• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Pratapur News
  • मुख्यमंत्री की यात्रा टलने से सुस्त हुआ प्रशासन, अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं
--Advertisement--

मुख्यमंत्री की यात्रा टलने से सुस्त हुआ प्रशासन, अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं

मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरा टलने से प्रशासन भी सुस्त हो गया। अतिक्रमण पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। इससे...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 06:15 AM IST
मुख्यमंत्री की यात्रा टलने से सुस्त हुआ प्रशासन, अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं
मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरा टलने से प्रशासन भी सुस्त हो गया। अतिक्रमण पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। इससे पहले मुख्यमंत्री के दौरे को लेकर कस्बे से सटी ग्राम पंचायतें और कस्बे में आम आदमी की परेशानी को देखते हुए आनन फानन सभी को अतिक्रमण हटाने को लेकर नोटिस दे दिए थे।

पहले तो 13 अप्रैल को खेरन का पारड़ा, परतापुर, बेड़वा की ग्राम पंचायतों ने गढ़ी से भगोरा मोड़ तक नेशनल हाईवे 927 ए के दोनों ओर दुकान, मकान आदि के आगे निकाले गए टिन शेड, सीढ़ियां, छज्जे हटाने के नोटिस दिए। इसमें बताया गया था कि सात दिन में नहीं हटाने पर ग्राम पंचायत द्वारा हटाए जाएंगे। जब अतिक्रमियों ने अवधि पूरी होने के बाद भी अतिक्रमण नहीं हटाए तो मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरे को देखते हुए उपखंड अधिकारी पूजा कुमारी पार्थ ने भी 3 मई को गढ़ी से भगोरा मोड़ तक नेशनल हाईवे 927 ए के दोनों ओर व गणेश मंदिर से चार खंभा मेन बाजार में दुकान, मकान आदि के आगे निकाले गए टिन शेड, सीढ़ियां, छज्जे आदि को 6 मई तक हटा लेने के आदेश दिए। लेकिन, जैसे ही मुख्यमंत्री का दौरा टला तो ग्राम पंचायतें और उपखंड अधिकारी भी सुस्त हो गए। अतिक्रमियों के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं की गई। कस्बे के दोनों ओर एवं मुख्य बाजार में दुकानदारों ने इतना अतिक्रमण कर लिया है कि वाहन से जाना तो दूर, यहां से पैदल चलना भी मुश्किल है। यहां आए दिन कोई न कोई हादसा होते रहता है।

परतापुर के मुख्य बाजार में गुरुवार को सड़क पर बेतरतीब तरीके से खड़े वाहन और ठेलागाड़ियां।

भास्कर संवाददाता| परतापुर

मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरा टलने से प्रशासन भी सुस्त हो गया। अतिक्रमण पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। इससे पहले मुख्यमंत्री के दौरे को लेकर कस्बे से सटी ग्राम पंचायतें और कस्बे में आम आदमी की परेशानी को देखते हुए आनन फानन सभी को अतिक्रमण हटाने को लेकर नोटिस दे दिए थे।

पहले तो 13 अप्रैल को खेरन का पारड़ा, परतापुर, बेड़वा की ग्राम पंचायतों ने गढ़ी से भगोरा मोड़ तक नेशनल हाईवे 927 ए के दोनों ओर दुकान, मकान आदि के आगे निकाले गए टिन शेड, सीढ़ियां, छज्जे हटाने के नोटिस दिए। इसमें बताया गया था कि सात दिन में नहीं हटाने पर ग्राम पंचायत द्वारा हटाए जाएंगे। जब अतिक्रमियों ने अवधि पूरी होने के बाद भी अतिक्रमण नहीं हटाए तो मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरे को देखते हुए उपखंड अधिकारी पूजा कुमारी पार्थ ने भी 3 मई को गढ़ी से भगोरा मोड़ तक नेशनल हाईवे 927 ए के दोनों ओर व गणेश मंदिर से चार खंभा मेन बाजार में दुकान, मकान आदि के आगे निकाले गए टिन शेड, सीढ़ियां, छज्जे आदि को 6 मई तक हटा लेने के आदेश दिए। लेकिन, जैसे ही मुख्यमंत्री का दौरा टला तो ग्राम पंचायतें और उपखंड अधिकारी भी सुस्त हो गए। अतिक्रमियों के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं की गई। कस्बे के दोनों ओर एवं मुख्य बाजार में दुकानदारों ने इतना अतिक्रमण कर लिया है कि वाहन से जाना तो दूर, यहां से पैदल चलना भी मुश्किल है। यहां आए दिन कोई न कोई हादसा होते रहता है।

X
मुख्यमंत्री की यात्रा टलने से सुस्त हुआ प्रशासन, अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..