Hindi News »Rajasthan »Pokran» तारबंदी में फंसने से 16 चिंकारा की मौत, अवशेष मिलने से फैली सनसनी

तारबंदी में फंसने से 16 चिंकारा की मौत, अवशेष मिलने से फैली सनसनी

क्षेत्र के भादरिया गांव स्थित ओरण की भूमि में की गई तारबंदी में उलझ कर 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। वहीं टीम के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 06:20 AM IST

तारबंदी में फंसने से 16 चिंकारा की मौत, अवशेष मिलने से फैली सनसनी
क्षेत्र के भादरिया गांव स्थित ओरण की भूमि में की गई तारबंदी में उलझ कर 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। वहीं टीम के सदस्यों ने सर्वे कर तारबंदी से उलझ कर मरे 16 चिंकाराओं के शव के अवशेष को बरामद किया। इसके साथ ही अधिकारियों द्वारा तारबंदी के जिन स्थानों पर हरिणों के शव मिलने की सूचना मिली थी वहां से शवों व अवशेषों को बरामद कर लिया है।

जानकारी के अनुसार भादरिया गांव में ओरण की जमीन पर तारबंदी की गई। इसके साथ ही क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से चालू हुए तेज आंधी के दौर के कारण रेतीली हवाओं के कारण इन चिंकाराओं को यह तारबंदी नहीं दिखाई दी और हिरण तारबंदी में उलझ गए। जिसके कारण 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। इस संबंध में जीव रक्षा प्रेमियों को जानकारी मिलने के साथ ही उन्होंने वन्य विभाग के सहायक उपवन संरक्षक बृजमोहन गुप्ता, क्षेत्रीय वन अधिकारी प्रकाश सिंह जुगतावत सहित अन्य स्टाफ उपस्थित को सूचित किया तथा मामले की जांच करने की मांग की।

दोपहर तक टीम को मिले 16 शव व अवशेष

भादरिया के पास ओरण जमीन पर की गई तारबंदी में फंस कर मरे हिरणों के शवों को व अवशेषों की सूचना जीव रक्षा प्रेमियों को मिली। जिस पर वह मौके पर पहुंचे तथा मामले की जांच में जुट गए। जीव रक्षा प्रेमियों ने इस संबंध में वन्य विभाग के अधिकारियों को भी सूचित किया। जिस पर उन्होंने दोपहर तक तारबंदी में फंसे 16 चिंकारा के शवों और अवशेषों को तारबंदी से मुक्त करवाया। इसके साथ ही अन्य स्थानों पर भी हिरणों के शवों की तलाश की जा रही है।

16अवशेषों को दफनाया | भादरिया के पास ओरण भूमि पर की गई तारबंदी के पास मिले 16 चिंकारा के शवों व अवशेषों को वन्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा एकत्रित किया गया। जांच के बाद इन सभी शवों व अवशेषों को रेंज परिसर लाठी में गड्ढा खोद कर अवशेषों को दफनाया गया।

तारबंदी में फंसकर कई हिरणों के मरने की सूचना मिली। जिस पर पूरी टीम मौका स्थल पर पहुंची तो वहां पर 16 चिंकारा के काफी पुराने शव व अवशेष मिले। जिस पर अधिकारियों ने सभी हिरणों के अवशेषों को एकत्रित कर रेंज परिसर में दफना दिया। बृजमोहन गुप्ता, सहायक उपवन संरक्षक, वन्य विभाग पोकरण

भादरिया के ओरण क्षेत्र में की गई तारबंदी में फंस कर कई हिरणों की मौत हो गई। जिसकी जानकारी मिलने पर ग्रामीणों की मौजूदगी में अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए 16 हिरणों के शवों व अवशेषों को एकत्रित किया। राधेश्याम पेमानी, जीव रक्षा प्रेमी पोकरण

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×