• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • Pokran - एसबीके में एक बार फिर एबीवीपी का कब्जा, महेंद्र बने अध्यक्ष, पोकरण में निर्दलीय पंकज ने मारी बाजी
--Advertisement--

एसबीके में एक बार फिर एबीवीपी का कब्जा, महेंद्र बने अध्यक्ष, पोकरण में निर्दलीय पंकज ने मारी बाजी

भास्कर संवाददाता | जैसलमेर/ पोकरण एक बार फिर जैसलमेर में एबीवीपी ने अपना परचम लहराते हुए एनएसयूआई का सफाया कर...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:50 AM IST
भास्कर संवाददाता | जैसलमेर/ पोकरण

एक बार फिर जैसलमेर में एबीवीपी ने अपना परचम लहराते हुए एनएसयूआई का सफाया कर दिया। गत बार की तरह इस बार भी जैसलमेर की दोनों कॉलेज में एबीवीपी का कब्जा रहा, वहीं पोकरण राजकीय महाविद्यालय में समीकरण बदले और एबीवीपी के बागी के तौर पर मैदान में डटे पंकज सैनी ने जीत दर्ज की। पोकरण कॉलेज में दो पदों पर एबीवीपी व एक पर एनएसयूआई ने कब्जा जमाया।

जैसलमेर में मंगलवार को सुबह 11 बजे एसबीके कॉलेज में मतगणना शुरू हुई। इस दौरान कॉलेज प्रशासन व पुलिस ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए। मतगणना के दौरान 5 राउंड हुए। बारी बारी से चारों सीटों के लिए अलग अलग मतगणना हुई। करीब दो घंटे बाद परिणाम घोषित किया गया। यहां महेंद्र सिंह ने कांटे के मुकाबले में एनएसयूआई के मदनसिंह को सिर्फ 12 वोटों से हराया। कॉलेज में एबीवीपी की जीत के साथ ही समर्थकों की भीड़ कॉलेज के नजदीक एकत्रित हो गई। वहां से सभी समर्थक एबीवीपी के कार्यालय पहुंचे और वहां से डीजे पर थिरकते हुए समर्थकों ने विजयी जुलूस निकाला। दूसरी तरफ गर्ल्स कॉलेज में निर्विरोध जीते एबीवीपी के पैनल की छात्राओं का भी विजयी जुलूस निकाला गया।

पोकरण की खबर पढ़ें पेज|16 पर

जैसलमेर. जीत के बाद एबीवीपी के विजयी जुलूस में खुशी मनाते समर्थक।

महेंद्रसिंह करडा

गजेंद्रसिंह

एेश्वर्य व्यास

मोतीलाल

अध्यक्ष पद पर रहा कड़ा मुकाबला

अध्यक्ष पद पर मदनसिंह व महेंद्रसिंह के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला। यहां एससी का उम्मीदवार भी मैदान में था। इस वजह से दोनों राजपूत उम्मीदवारों के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिला। निर्दलीय पोकरदास ने 266 मत हासिल किए। जिसके चलते महेंद्रसिंह की जीत का अंतर केवल 12 वोट रहे। एनएसयूआई ने मदनसिंह की जीत के लिए पूरी ताकत लगाई थी। एबीवीपी की वोट बैंक में सेंध भी लगाई। एबीवीपी के उपाध्यक्ष व महासचिव पद पर 538 व 514 वोट पड़े, जबकि अध्यक्ष पद पर 342 वोट ही पड़े।

एनएसयूआई के उपाध्यक्ष ने समर्थन दिया फिर भी मिले 355 वोट

उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी की ओर से ऐश्वर्य व्यास और एनएसयूआई की ओर से श्रीकांत व्यास मैदान में थे। नामांकन वापसी का समय निकल जाने के बाद श्रीकांत व्यास ने ऐश्वर्य व्यास को समर्थन दे दिया। बावजूद इसके श्रीकांत को 355 वोट मिले। इस पद पर सर्वाधिक 52 वोट निरस्त हुए।

एक नजर वोटों पर

महेंद्रसिंह अध्यक्ष, 12 वोटों से जीते

महेंद्रसिंह : 342

मदनसिंह : 330

पोकरदास : 266

निरस्त : 07

ऐश्वर्य व्यास उपाध्यक्ष, 183 वोटों से जीते

ऐश्वर्य व्यास : 538

श्रीकांत व्यास : 355

निरस्त : 52

गजेन्द्रसिंह महासचिव, 120 वोटों से जीते

गजेन्द्रसिंह : 514

मुकेश कुमार : 394

निरस्त : 37

संयुक्त सचिव मोतीलाल, 62 वोटों से जीते

मोतीलाल : 396

पारसमल : 334

चनणाराम : 186

निरस्त : 29