• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • तारबंदी में फंसने से 16 चिंकारा की मौत, अवशेष मिलने से फैली सनसनी
--Advertisement--

तारबंदी में फंसने से 16 चिंकारा की मौत, अवशेष मिलने से फैली सनसनी

क्षेत्र के भादरिया गांव स्थित ओरण की भूमि में की गई तारबंदी में उलझ कर 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। वहीं टीम के...

Danik Bhaskar | Jun 14, 2018, 06:20 AM IST
क्षेत्र के भादरिया गांव स्थित ओरण की भूमि में की गई तारबंदी में उलझ कर 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। वहीं टीम के सदस्यों ने सर्वे कर तारबंदी से उलझ कर मरे 16 चिंकाराओं के शव के अवशेष को बरामद किया। इसके साथ ही अधिकारियों द्वारा तारबंदी के जिन स्थानों पर हरिणों के शव मिलने की सूचना मिली थी वहां से शवों व अवशेषों को बरामद कर लिया है।

जानकारी के अनुसार भादरिया गांव में ओरण की जमीन पर तारबंदी की गई। इसके साथ ही क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से चालू हुए तेज आंधी के दौर के कारण रेतीली हवाओं के कारण इन चिंकाराओं को यह तारबंदी नहीं दिखाई दी और हिरण तारबंदी में उलझ गए। जिसके कारण 16 से अधिक चिंकाराओं की मौत हो गई। इस संबंध में जीव रक्षा प्रेमियों को जानकारी मिलने के साथ ही उन्होंने वन्य विभाग के सहायक उपवन संरक्षक बृजमोहन गुप्ता, क्षेत्रीय वन अधिकारी प्रकाश सिंह जुगतावत सहित अन्य स्टाफ उपस्थित को सूचित किया तथा मामले की जांच करने की मांग की।

दोपहर तक टीम को मिले 16 शव व अवशेष

भादरिया के पास ओरण जमीन पर की गई तारबंदी में फंस कर मरे हिरणों के शवों को व अवशेषों की सूचना जीव रक्षा प्रेमियों को मिली। जिस पर वह मौके पर पहुंचे तथा मामले की जांच में जुट गए। जीव रक्षा प्रेमियों ने इस संबंध में वन्य विभाग के अधिकारियों को भी सूचित किया। जिस पर उन्होंने दोपहर तक तारबंदी में फंसे 16 चिंकारा के शवों और अवशेषों को तारबंदी से मुक्त करवाया। इसके साथ ही अन्य स्थानों पर भी हिरणों के शवों की तलाश की जा रही है।

16अवशेषों को दफनाया | भादरिया के पास ओरण भूमि पर की गई तारबंदी के पास मिले 16 चिंकारा के शवों व अवशेषों को वन्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा एकत्रित किया गया। जांच के बाद इन सभी शवों व अवशेषों को रेंज परिसर लाठी में गड्ढा खोद कर अवशेषों को दफनाया गया।