• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • सरहद की रक्षा करना ही सैनिक का धर्म : कमांडेंट मिश्रा
--Advertisement--

सरहद की रक्षा करना ही सैनिक का धर्म : कमांडेंट मिश्रा

पोकरण | परमाणु परीक्षण की 20 वर्षगांठ पर नेहरू युवा केन्द्र संगठन जैसलमेर ने शक्ति स्थल पर शौर्य युवा शक्ति अभिनंदन...

Danik Bhaskar | May 12, 2018, 06:25 AM IST
पोकरण | परमाणु परीक्षण की 20 वर्षगांठ पर नेहरू युवा केन्द्र संगठन जैसलमेर ने शक्ति स्थल पर शौर्य युवा शक्ति अभिनंदन कार्यक्रम का आयोजन कर 20 वी वर्षगांठ को उत्साह के साथ मनाया। शौर्य युवा शक्ति अभिनंदन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पोकरण विधायक शैतान सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सीमा सुरक्षाबल के समादेष्टा सुरेंद्र मिश्रा कमांडेंट ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य निदेशक नेहरू युवा केंद्र संगठन श्याम सिंह, उप कमांडेंट राजेश सिंह यादव उपस्थित थे। कार्यक्रम में युवाओं को संबोधित करते हुए विधायक शैतान सिंह ने कहा कि आज का दिन हम सब के लिए गर्व का दिन है । विधायक ने युवाओं को सही दिशा में आगे बढ़ते हुए राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने का आह्वान किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बीएसएफ कमांडेंट सुरेंद्र मिश्रा ने कहा कि किसी भी राष्ट्र की सबसे महत्वपूर्ण ताकत उसकी जनता होती है आैर जनता सेना के पीछे चट्टान की तरह खड़ी रहे तो सेना हर लड़ाई जीत जाएगी । मिश्रा ने कहा कि एक सैनिक का कोई धर्म- जाति नहीं होती , सरहद की रक्षा उसका धर्म होता है । कार्यक्रम में वशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित श्याम सिंह राज्य निदेशक नेहरू युवा केंद्र संगठन राजस्थान में कहा कि आज का दिन शौर्य और उत्साह का दिन है ।