Hindi News »Rajasthan »Pratapur» इंदिरा कॉलोनी में ढाई लाख की चोरी, शहर में 40 दिन में चोरी और लूट की 20 वारदातें

इंदिरा कॉलोनी में ढाई लाख की चोरी, शहर में 40 दिन में चोरी और लूट की 20 वारदातें

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा चोर और लुटेरों को रोकने में शहर पुलिस फेल साबित हो रही है। गत 40 दिनों में बदमाश चोरी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 07, 2018, 06:10 AM IST

इंदिरा कॉलोनी में ढाई लाख की चोरी, शहर में 40 दिन में चोरी और लूट की 20 वारदातें
भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा

चोर और लुटेरों को रोकने में शहर पुलिस फेल साबित हो रही है। गत 40 दिनों में बदमाश चोरी और लूट के जरिये शहरवासियों की 15 लाख की गाढ़ी कमाई ले जा चुके हैं। इसके बावजूद कोतवाली पुलिस एक भी बदमाश को पकड़ नहीं पाई है। हालत यह है कि हर दो दिन में बदमाश एक बड़ी वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

सिलसिलेवार चोरियाें ने पुलिस की ढीली गश्त को भी उजागर कर दिया है। अब तो शहरवासियों को चंद घंटों के लिए घर सूना रखने पर भी चोरी का डर सताने लगा है। इन सबके बीच शहर कोतवाल शैतानसिंह नथावत का एक ही जवाब है तफ्तीश चल रही है। गुरुवार को व्यापारी भाईयों से 50 हजार की लूट और पोल्ट्री फार्म में चोरी के अगले ही दिन शुक्रवार को चोरों ने इंद्रा कॉलोनी में बड़ी चोरी को अंजाम दिया। यहां परिवार परतापुर में अपने रिश्तेदार की शादी में गया था। महज चंद घंटों के लिए सूने रहे मकान में चोर दरवाजे का नखोजा तोड़ 2.50 लाख कीमत के सोने-चांदी के जेवर चुरा ले गए। चोरी सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक हाजी हयात गुल खान के घर हुई। खान ने बताया कि वह परिवार के साथ परतापुर गए थे। सुबह कॉल आया कि दरवाजा खुला है। जिस पर 11 बजे तक लौटे और देखा तो घर को पूरा सामान बिखरा पड़ा था।

चोर मुख्य दरवाजे का नखोजा तोड़ भीतर घुसे। यहां 2 तिजोरियों के लॉक तोड़कर भीतर रखे 8 जोड़ी पायल, 4 सोने की अंगूठी, 8 जोड़ी चांदी की बिछिया, 4 जोड़ी सोने के लोंग, 2 जोड़ी कानों की बाली, एक जोड़ी कानों के टॉप्स, 4 चांदी के सिक्के और एटीएम कार्ड तक चुरा ले गए। दीवार फांदकर भीतर घुसे बदमाश कुछ पत्थर और अपनी पहनी चप्पलें भी छोड़ गए।

ये 3 बड़ी चोरियां पुलिस के लिए बनी शर्मनाक

23 मार्च: अमरदीप नगर में सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य कन्हैयालाल कलाऊवा के घर से डेढ़ लाख कीमत के जेवर और 20 हजार चोरी।

12 मार्च: खांदू कॉलोनी में सेवानिवृत्त माही विभाग के एईएन रोशन कंसारा के घर 10 तोले सोने-चांदी के जेवर, 50 हजार रुपए चोरी।

03 मार्च: भवानपुरा में मकान मालिक और किराएदार होली मनाने गए थे। चोरों ने 36 ग्राम और 2 तोले के जेवर और बाइक चुरा ली।

गुल खान

इंदिरा कॉलोनी में चोरों ने बिखेरा सामान।

पुलिस की गुंडागर्दी से भी उपजा था आक्रोश

27 मार्च की रात कॉलेज मैदान के समीप दोस्तों के साथ बर्थडे पार्टी मना रहे कुछ युवकों को राजतालाब पुलिस चौकी लेकर आई। यहां चौकी प्रभारी एएसआई चंदनसिंह और कांस्टेबल लोकेंद्रसिंह ने युवकों को बुरी तरह पीटा। दूसरे दिन समाजजनों ने प्रदर्शन किया तो दोनों को लाइन हाजिर करना पड़ा।

जेबकतरी को पुलिस को सौंपा, रफादफा किया

29 मार्च को डूंगरपुर से आ रही रोडवेज बस में महिला यात्रियों का पर्स चुराने पर सवारियों ने एक जेबकतरी को पकड़ पुलिस के हवाले किया था लेकिन कोतवाली पुलिस ने 4 दिन तक महिला को बिठाए रखा बाद में सामान्य धारा में केस बनाकर मामला रफादफा कर दिया। मंदारेश्वर क्षेत्र में एक झोपड़ी में आग लगाने से उपजे तनाव के मामले में भी कार्रवाई नहीं।

इन 3 लूट की वारदातों से आमजन में दहशत

05 अप्रैल: कोतवाली के पीछे लखारा काम्पलेक्स के बाहर अनाज व्यापारियों का 50 हजार रूप यों से भरा बैग छीन ले गए।

10 मार्च: त्रयंबकेश्वर मंदिर के समीप सागवाड़ियां के हुरजी खराड़ी को चाकू दिखाकर पहने 250 ग्राम चांदी के कड़े लूट लिए।

28 मार्च: कॉलेज रोड पर बाइक सवार दो भाइयों से मारपीट कर मोबाइल छिन लिया। लोगों ने कोतवाली पहुंच हंगामा किया था।

तलवार और पिस्तौल के दम पर अपहरण तक के प्रयास

7 मार्च: पूर्व जिला प्रमुख लक्ष्मी निनामा के बेटे प्रदीप को युवकों ने अगवा किया, कमरे में बंद कर पीटा। पुलिस ने छुड़ाया तब तक वह घायल हो चुका था।

03 मार्च: राज्य मंत्री धनसिंह रावत के घर पास एक परिवार पर लट्ठ, तलवार से हमला किया। इससे अफरा-तफरी मच गई थी।

21 मार्च: निचला घंटाला में सिंलाई कराने निकली 4 लड़कियों को अगवा कर लिया गया। जिनका अब तक पता नहीं चल पाया है।

03 मार्च: बाहुबली कॉलोनी में पिस्तोल दिखाकर युवती को अगवा करने का प्रयास किया गया। इसमें पुलिस ने बदमाश को पकड़ा था।

डीएसपी वीराराम चौधरी से सवाल

शहर में चोरियां बढ़ रही है पुलिस रोक क्यो नहीं पा रही?

- कोशिश पूरी कर रहे है, पिछले दिनों बाइक चोर गिरोह पकड़ा है।

चोरियों को रोकने कोतवाली के पास नफरी कम है क्या?

- पर्याप्त संख्या में पुलिस बल है।

चोरियों को किस तरह रोका जा सकता है?

- हम कोशिश कर रहे है लेकिन लोग भी घर सूना छोड़ने पर पड़ोसी या रिश्तेदार को भी बताए ताकि नजर रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pratapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×