--Advertisement--

पचास साल बाद चनणीदेवी को मिला मालिकाना हक

Pokran News - भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 06:25 AM IST
पचास साल बाद चनणीदेवी को मिला मालिकाना हक
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में सफलता की कहानी साबित हो रही है। कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों को निपटाने के लिए शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी द्वारा स्वयं शिविर में उपस्थित रहकर कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण कर रही है वहीं शिविर में कलेक्टर द्वारा दिए गए आदेशों की पालना में एक सफलता की कहानी ग्रामीणों के लिए साबित हो रही है। शिविर प्रभारी सैनी ने द्वारा जहां पर भी शिविर आयोजित हो रहा है वहां पर एक दिन पूर्व राजस्व अधिकारियों को भेजकर राजस्व संबंधित कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों को देखकर शिविर स्थल पर ही प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया जा रहा है। जिससे ग्रामीणों में शिविर के प्रति उत्साह देखने को मिल रहा है। शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि गुरूवार को पंचायत समिति सांकड़ा के ग्राम पंचायत मानासर में राजस्व लोक अदालत शिविर आयोजित किया गया। शिविर में कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया गया। सैनी ने बताया कि मानासर गरीब किसानों के वर्षों पुराने अटके हुए राजस्व रिकार्ड संबंधी कार्यों को राजस्व अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा नियमानुसार सरलता व समझाईश द्वारा तत्परता से शिविर स्थल पर मानासर निवासी चनणीदेवी के लिए शिविर वरदान साबित हुआ। सैनी ने बताया कि चनणीदेवी के पति का नाम राजस्व रिकार्ड में उनके ससुर जो लगभग पचास वर्ष पूर्व फौत हो गए थे। उनके पति का नाम लच्छा दर्ज हुआ जो आज दिनांक तक चला आ रहा था। सैनी ने चनणीदेवी के समस्त दस्तावेजों की जांच कर दस्तावेज में लाभूराम दर्ज है। लाभूराम के जीवित रहते लाभूराम द्वारा कई प्रयासों के बाद भी उनका नाम राजस्व रिकार्ड में लच्छा से लाभूराम नहीं हो पाया। शिविर में सैनी द्वारा उनकी संपूर्ण दस्तावेजों जांच कर चनणीदेवी के पति का नाम लाभूराम रिकार्ड में दर्ज किए जाने के आदेश देकर संबंधित तहसीलदार, भू-अभिलेख निरीक्षक व पटवारी को राजस्व रिकार्ड में अमल दरामद की कार्रवाई कर मौके पर चनणीदेवी को उनके पति का नाम लाभूराम दर्ज कर खातेदारी का हक दिया गया। चनणीदेनी को मालिकाना हक मिलने से उनके चेहरे पर खुशी लौट आई तथा उनके परिवारजनों ने एसडीएम सैनी व राजस्व अधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

शिविर में रही भीड़, पशुओं का भी किया उपचार

ग्राम पंचायत मानासर में आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविर में राजस्व संबंधी प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को लाभान्वित किया गया। शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि शिविर में राजस्व विभाग द्वारा धारा 136 के एक प्रकरण, धारा 53 के प्रकरण, धारा 88 के प्रकरण का निस्तारण कर ग्रामीणों को खातेदारी का हक दिया गया। शिविर प्रभारी सैनी ने बताया कि भणियाणा तहसीलदार द्वारा 76 नामान्तरणकरण, 58 राजस्व नकल, 52 अन्य कार्यों का निस्तारण किया गया। शिविर प्रभारी ने बताया कि महिला एवं बाल विकास द्वारा 205 बच्चों की स्वास्थ्य जांच, 18 बच्चों का आयरन की गोलिया दी गई। सैनी ने बताया कि श्रम विभाग द्वारा 30 श्रमिकों का पंजीयन किया गया। इसी प्रकार कृषि विभाग द्वारा 24 मुद्रा स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया गया। इसी प्रकार आयोजना विभाग द्वारा 30 लोगों को भामाशाह संबंधी जानकारी दी गई। सैनी ने बताया कि आयुर्वेद विभाग द्वारा 40 मरीजों का उपचार किया गया। सैनी ने बताया कि पंचायत विभाग द्वारा पंचम वित आयोग तहत 13 स्वीकृतियां जारी की गई इसके साथ ही 14 वित्त आयोग के 4 स्वीकृतियां जारी की गई। 28 जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किए गए। सैनी ने बताया कि बिजली विभाग द्वारा 3 मीटर नए बदले गए, 3 त्रुटियों की गई तथा 48 बिजली कनेक्शन के आवेदन लिए गए। इसी प्रकार चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा 63 रोगियों की जांच की गई। पशुपालन विभाग द्वारा 2 हजार 279 पशुओं का उपचार, 360 पशुओं का टीकाकरण किया गया। सैनी ने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा राज्य वृद्धावस्था पेंशन 9 पालनहार के 2 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। शिविर में क्षेत्रीय विधायक शैतानसिंह राठौड़, भणियाणा तहसीलदार गुलाबसिंह चौहान, बीडीओ नारायणलाल सुथार सहित कई संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में सफलता की कहानी साबित हो रही है। कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों को निपटाने के लिए शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी द्वारा स्वयं शिविर में उपस्थित रहकर कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण कर रही है वहीं शिविर में कलेक्टर द्वारा दिए गए आदेशों की पालना में एक सफलता की कहानी ग्रामीणों के लिए साबित हो रही है। शिविर प्रभारी सैनी ने द्वारा जहां पर भी शिविर आयोजित हो रहा है वहां पर एक दिन पूर्व राजस्व अधिकारियों को भेजकर राजस्व संबंधित कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों को देखकर शिविर स्थल पर ही प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया जा रहा है। जिससे ग्रामीणों में शिविर के प्रति उत्साह देखने को मिल रहा है। शिविर प्रभारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि गुरूवार को पंचायत समिति सांकड़ा के ग्राम पंचायत मानासर में राजस्व लोक अदालत शिविर आयोजित किया गया। शिविर में कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया गया। सैनी ने बताया कि मानासर गरीब किसानों के वर्षों पुराने अटके हुए राजस्व रिकार्ड संबंधी कार्यों को राजस्व अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा नियमानुसार सरलता व समझाईश द्वारा तत्परता से शिविर स्थल पर मानासर निवासी चनणीदेवी के लिए शिविर वरदान साबित हुआ। सैनी ने बताया कि चनणीदेवी के पति का नाम राजस्व रिकार्ड में उनके ससुर जो लगभग पचास वर्ष पूर्व फौत हो गए थे। उनके पति का नाम लच्छा दर्ज हुआ जो आज दिनांक तक चला आ रहा था। सैनी ने चनणीदेवी के समस्त दस्तावेजों की जांच कर दस्तावेज में लाभूराम दर्ज है। लाभूराम के जीवित रहते लाभूराम द्वारा कई प्रयासों के बाद भी उनका नाम राजस्व रिकार्ड में लच्छा से लाभूराम नहीं हो पाया। शिविर में सैनी द्वारा उनकी संपूर्ण दस्तावेजों जांच कर चनणीदेवी के पति का नाम लाभूराम रिकार्ड में दर्ज किए जाने के आदेश देकर संबंधित तहसीलदार, भू-अभिलेख निरीक्षक व पटवारी को राजस्व रिकार्ड में अमल दरामद की कार्रवाई कर मौके पर चनणीदेवी को उनके पति का नाम लाभूराम दर्ज कर खातेदारी का हक दिया गया। चनणीदेनी को मालिकाना हक मिलने से उनके चेहरे पर खुशी लौट आई तथा उनके परिवारजनों ने एसडीएम सैनी व राजस्व अधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

विधायक ने दी सरकारी योजनाओं की जानकारी

क्षेत्रीय विधायक शैतानसिंह राठौड़ ने आयोजित शिविर में लोगों को सरकारी द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी उपलब्ध करवाई। विधायक राठौड़ ने सरकार द्वारा चलाई जा रही महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं का लाभ इन दिनों ग्रामीणों को मिल रहा है। विधायक ने कहा कि सभी लोगों का सरकार की योजनाओं का लाभ लेना चाहिए।

जिले में राजस्व लोक अदालत शिविरों के अंतर्गत खोले गए 129 नामांतरकरण

जैसलमेर | राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में मौके पर ही म्यूटेशन खोले जा रहे है। वहीं संयुक्त खातों का विभाजन किया जाकर बंटवारे का प्रकरण निस्तारित किए जा रहे है। शिविर में धारा 136 में जहां नाम शुद्धिकरण किया जा रहा है वहीं खातेदारी अधिकार भी प्रदान किए जा रहे है। नवनियुक्त कलेक्टर अनुपमा जोरवाल ने बताया कि जिले में 10 मई बुधवार को न्याय आपके द्वार शिविरों के आयोजन की कड़ी ग्राम पंचायत मुख्यालय पोछिणा, भारेवाला और मानासर में राजस्व शिविरों का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि इसमें उपखंड जैसलमेर व पोकरण की पंचायतों में शिविरों के माध्यम से लोगों को लाभांवित किया गया है। इन शिविरों के अंतन्तर्गत दो तहसीलों के तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों द्वारा धारा 135 के तहत कुल 129 नामांतरकरण खोलें जाकर राजस्व रिकाॅर्ड में दर्ज किए गए है। इसी प्रकार खाता दुरुस्ती के तहत 7 प्रकरण निस्तारित किए गए। उन्होंनें बताया कि शिविरों के अंतर्गत तहसीलदारों द्वारा 7 मामलों में खाता दुरुस्ती के प्रकरण निस्तारित किए गए।

X
पचास साल बाद चनणीदेवी को मिला मालिकाना हक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..