• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pokran
  • सड़कों पर लड़कियों का चलना मुश्किल, स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन पर जाती छात्राओं पर छींटाकशी
--Advertisement--

सड़कों पर लड़कियों का चलना मुश्किल, स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन पर जाती छात्राओं पर छींटाकशी

Pokran News - शहर की सड़कों पर इन दिनों बालिकाओं, युवतियों और महिलाओं का चलना मुश्किल हो गया है। स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन...

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 06:25 AM IST
सड़कों पर लड़कियों का चलना मुश्किल, स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन पर जाती छात्राओं पर छींटाकशी
शहर की सड़कों पर इन दिनों बालिकाओं, युवतियों और महिलाओं का चलना मुश्किल हो गया है। स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन या फिर किसी काम से घर से बाहर जाते समय इन पर आवारा और अराजकतत्व छींटाकशी करते हैं। इतना ही नहीं ये लोग महिलाओं के पास से निकलते समय बाइक का हाॅर्न बजाते हैं और उन पर छींटाकशी करते हैं। इस सबके बावजूद पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

इन दिनों स्कूलों के आस-पास, कोचिंग क्लासेज, ट्यूशन के साथ साथ इंस्टीट्यूट जहां पर प्रतिदिन लड़के-लड़कियों का आना-जाना लगा रहता है। उन स्थानों पर इन दिनों मनचलों का आतंक बढ़ता जा रहा है। स्कूलों और इंस्टीट्यूट के पास बैठे युवक लड़कियों पर फब्तियां कसते हैं। इसके साथ ही शाम होते ही यह मनचले मोटरसाइकिलों पर शहर के भीतरी मोहल्लों में आवारागर्दी करते हुए दिखाई देते हैं। शहर वासियों के विरोध करने पर ये लोग उनसे हाथापाई करने को तैयार हो जाते हैं। इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा कई बार पुलिस को लिखित में भी शिकायत की है, लेकिन अभी तक इस संबंध में पुलिस द्वारा भी कोई कार्रवाई नहीं की है।

शाम होते ही मोहल्लों व गलियों में मनचले लगाते हैं रेस

प्रतिदिन शाम होते ही 4 बजे से लेकर 9 बजे तक शहर के विभिन्न गलियों में यह मनचले मोटरसाइकिलों पर तेज गति से रेस लगाते हुए दिखाई देते हैं। इन मनचलों को न तो गलियों में शाम के समय खेल रहे छोटे-छोटे बच्चों की कोई परवाह है और न ही गलियों में बैठे बुजुर्गों का ध्यान। इस कारण कई परिजन बच्चों को गलियों में खेलने से भी रोकते हैं, वहीं गलियों में से गुजरते समय यह मनचले अपने वाहनों के तेज हॉर्न बजाते हुए निकलते हैं। इस कारण लोगों का घरों में बैठना भी मुश्किल हो रहा है।

स्कूलों के बाहर काफी संख्या में दिखाई देते हैं मनचले

शहर में स्थित स्कूलों में आने वाली बालिकाएं स्कूल परिसर में भले ही अपने आप को सुरक्षित महसूस करती हों, लेकिन स्कूल परिसर के बाहर सड़कों पर काफी संख्या में यह मनचले दुकानों के आगे बैठे रहते हैं, जो बालिकाओं के निकलने के साथ ही उन पर तरह-तरह की फब्तियां कसते हैं।

भास्कर संवाददाता | पोकरण

शहर की सड़कों पर इन दिनों बालिकाओं, युवतियों और महिलाओं का चलना मुश्किल हो गया है। स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन या फिर किसी काम से घर से बाहर जाते समय इन पर आवारा और अराजकतत्व छींटाकशी करते हैं। इतना ही नहीं ये लोग महिलाओं के पास से निकलते समय बाइक का हाॅर्न बजाते हैं और उन पर छींटाकशी करते हैं। इस सबके बावजूद पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

इन दिनों स्कूलों के आस-पास, कोचिंग क्लासेज, ट्यूशन के साथ साथ इंस्टीट्यूट जहां पर प्रतिदिन लड़के-लड़कियों का आना-जाना लगा रहता है। उन स्थानों पर इन दिनों मनचलों का आतंक बढ़ता जा रहा है। स्कूलों और इंस्टीट्यूट के पास बैठे युवक लड़कियों पर फब्तियां कसते हैं। इसके साथ ही शाम होते ही यह मनचले मोटरसाइकिलों पर शहर के भीतरी मोहल्लों में आवारागर्दी करते हुए दिखाई देते हैं। शहर वासियों के विरोध करने पर ये लोग उनसे हाथापाई करने को तैयार हो जाते हैं। इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा कई बार पुलिस को लिखित में भी शिकायत की है, लेकिन अभी तक इस संबंध में पुलिस द्वारा भी कोई कार्रवाई नहीं की है।



X
सड़कों पर लड़कियों का चलना मुश्किल, स्कूल, कोचिंग क्लासेज और ट्यूशन पर जाती छात्राओं पर छींटाकशी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..