशत फैली हुई है, वहीं जलदाय विभाग ने सेम्पल पास होने के बावजूद एहतियात के तौर पर जलदाय विभाग की डिग्गियों में पानी लेना बंद कर दिया। दूसरी तरफ जैसलमेर पहुंचने पर रसायनयुक्त पानी का असर लगभग खत्म सा हो गया है।

    नहरी अधिकारियों का कहना है कि अब तो यह स्थिति है कि पानी आया या नहीं यह भी क्लियर नहीं हो रहा है। उनके अनुसार हजारों क्यूसेक में जब 300 क्यूसेक केमिकलयुक्त पानी बहते हुए जैसलमेर पहुंचा तब तक इसका असर खत्म हो गया। पीएचईडी विभाग की ओर से लिए गए सेम्पल में भी पानी साफ बताया जा रहा है। ऐसे में 1120 आरडी से आगे नाचना व मोहनगढ़ तक यही पानी चल रहा है, इसमें किसी भी तरह की दिक्कत नहीं है। कुल मिलाकर रसायनयुक्त पानी का खतरा अब खत्म हो गया है। इस मामले में नहर पर बैठे किसानों व ग्रामीणों का कहना है कि पानी अभी भी साफ नहीं है। बदबूदार होने के साथ-साथ गंदा पानी नहर में चल रहा है।

    पहले जोधपुर लिफ्ट को बंद किया लेकिन जांच के बाद फिर से चालू कर दिया

    …और यहां बरती जा रही है एहतियात

    एक तरफ जोधपुर को पेयजल के लिए पानी सप्लाई किया जा रहा है तो दूसरी तरफ जैसलमेर जलदाय विभाग ने दो दिन से जैसलमेर व पोकरण के लिए नहर का पानी लेना बंद कर दिया है। बुधवार को पोकरण फलसूंड लिफ्ट, पोकरण लिफ्ट व सांकड़िया माइनर को बंद रखा गया।

    पानी पहुंचा या नहीं यह स्पष्ट नहीं है। वर्तमान में तो यही नजर आ रहा है कि हजारों क्यूसेक पानी के साथ आए रसायनयुक्त पानी का असर एकदम ही खत्म हो गया है। पीएचईडी के सेम्पल में पानी सेफ बताया जा रहा है। इसलिए एस्केप करने की जरूरत नहीं पड़ी और नाचना से आगे मोहनगढ़ की तरफ पानी चल रहा है। अब खतरे जैसी बात नहीं है और पानी पूरी तरह सेफ है। विनोद चौधरी, अति. मुख्य अभियंता, इंगांनप

    जम्भेश्वर लिफ्ट के पानी पर सफेद चादर

    एक तरफ जोधपुर लिफ्ट में पानी छोड़ा जा रहा है तो दूसरी तरफ नोख क्षेत्र की जंभेश्वर लिफ्ट के पंपिंग स्टेशन पर आए नहरी पानी पर सफेद चादर देखने को मिली। यहां पूरी तरह से गंदा पानी पहुंचा और कुछ इलाकों में मछलियां भी मरी हुई देखी गई।

    पोकरण क्षेत्र की जलदाय विभाग की परियोजनाओं में नहरी पानी नहीं लिया जा रहा है। पूरी तरह से इन्हें बंद कर दिया गया है। हालांकि सेम्पल में पानी साफ बताया जा रहा है फिर भी एहतियात बरती जा रही है। दूसरी तरफ जोधपुर लिफ्ट में जोधपुर से आए अधिकारियों ने पानी की जांच की है और पानी साफ होने की वजह से ही वहां पर पानी चलाया जा रहा होगा। दिनेश नागौरी, एक्सईएन, जलदाय विभाग

    जानकारी के अनुसार मंगलवार को जोधपुर लिफ्ट को बंद कर दिया गया था ताकि रसायनयुक्त पानी जोधपुर की तरफ सप्लाई न हो। यह लिफ्ट जोधपुर जिले की पेयजल आपूर्ति के लिए है। बुधवार को सुबह फिर से इस लिफ्ट को चालू कर दिया और बुधवार को दिन भर पानी लिफ्ट में चलता रहा। अधिकारियों के अनुसार इस लिफ्ट में जा रहे पानी का सेम्पल सही पाए गए जिसकी वजह से पानी चालू कर दिया गया।

  • नहरी अधिकारियों ने कहा ; अब पानी सुरक्षित है, साफ पानी मिलने से रसायन का असर खत्म
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×