• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • सेना और भादरिया माता मंदिर की ओरण भूमि को लेकर नहीं सुलझ रहा है तारबंदी का विवाद
--Advertisement--

सेना और भादरिया माता मंदिर की ओरण भूमि को लेकर नहीं सुलझ रहा है तारबंदी का विवाद

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) ग्राम पंचायत लाठी क्षेत्र के शक्ति पीठ मंदिर भादरिया राय माता की गोचर व ओरण...

Danik Bhaskar | May 21, 2018, 06:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

ग्राम पंचायत लाठी क्षेत्र के शक्ति पीठ मंदिर भादरिया राय माता की गोचर व ओरण भूमि को लेकर लंबे समय से चल रहे जगदम्बा व सेना के बीच विवाद खत्म नहीं हो रहा है। इस विवाद को खत्म करने के लिए अभी तक न सेना के अधिकारी ध्यान दे रहे हैं और न ही स्थानीय प्रशासन कोई पहल कर रहा है।

भादरिया माता मंदिर की ओरण व गोचर भूमि को लेकर लंबे समय से जगदम्बा सेवा समिति व सेना विभाग के बीच विवाद चल रहा है। इस संबंध में गत 27 अप्रैल को लाठी थाने में जगदम्बा सेवा समिति द्वारा मुकदमा दर्ज करवाया गया। मुकदमा दर्ज करवाने के बाद लाठी थाने के एएसआई खाखुराम सहित पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचे तथा सेना द्वारा तोड़ी गई तारबंदी व पत्थर पटिरयों का मौका हुआ किया गया था। उस दौरान सेना द्वारा तोड़ी गई तारबंदी व पत्थर पट्टियां के संबंध में सेना के उच्चाधिकारियों को इस संबंध सूचित किया गया था। उसके बाद भी अभी तक समिति व सेना के बीच विवाद खत्म नहीं हुआ है। पुलिस भी मामला दर्ज कर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

पोकरण (आंचलिक) भादरिया माता मंदिर की ओरण भूमि पर टेंक चलाकर भूमि काे किया क्षत विक्षत

जगदम्बा सेवा समिति ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

भादरिया माता मंदिर की निजी संपति ओरण व गोचर भूमि पर सेना द्वारा किए जा रहे कब्जे को लेकर शनिवार को जगदम्बा सेवा समिति के सचिव जुगलकिशोर आसेरा ने राजस्थान सरकार की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को ज्ञापन भेज बताया कि भादरिया माता मंदिर की निजी संपति है तथा देश का सबसे बड़ा गौ वंश अभ्यारण है तथा अब सुरक्षित नहीं है। आसेरा ने बताया कि सेना विभाग द्वारा पिछले कई दिनों से सेना भूमि अपनी जमीन बताकर ओरण भूमि पर तोड़ फोड़ कर रहे हैं। आसेरा ने बताया कि सेना विभाग द्वारा अपने मनमाने ढंग से भादरिया माता की भूमि को अपना बताकर तोड़फोड़ कर रहे तथा सदस्यों को बार-बार धमकियां भी दी जा रही है। अभी तक पुलिस व प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। आसेरा ने बताया कि इस संबंध में कुछ दिन जिला कलेक्टर व अतिरिक्त जिला कलेक्टर को भी लिखित में सूचित किया जा चुका है। उसके बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो हुई है। जिसके कारण जगदम्बा सेवा समिति को प्रतिदिन लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है।