--Advertisement--

स्वच्छता : पहली बार हमारे दायित्वों को लेकर बैठक

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा नगर परिषद में सभापति और पार्षदों के बीच खींचतान के चलते शहर के रुके विकास को गति...

Dainik Bhaskar

Mar 12, 2018, 06:15 AM IST
स्वच्छता : पहली बार हमारे दायित्वों को लेकर बैठक
भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा

नगर परिषद में सभापति और पार्षदों के बीच खींचतान के चलते शहर के रुके विकास को गति देने के लिए अब परिषद प्रबंधन ने आमजन को जोड़ने का प्रयास किया है। रविवार को हरिदेव जोशी रंगमंच में शहर को साफ सुथरा बनाने के लिए शहरवासियों से संवाद किया गया और सुझाव मांगे गए।

इस दौरान जो सुझाव आए है, वह ऐसे थे जिसमें थोड़ी सी मशक्कत कर उसे लागू किया जा सकता है। इसका फायदा शहर को मिलेगा। हालांकि इस आयोजन में शहरवासियों और पार्षदों की कम मौजूदगी ने एक बार फिर यह संकेत दे दिया है कि आज भी सभापति और पार्षदों के बीच सब कुछ सही नहीं है। पार्षद सक्रिय होगा तो ही लोग ऐसे आयोजनों से जुड़ सकेंगे। इस मामले में डूंगरपुर की नगर परिषद कार्यकम के दौरान चर्चा का विषय बनी रही। लोगों का कहना था कि आज साफ सफाई के मामले में डूंगरपुर के सबसे अव्वल होने का मुख्य कारण सभापति, नगर परिषद प्रबंधन और पार्षदों की एकजुटता है।

कागदी नदी के हालात को लेकर चिंता जताई गई। बीसीसीआई अध्यक्ष सुनील दोसी ने कहा कि पहले हर 8 दिन में इसमें पानी छोड़ा जाता था ताकि सफाई हो जाए लेकिन माही विभाग पानी भी नियमित नहीं छोड़ रहा। उपसभापति महावीर बोहरा और आयुक्त बीआर सैनी ने योजनाओं के बारे में जानकारी दी। सभापति मंजूबाला पुरोहित ने सुझावों पर काम करने का भरोसा दिलाया।

चौथे साल भी चैत्र नवरात्रि 8 दिन के, घटस्थापना 18 को

तलवाड़ा. नव संवत्सर और विक्रम संवत के सत्कार में वागड़ का सबसे विख्यात शक्तिपीठ त्रिपुरा सुंदरी मां का दरबार सजाया जा रहा है। 18 मार्च को चैत्र माह की प्रतिपदा को शुभ मुहूर्त में घट स्थापना की जाएगी। चैत्र नवरात्र में रोज धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे।

श्रीहरिदेव जोशी रंगमंच में नगरपरिषद की ओर से सुझाव मांगने पर आए शहरवासी।

शहर को सुंदर बनाने के लिए शहरवासी तैयार, सुझाव देकर कहा-कलेक्टर और सभापति लें जिम्मेदारी, हम साथ-साथ


ऐसा करना होगा : जिम्मेदार अधिकारी को निगरानी करनी ही होगी, फायदा मिलेगा।


ऐसा करना होगा: जहां पर सबसे अधिक समस्या, वहीं लगाए जाए तो अच्छा रहेगा।

ट्रैफिक समस्या के लिए यह रही चर्चा

चंद्रपोल गेट से शहर के भीतरी इलाकों में तय समय तक भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक, मवेशियों को पकड़ कानजी हाउस छोड़ा जाए। चारा सड़क पर डालने की बजाय गोशाला में दान किया जाए, सड़क तक सामान रखने वाले व्यापारियों को पाबंद किया जाए।

शक्तिपीठ त्रिपुरा सुंदरी का निखरा स्वरूप

भारतीय नववर्ष 2075 का होगा स्वागत

शहरवासियों ने दिए यह प्रमुख सुझाव

भारतीय नववर्ष 2075 के स्वागत में प्रतिपदा पर मां के दरबार के प्रवेश द्वार पर रंगोली सजाई जाएगी। मंदिर परिसर में आकर्षक सजावट होगी। पं. निकुंज मोहन पंड्या के सानिध्य में अभिजीत मुहूर्त सुबह 9.47 से दोपहर 12.46 के बीच पूजा अर्चना की जाएगी। प्रवक्ता अंबालाल पंचाल ने बताया कि बैठक में यह निर्णय लिया कि मंदिर के बाहर प्याऊ के पास यज्ञशाला बनाई जाएगी। शैक्षिक विकास के लिए शिक्षा समिति के गठन के साथ नई भोजनशाला भी बनाई जाएगी।


ऐसा करना होगा : बांसवाड़ा में कई गायक मौजूद है। जल्द ही हो सकेगा काम।


ऐसा करना होगा : चूरू नगर परिषद ऐसी पहल कर चुकी है, अच्छे वार्ड के पार्षद को मिले पुरस्कार

इधर, हाथोंहाथ की यह 2 नई व्यवस्था




ऐसा करना होगा : परिषद के लिए बड़ा काम नहीं, कई समस्याएं खत्म हो जाएगी


ऐसा करना होगा : वन विभाग देता है निशुल्क पौधे, लोगों को जोड़े, देखरेख जरूरी।

परतापुर के थे पीएम की सभा में काले झंडे दिखाने वाले खुफिया विभाग ने प्रशासन को पहले ही बता दिया था

परतापुर अस्पताल में कार्यरत, रिपोर्ट भेजी, 8 मार्च को पीएम झुंुझुनूं में थे

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा

खुफिया विभाग की रिपोर्ट पर बांसवाड़ा जिला प्रशासन चेत जाता तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की झुंझुनंू में जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को काले झंडे नहीं दिखाए जाते।

प्रधानमंत्री की झुंझुनंू जनसभा के काफी पहले खुफिया विभाग ने जिला प्रशासन को अपनी गोपनीय रिपोर्ट भेजकर वास्तविकता से अवगत करवाया था, जिसमें इस बात का खास तौर से उल्लेख किया था कि परतापुर हॉस्पिटल में कार्यरत एनआरएचएम कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष रामभरत जेतारा और उनके कुछ साथी बांसवाड़ा से प्रधानमंत्री की सभा में भाग लेने जाएंगे,जहां उनके द्वारा हंगामा और विरोध प्रदर्शन किए जाने की जानकारी है।

जब खुफिया विभाग ने प्रधानमंत्री की जनसभा और उसमें मुख्यमंत्री के मौजूद होने के मद्देनजर एनआरएचएम अध्यक्ष राम भरत जेतारा के नाम की पुष्टि कर दी,इसके बावजूद जिला प्रशासन के स्तर पर संबंधित लोगों से बात कर मामले को जिला स्तर पर सुलझाने के प्रयास नहीं किए गए,जिसके कारण प्रधानमंत्री की सभा में मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए गए।

पहले काले झंडे दिखाने पर एसपी का तबादला किया गया था : पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पहले कार्यकाल में जब उनके और तत्कालीन गृहमंत्री गुलाबसिंह शक्तावत के काफिले को कुछ लोगों द्वारा अचानक गली से निकल कर सर्किट हाउस मार्ग पर काले झंडे दिखाए गए थे,तब तत्कालीन एसपी का अगले दिन ही तबादला कर दिया गया था।

मुझे इसकी जानकारी नहीं



कलेक्टर ने कहा: विकास के लिए भगवान अवतार नहीं लेने वाले

समारोह में पहली बार कलेक्टर भगवती प्रसाद के तेवर तल्ख दिखे। आयोजन में कम लोग आने पर उन्होंने कहा कि गांवों की तुलना में शहरवासी कम जागरूक है। वहां जाने पर वार्ड पंच से लेकर सरपंच और लोग जमा हो जाते हैं यहां अपने ही शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए लोग नहीं आ रहे। उन्होंने मौजूद शहरवासियों से कहा की शहर के विकास के लिए कोई भगवान अवतार नहीं लेने वाले। जुर्माना भी अंतिम विकल्प नहीं है। सफाई कर्मचारी महज 2 घंटे सफाई कर रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि पंचायत सहायकों को 6 हजार वेतन देकर 8 घंटे तक काम लिया जा रहा है तो फिर सफाई कर्मचारियों का वेतन तो उनसे अधिक है। शाम की पारी में कोई सफाई करता नहीं दिखता। मुझे बांसवाड़ा में 13 महीने पूरे हुए। लेकिन आज तक माही कॉलोनी के एक व्यक्ति के अलावा किसी ने शहर की सफाई को लेकर शिकायत नहीं की। महज दिखावे के लिए मेरे घर के आगे सफाई कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि अगर 11 बजे तक किसी कॉलोनी में कचरा संग्रहण वाहन नहीं आता है तो परिषद में कॉल कर शिकायत दर्ज कराए।

सफाई नहीं होने पर यहां करें शिकायत

02962-243714

कार्यक्रम में दिखी बदइंतजामी

इस आयोजन में नगर परिषद की ओर से बदइंतजामी भी रही। लोगों को सुझाव देने के लिए माइक तक उपलब्ध नहीं कराया गया। वहीं पहले से तय केवल 18 चुनिंदा लोगों को ही सुझाव के लिए मंच पर बुलाया गया। कुछ आमजन भी आए लेकिन उनको सुझाव देने का मौका नहीं मिला तो वे लौट गए। यहीं वजह रही कि आयोजन के खत्म होने से पहले ही रंगमंच सभागार की आधे से ज्यादा सीटें खाली हो गई।

अवकाश ले लिया था एनआरएचएम अध्यक्ष ने

घर जाने के लिए खाटू श्यामजी का लक्खी मेला होने और होली उत्सव के मद्देनजर एनआरएचएम अध्यक्ष राम भरत जेतारा ने ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी परतापुर ने 23 फरवरी 2018 को कही 24, 25 फरवरी और 1 से 4 मार्च तक का अवकाश स्वीकृत करवा लिया। फिर जेतारा और उनके समर्थक जनसभा में पहुंचे,जहां उन्हाेंने अपनी मांगें मनवाने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद प्रधानमंत्री की जनसभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को काले झंडे दिखा दिए। इस मामले का ठीकरा हमेशा की तरह खुफिया तंत्र पर विफलता के रूप में फोड़ा गया लेकिन सच तो ये है कि खुफिया तंत्र की सूचना पर गंभीरता से ध्यान दिया जाता तो मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने जैसी घटना नहीं घटती।

6375944862

इन्होंने दिए सुझाव

प्रकाश पंड्या, योगेश जोशी, डॉ. रक्षा सराफ, आदेश्वर पालरेचा, कांतिलाल पटेल, सुधिष्ठिर त्रिवेदी, शैलेंद्र भट्ट, अनुज सराफ, आरके मालोत, हरीश लखानी, मनोज अग्रवाल, बालकृष्ण भावसार,कश्मिरा कंसारा, मनीष त्रिवेदी, छात्र अमर नाई, जगतसिंह चेलावत, निर्मला चेलावत, निर्मला पहाड़िया, डॉ. रजनीकांत मालोत, संजय माहेश्वरी, डीके जैन, समाजसेवी हरिदास पारीख अतिथि रूप में मौजूद रहे।

X
स्वच्छता : पहली बार हमारे दायित्वों को लेकर बैठक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..