Home | Rajasthan | Pratapur | मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती

मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती

महाशिवरात्रि पर मंदारेश्वर शिवालय में 100 लीटर दूध और 200 लीटर पानी से अभिषेक किया गया। साथ ही उज्जैन से लाए गए पांच...

Bhaskar News Network| Last Modified - Feb 14, 2018, 06:45 AM IST

1 of
मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती
महाशिवरात्रि पर मंदारेश्वर शिवालय में 100 लीटर दूध और 200 लीटर पानी से अभिषेक किया गया। साथ ही उज्जैन से लाए गए पांच किलो चंदन के पाउडर से हजारों शिवभक्तों के ललाट पर तिलक किया गया।

अधिकांश श्रद्धालुओं ने परतापुर के भगोरेश्वर महादेव मंदिर और शहर में त्रयंबकेश्वर महादेव, महालक्ष्मी चौक के पास भगोरेश्वर महादेव के अर्ध शिवलिंग के दर्शन किए।

लोकमान्यता के अनुसार कई वर्षों पूर्व परतापुर भगोरेश्वर महादेव मंदिर जाने वाले एक भक्त ने उम्र अधिक होने से वहां नहीं जा पाने के कारण शहर में भगोरेश्वर महादेव मंदिर बनवाया था। शहर के मंदारेश्वर महादेव मंदिर में सुबह से लेकर रात तक अभिषेक कर दौर जारी रहा। श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक,दुग्धाभिषेक, पंचामृत अभिषेक कर बिल्व पत्र, आक, धतूरा, पुष्प अर्पित किए। दत्त मंदारेश्वर जन सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष पं. प्रेमकांत जोशी ने बताया कि महाशिवरात्रि के मद्देनजर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। सुबह, शाम और मध्यरात्रि की महाआरती की गई। शहर के राजराजेश्वर, नीलकंठ, पृथ्वीनाथ, स्थूलेश्वर,चारणेश्वर, हाटकेश्वर महादेव मंदिर में शिवभक्त उमड़े।

धर्म-समाज-संस्था

बांसवाड़ा. महाशिवरात्रि के अवसर पर मंदारेश्वर शिवालय में किया गया फूलों,बिल्व पत्रों से किया गया श्रृंगार।

भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा

महाशिवरात्रि पर मंदारेश्वर शिवालय में 100 लीटर दूध और 200 लीटर पानी से अभिषेक किया गया। साथ ही उज्जैन से लाए गए पांच किलो चंदन के पाउडर से हजारों शिवभक्तों के ललाट पर तिलक किया गया।

अधिकांश श्रद्धालुओं ने परतापुर के भगोरेश्वर महादेव मंदिर और शहर में त्रयंबकेश्वर महादेव, महालक्ष्मी चौक के पास भगोरेश्वर महादेव के अर्ध शिवलिंग के दर्शन किए।

लोकमान्यता के अनुसार कई वर्षों पूर्व परतापुर भगोरेश्वर महादेव मंदिर जाने वाले एक भक्त ने उम्र अधिक होने से वहां नहीं जा पाने के कारण शहर में भगोरेश्वर महादेव मंदिर बनवाया था। शहर के मंदारेश्वर महादेव मंदिर में सुबह से लेकर रात तक अभिषेक कर दौर जारी रहा। श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक,दुग्धाभिषेक, पंचामृत अभिषेक कर बिल्व पत्र, आक, धतूरा, पुष्प अर्पित किए। दत्त मंदारेश्वर जन सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष पं. प्रेमकांत जोशी ने बताया कि महाशिवरात्रि के मद्देनजर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। सुबह, शाम और मध्यरात्रि की महाआरती की गई। शहर के राजराजेश्वर, नीलकंठ, पृथ्वीनाथ, स्थूलेश्वर,चारणेश्वर, हाटकेश्वर महादेव मंदिर में शिवभक्त उमड़े।

भजनों के जरिए त्रयंबकेश्वर महादेव की स्तुति

बांसवाड़ा. मंदारेश्वर में दर्शन के लिए आने वालों का भक्तों का चंदन लगाकर किया सत्कार।

गुलाबों की पंखूड़ियों से सजाया शिवलिंग

बांसवाड़ा. खांदू कॉलोनी स्थित हाटकेश्वर महादेव मंदिर पर शिवरात्रि के अवसर पर मंगलवार को 5 किलो फूलों से शिवलिंग का श्रृंगार किया गया। मंदिर समिति की ओर से मूंगफली की ओर से बनाई गई विशेष महाप्रसादी का वितरण किया गया। महाआरती के बाद भजन संध्या का आयोजन हुआ। समाज के शशिकांत मेहता, भरत जोशी, अशोक पंड्या, दिनेश पंड्या, महेंद्र पंड़या ने श्रृंगार किया।

मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती
मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती
मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती
मंदारेश्वर में 100 लीटर दूध से अभिषेक, भक्तों का चंदन से तिलक, रात 12 बजे भस्माआरती
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now