Hindi News »Rajasthan »Pratapur» बांसवाड़ा से उदयपुर वाया खेरवाड़ा 170 किमी का नेशनल हाईवे बनेगा

बांसवाड़ा से उदयपुर वाया खेरवाड़ा 170 किमी का नेशनल हाईवे बनेगा

नेशनल हाईवे 927-ए के लिए बांसवाड़ा से गढ़ी, सागवाड़ा, डूंगरपुर, खेरवाड़ा से सरूपगंज के मौजूदा प्रस्ताव में बदलाव होगा और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 05, 2018, 05:55 AM IST

नेशनल हाईवे 927-ए के लिए बांसवाड़ा से गढ़ी, सागवाड़ा, डूंगरपुर, खेरवाड़ा से सरूपगंज के मौजूदा प्रस्ताव में बदलाव होगा और बांसवाड़ा से डूंगरपुर तक की दूरी 30 किलोमीटर कम करने नए प्रस्ताव बनाए जाएंगे।

साथ ही इस नए नेशनल हाईवे 927 ए के निर्माण से जहां बांसवाड़ा से डूंगरपुर की दूरी 30 किमी कम होगी, लेकिन बांसवाड़ा से खेरवाड़ा होते हुए उदयपुर तक जाने के लिए बांसवाड़ा जिले के लोगों को नए नेशनल हाईवे की सुविधा मिलेगी। ऐसा इसलिए होगा, क्योंकि भीमसौर से अगरपुरा तक और अगरपुरा से लेकर खेरवाड़ा तक सीधा नेशनल हाईवे 927 ए बनाया जाएगा, इससे भारी वाहनों को घुमावदार पहाड़ी वाले रास्तों से होकर आवागमन करने की समस्या से मुक्ति मिलेगी।

यह मामला हाल ही में नई दिल्ली में सड़क एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय में आयोजित उच्चस्तरीय मीटिंग में सामने आया। जिसमें उच्चाधिकारियों ने डीपीआर निर्माण के तहत मौजूदा नेशनल हाईवे सड़क के स्वरूप में काफी बदलाव करने के निर्देश दिए। जिसमें नेशनल हाईवे 927 ए के निर्माण में तलवाड़ा, परतापुर, गढ़ी, सागवाड़ा, डूंगरपुर के पास नेशनल हाईवे निर्माण को उन्होंने उचित नहीं माना। अधिकारियों का कहना है कि नेशनल हाईवे 927-ए पर 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भारी वाहनों का आवागमन होता है। ऐसे में नेशनल हाईवे को इन कस्बों और शहरों के पास से होकर गुजारना असुरक्षित साबित होगा।

साथ ही उन्होंने इससे दूरी कम नहीं होने को ध्यान में रखते हुए मौजूदा घुमावदार मोड़ों वाली सड़क को छोड़कर अलग से सीधा नेशनल हाईवे निर्माण करने के प्रस्ताव बनाने को कहा, जिससे बांसवाड़ा से डूंगरपुर की दूरी कम हो जाए।

नेशनल हाईवे 927 ए के पुराने प्रस्ताव में बदलाव होगा, 30 किलोमीटर कम हो सकेगी बांसवाड़ा से डूंगरपुर की दूरी

पहाड़ी क्षेत्रों में निर्माण होगा सुरंग का

परियोजना निदेशक एसएल बुनकर ने बताया कि अभी इस महत्वपूर्ण मार्ग पर भारी वाहनों के तेज गति से आवागमन को ध्यान में रखते हुए कई बदलाव हो सकते हैं। इनमें फिलहाल उच्चाधिकारियों ने मीटिंग में घुमावदार नेशनल हाईवे का निर्माण नहीं कर सीधे नेशनल हाईवे के निर्माण पर फोकस किया है। साथ ही नए प्रस्ताव बनाकर भिजवाने को कहा है। जिसके तहत डूंगरपुर के पहाड़ी क्षेत्र मांडव के बीच में आने से सुरंग निर्माण कर बांसवाड़ा से डूंगरपुर की दूरी 30 किलोमीटर कम करने के प्रयास किए जाएंगे।

महत्वपूर्ण कस्बे छूट जाएंगे : नेशनल हाईवे विभाग के सहायक परियोजना निदेशक अनंत गुप्ता ने बताया कि नेशनल हाईवे 927 ए के निर्माण के तहत बांसवाड़ा, तलवाड़ा, परतापुर, गढ़ी, सागवाड़ा, डूंगरपुर के कस्बे काफी दूर छूट जाएंगे और इन सभी स्थानों से काफी दूरी से बाईपास का निर्माण किया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pratapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×