• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Pratapur News
  • तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत
--Advertisement--

तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा/परतापुर तापमान में एकाएक इजाफा होने के कारण तेज गर्मी ने शुक्रवार को लोगों को झुलसा...

Dainik Bhaskar

Apr 28, 2018, 06:05 AM IST
तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत
भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा/परतापुर

तापमान में एकाएक इजाफा होने के कारण तेज गर्मी ने शुक्रवार को लोगों को झुलसा कर रख दिया। गर्मी इतनी तेज थी कि चक्कर आने से एक शिक्षक की तबीयत बिगड़ी और उसकी मौत हो गई। डॉक्टरों ने गर्मी के कारण मौत होना बताया है। इतना होने के बाद भी शहर के कई निजी स्कूलों में अभी तक स्कूलों के समय में कोई बदलाव नहीं किया है।

लीयो, अंकुर और अन्य स्कूल जहां पहले से ही गर्मी को देखते हुए छोटे बच्चों की 12 बजे और बड़ों की 1 बजे छुट‌टी कर रहे है वहीं सेंट पॉल स्कूल में बच्चों की छुट‌टी 1.30 बजे हो रही है। ऐसे में यहां पढ़ने वाले बच्चों को भीषण गर्मी और लू के थपेड़ों के बीच घर लौटना पड़ा रहा है। ऐसे में बच्चों की जान पर बन सकती है। लीयो, अंकुर और अन्य स्कूल प्रबंधन ने गर्मी को देखते हुए समय में बदलाव करने की बात कही है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इन दिनों पश्चिमी विक्षोभ के कारण हीटवेव और लू का असर बना हुआ है। इस बारे में शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तेज गर्मी में भी अगर कोई स्कूल प्रबंधन बच्चों की इतनी लेट छुट्टी कर रहा है तो गलत है। इसकी जांच कराई जाएगी। शुक्रवार को इस महीने का सर्वाधिक तापमान रहा। कृषि विज्ञान केंद्र के संभागीय निदेशक प्रमोद रोकड़िया ने बताया कि तापमान बढ़ने का क्रम शुरू हो गया है। लू और तापघात से बचने के लिए डॉ.जय भट्‌टी ने बताया कि घर से बाहर निकलें तो भरपूर पानी पीकर और ताजा भोजन करके निकलें। उल्टी दस्त् पर समय रहते जांच कराए।

स्कूलों में छुट्‌टी लेट होने के कारण तेज गर्मी के बीच घर लौटते बच्चे।

सर्वशिक्षा के काम से आए थे शिक्षक शाह

गढ़ी उपखंड के बोरी गांव के एक शिक्षक की शुक्रवार दोपहर गर्मी के कारण मौत हो गई। 50 वर्षीय सुरेंद्र शाह शिक्षक बोरी के बड़ी डूंगरी उच्च प्राथमिक स्कूल में कार्यरत था। शुक्रवार दोपहर 1 बजे गढ़ी सर्वशिक्षा कार्यालय स्कूल काम से आया था कि कार्यालय गेट के बाहर अचानक चक्कर आने से वह बेसुध हो गए। उनके साथ आए रिटायर बाबू लालचंद ने इसकी जानकारी कार्यालय में बीईईओ को दी। इस पर सब मिलकर शिक्षक को परतापुर के सरकारी अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। डॉ. नीलेश बुनकर ने भीषण गर्मी के कारण शिक्षक की मौत होना बताया।

तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत
X
तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत
तेज गर्मी, तापमान 43 डिग्री पर पहुंचा धूप में चक्कर आने से शिक्षक की मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..