Hindi News »Rajasthan »Pratapur» सबकुछ स्वैच्छिक

सबकुछ स्वैच्छिक

सर्वसमाज के आह्वान पर गुरुवार को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने जा रही फिल्म पद्मावत के विरोध में पूरा शहर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 26, 2018, 07:15 AM IST

सर्वसमाज के आह्वान पर गुरुवार को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने जा रही फिल्म पद्मावत के विरोध में पूरा शहर स्वैच्छिक बंद रहा। पेट्रोल पंप भी बंद होने और यात्री नहीं होने से रोडवेज के 84 में से 70 शिड्यूल थम गए। देहात में भी बंद का व्यापक असर रहा। एहतियात के तौर पर शहर में पुलिस वाहन दौड़ते रहे लेकिन कहीं से भी कोई हिंसक घटना नहीं हुई।बंद पूरी तहर अनुशासित रहा।

सिनेमाघर मालिकों के पहले ही फिल्म रिलीज नहीं करने के लिखित भरोसा दिया था। दोपहर तीन बजे आयोजकों की ओर से शहर में मुनादी करवा दी गई कि बंद की अवधि खत्म हो गई है। इसके बाद भी कई स्थानों पर बंद के समर्थन में व्यापारियों न पूरे दिन दुकान नहीं खोली। यह पहला मौका रहा जब किसी स्वैच्छिक का इतना प्रभावी और व्यापक असर हुआ।

गांधी मूर्ति पर सुबह 8 बजे से प्रदर्शनकारी इकट्ठे होना शुरू हो गए। आधे घंटे बाद यहां से आक्रोश रैली निकालते हुए वाहन लिए युवा-बुजुर्ग शहर के बाजारों से गुजरे, तो इक्का-दुक्का प्रतिष्ठान खोलने की तैयारी भी स्वत: थम गई। रैली पूरे शहर के भ्रमण के बाद दोपहर में प्रताप सर्किल पहुंचकर कुछ देर रुकी। फिर लिंक रोड होते हुए सभी कॉलेज मैदान में एकत्रित हुए। वहां से फिल्म के खिलाफ नारेबाजी करते युवाओं का हुजूम कस्टम, दाहाेद रोड होते हुए ठीकरिया पहुंचा। ठीकरिया बस स्टैंड पर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद रैली ने वापसी की और गांधी मूर्ति के पास हॉस्टल पहुंची। जहां पूर्व राजघराने के जगमालसिंह ने बंद में सहयोग करने वाले सभी शहरवासियों का आभार जताया। करणी सेना के जिलाध्यक्ष भंवरसिंह सलाड़िया ने बताया कि बांसवाड़ा बंद का शहर के सभी कारोबारियों ने समर्थन करते हुए खुद ही प्रतिष्ठान नहीं खोले। इस दौरान क्षत्रिय महासभा के राजेंद्रसिंह आनंदपुरी, देवेंद्रसिंह और केसरीसिंह भी शामिल रहे।

आह्वान करणी सेना का, अपने आप जुड़ा आमजन

इस बारे में पूर्व राजपरिवार के जगमालसिंह ने बताया कि इस फिल्म के विरोध में बंद का आह्वान करणी सेना ने किया था लेकिन यह पहला मौका रहा जब पूरा शहर स्वैच्छिक रूप से इससे जुड़ा। इस जुड़ाव के माध्यम से सभी समाजों ने एक संदेश दिया है कि भारतीय संस्कृति और सभ्यता से हो रही छेड़छाड़ किसी समाज विशेष नहीं वरन् सभी के लिए चिंताजनक है और इसे किसी भी हाल में सफल नहीं होने देंगे। बंद के दौरान सभी अनुशासित रहे और इसके चलते कहीं भी विवाद के हालात नहीं बने। लोगों ने आगे बढ़कर बंद में सहयोग दिया। बंद के दौरान शहर से जुड़े सभी हाईवे पर वाहनों की आवाजाही भी न के बराबर रही।

बंद से आमजन को दिक्कत भी झेलनी पड़ी

बंद के कारण रोडवेज की सभी रुटों पर बसे नही चल पाई। रोजमर्रा की चीज नहीं मिलने से लोग परेशान हुए। पेट्रोलपंप भी बंद रहे। जरू रती चीजें लेने में आमजन को परेशानी हुई।

फिल्म पद्मावत नहीं चले इसलिए 7 घंटे तक बंद रहे शहर के बाजार, आक्रोश रैली निकाली

डूंगरपुर लिंक रोड पर पद्मावत फिल्म के विरोध में एक सिनेमाहाॅल के आगे से गुजरती सर्वसमाज के युवाओं की रैली।

परतापुर के डूंगरी क्षेत्र में दो पक्ष आमने-सामने

परतापुर| कस्बे के डूंगरी क्षेत्र में गुरुवार को दो अलग-अलग घटनाओं में महौल गमरमा गया। हालांकि दोनों ही जगह पुलिस के पहुंचने और लोगों के समझदारी दिखाने पर मामला शांत हो गया।

बताया जा रहा है कि पद्मावत फिल्म प्रदर्शन के विरोध में भारत बंद के आह्वान पर प्रदर्शनकारी बजार में एक दुकान बंद कराने गए, तभी वहां दुकानदार और प्रदर्शनकारियों के बीच तू-तू, मै-मै हो गई। इसके बाद प्रदर्शनकारी खेल मैदान चले गए। थोड़ी देर बाद डूंगरी क्षेत्र में भी दो गुट मने-सामने हो गए। गुस्साए एक पक्ष के लोगों के तलवार दिखाने पर दूसरे पक्ष ने पत्थर बरसाए। हालांकि इससे पहले की मामला और बढ़ता पुलिस ने मौके पर पहुंच समझाइश कर भीड़ को वहा से हटा दिया। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारी खेल मैदान में बैठे थे, तभी वहां एक युवक निकला। किसी बात को लेकर प्रदर्शनकारी उस पर बिफरे तो युवक तलवार लेकर आ गया। इसके बाद माहौल गरमा गया। युवक डूंगरी क्षेत्र में गया तो प्रदर्शनकारी वहा गए। जहां युवक के पक्ष के लोगों ने तलवार दिखाई तो प्रदर्शनकारियों ने भी पत्थर बरसाए। हालांकि दो पक्षों के आपस में उलझने की खबर मिलते ही डीएसपी वीराराम चौधरी पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंचे और समझाइश कर मामला शांत कराया। गौरतलब है कि जून,2016 में भी कस्बे में दो पक्षों के बीच झड़प हुई थी। यहीं वजह है कि इस बार पुलिस पहले से ही कस्बे में निगरानी रखे हुए थी।

परतापुर में बंद के दौरान दो पक्षों मे कहासुनी के बाद तैनात पुलिसकर्मी।

संबंधित खबर पढ़ें पेज 16

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pratapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×