पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sanwaliyaji News Rajasthan News Travel Refund Of Collection Is So Much That The Railway Is Clean The Demand Has To Be Brought 6500 Rupees

सफर: कलेक्शन के मुकाबले रिफंड इतना कि रेलवे का गल्ला साफ हो गया, मांग कर लाने पड़े 6500 रुपए

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना खौफ और सरकार की एडवाइजरी से लोग खुद यात्राएं टाल रहे हैं। टिकट काउंटरों पर बुकिंग कम और रिफंड ज्यादा हो रहे हैं। चित्तौड़गढ़ में रेलवे आरक्षण केंद्र पर पहली बार ऐसी स्थिति बनी कि जितने टिकट नहीं कटे, उतने रिफंड हुए। सुपरवाइजर को सामान्य टिकट विंडो पर जाकर करीब साढे छह हजार रुपए मांग लाने पड़े।

चित्तौड़गढ स्टेशन को यात्रीभार से आय में एक सप्ताह से लगातार गिरावट आ रही है। आम दिनों में आरक्षण केंद्र पर एक से डेढ़ लाख रुपए के टिकट कटते है। रिफंड 20 से 50 हजार का होता है। गुरुवार को यहां 80 से 90 टिकट कैंसिल हुए। यात्रियों को करीब 94 हजार रुपए रिफंड देना पड़ा। कैश कलेक्शन करीब 88 हजार का ही था। गल्ला साफ हो जाने से सुपरवाइजर एआरएस खान भाग कर सामान्य टिकट विंडो पर पहुंचे और वहां से करीब 6500 रुपए लाकर यात्रियों को रिफंड किया। खान के अनुसार बुकिंग केंद्र के इतिहास में पहली बार ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा। शुक्रवार को भी दोपहर डेढ़ बजे तक महज 6-7 हजार रुपए के ही टिकट कटे। खिड़की पर लगातार रिफंड लेने वाले ही आ रहे थे। जो नए टिकट कट रहे, वे भी ज्यादातर अप्रैल के दूसरे पखवाड़े या उसके बाद के है। स्टेशन अधीक्षक सुभाषचंद्र पुरोहित के अनुसार ओवरआल यात्रियों में 40 से 50 प्रतिशत तक की कमी आ गई है। सामान्य टिकटों का भी यही हाल है। भीड़भरे प्लेटफार्मों पर भी ऐसा सन्नाटा पहली बार देख रहे।

अधिकारियों-कर्मचारियों से मोबाइल, वाट्सएप पर ही मांगी समस्याएं

चित्तौड़गढ़| राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग के उपनिदेशक, मोहम्मद रऊफ ने कोरोना वायरस की गंभीर स्थिति को देखते हुए आहरण एवं वितरण अधिकारियों/कर्मचारियों को सूचित किया कि बीमा कटौती सबंधी घोषणा पत्र के लिए मोबाइल या वाट्सएप नंबर पर ही संपर्क करें। हाल में बढ़ाई गई बीमा कटौती स्लैब के अनुसार बीमा विभाग के पोर्टल पर अधिक घोषणा पत्र भरने में आ रही ऑनलाइन सहित अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए कोई भी कार्यालय में व्यक्तिशः उपस्थित नहीं हो। बताए गए वाट्सएप नंबर पर मूल बीमा पॉलिसी की फोटो तथा एंप्लाइ आईडी भेजकर समस्याओं का विवरण लिख कर संपर्क कर सकते हैं। उसी दिन समाधान कर सूचित किया जाएगा। जिन कर्मचारियों ने अब तक अंतिम भुगतान का आवेदन नहीं किया है वे भी दो दिन में आवेदन भिजवाएं ताकि कर्मचारी परिपक्वता एक अप्रैल, 2020 पर भुगतान संभव हो सके। सर्वेश सारस्वत जोशी कनिष्ठ सहायक के मोबाइल नंबर 94139 88256, राहुल दशोरा कनिष्ठ सहायक मोबाइल नंबर 94600 07337 एवं मोहम्मद रऊफ सहायक निदेशक 95295 44444 अपनी समस्याओं के समाधान के लिए संपर्क कर सकते हैं।

प्रशासन ने बनाया आइसोलेशन वार्ड

निंबाहेड़ा | कस्बे में जहां प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस को लेकर विशेष सावधानी बरतते हुए विदेश यात्रा से लौटे नागरिकों की स्क्रीनिंग की जा रही है। प्रशासन ने औद्योगिक संस्थानों के सहयोग से एक आइसोलेशन वार्ड तैयार किया है। पीएमओ डॉ. मंसूर खान व चिकित्सकीय टीम द्वारा निरंतर क्षेत्र में निगरानी रखी जा रही है। एसडीएम पंकज शर्मा ने बताया कि सोश्यल मीडिया पर शुक्रवार को चल रहे एक ऑडियो को लेकर लोगों में भ्रम की स्थिति पैदा हुई। जिस पर एसडीएम ने इस पर विश्वास न करने की बात कहीं। बड़ी संख्या में लाेग किराने की दुकानों पर खाने, पीने व दैनिक आवश्यकता की सामग्री सहित मेडिकल स्टोर्स से दवाई, मास्क व सेनिटाइजर खरीदते दिखाई दिए।

उपखंड क्षेत्र में प्रशासन ने धारा 144 प्रभावी की

गंगरार | उपखंड प्रशासन ने कोराेना वायरस को लेकर मुख्यालय सहित क्षेत्र में धारा 144 प्रभावी कर दी। शुक्रवार को भीलवाड़ा प्रशासन द्वारा बाजार बंद कराने की जानकारी के बाद से ही प्रशासन अलर्ट हो गया व प्राप्त निर्देशों के अनुसार उपखंड मुख्यालय पर दुकानों व सार्वजनिक स्थानों पर 5 से अधिक लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगा दी गई। वहीं चाय की थड़ियों, पानी पताशे सहित जूस की दुकानों को भी बंद करने के निर्देश दिए हैं। उपखण्ड अधिकारी मुकेशकुमार मीणा, थानाधिकारी लाभूराम विश्नोई सहित ग्राम पंचायत द्वारा नगर एवं बाजार में भ्रमण कर लोगों को धारा 144 प्रभावी होने की जानकारी दी गई।

सामूहिक कलमबंद अांदाेलन स्थगित

गंगरार | पंचायत समिति सहायक सचिव द्वारा ग्राम विकास अधिकारियों के साथ अभद्र व्यवहार व गालीगलौज को लेकर ग्राम विकास अधिकारी संघ, कनिष्ट सहायक संघ, रोजगार सहायक संघ द्वारा किए जा रहे कलमबंद अांदाेलन को कोरोना वायरस के चलते संघ ने स्थगित कर दिया है। शुक्रवार को संघ द्वारा विकास अधिकारी को पत्र लिखकर अवगत कराया। संघ अध्यक्ष शंभूदास वैष्णव सहित सचिवों ने विकास अधिकारी को पत्र देकर जानकारी दी।उल्लेखनीय है कि मंगलवार दोपहर ग्राम विकास अधिकारी शंभूलाल वैष्णव एवं बृजेश सागर के साथ पंचायत समिति सहायक सचिव ओमप्रकाश काबरा ने अभद्र व्यवहार किया था।

सांवलियाजी | प्रदेश का प्रमुख कृष्णधाम सांवलिया सेठ का मंदिर अपने इतिहास में पहली बार शुक्रवार को दर्शन के लिए पूरी तरह बंद रहा। केवल पुजारी ही नित्य क्रम अनुसार सेवा पूजा के लिए अंदर गए। दर्शन बंद होने से कस्बे के बाजार और मार्ग भी सूने हो गए। मंदिर मंडल ने कोरोना खतरे को देखते हुए शुक्रवार से 31 मार्च तक मंदिर में दर्शन पर पूरी तरह रोक लगा दी। सुबह 5 बजे मंगला आरती, फिर नौ से 11 बजे राजभोग आरती और रात आठ बजे की आरती के लिए पुजारी मास्क आदि पहनकर अंदर गए। दर्शन बंद होने से अनजान जो भी श्रद्वालु आए, वे बाहर से ही बैरंग लौटे। सांवलिया सेठ के नाम से विख्यात मंदिर के भंडार में वर्तमान में औसत रोज करीब 15 लाख रुपए का चढ़ावा आता है। शुक्रवार को एक भी दर्शनार्थी अंदर नहीं आया। मंदिर में दर्शन बंद होने के साथ ही मंदिर मंडल संचालित भोजनशालाएं और प्रसाद निर्माण व वितरण कार्य भी बंद हो गया। धर्मशालाएं भी लगभग खाली हो गई। बाजार सूने हो गए।


{यह भी जानने योग्य... सीनियर सिटीजन को देय छूट भी 31 तक बंद की, ताकि वे इसी बहाने सफर टाल दें ...


{दर्शन: 100 साल में पहली बार सांवलिया सेठ का भंडार भी सूना, पुजारी को छोड़ सबके लिए मंदिर के पट बंद...


फैक्ट

2 से 3 हजार दर्शनार्थी औसत प्रतिदिन

1 से 1.5 हजार दर्शनार्थी रोज दर्शन करते

10 से 15 हजार दर्शनार्थी अवकाश व खास दिनों में

40 से 50 हजार दर्शनार्थी हर अमावस्या पर

1 से 2 हजार लोग रोज भोजनशाला में आते

2 लाख रुपए प्रतिदिन की प्रसाद बिक्री बंद

रेलवे ने यात्रीभार कम करने के लिए एक और कड़ा निर्णय लेते हुए ट्रेनों में सीनियर सिटीजन को देय छूट भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दी। बुकिंग सिस्टम में गुरुवार देर रात बाद से यह लागू हो गया। इसके पीछे भी रेलवे का मंतव्य यह कि बुजुर्ग लोग इन दिनों सफर पर नहीं निकले। खुद को घर में रखे। उल्लेखनीय है कि रेलवे ने स्टेशनों पर भीड़भाड कम करने के लिए तीन दिन पहले प्लेटफार्म टिकट भी 10 रुपए से सीधा 50 रुपए कर दिया था। स्थिति यह है कि रेलवे के रिफ्रेशमेंट रूम में तीन दिन से पूरे दिन में महज दो से तीन लोग खाना खा रहे हैं।

पंचायत ने क्षेत्र के प्रतिष्ठान बंद करवाए : चित्तौड़गढ़ | कोरोना वायरस काे फैलने से रोकने के लिए ग्राम पंचायत बाड़ी ने भी प्रयास शुरू किए हैं। प्रधान गोपाल आंजना व सरपंच गोपाल रैगर, उपसरपंच कैलाश आंजना, ग्राम विकास अधिकारी रोहित मीणा, हरिसिंह चौैहान कनिष्ठ सहायक ने बताया कि क्षेत्र के सभी रेस्टाेरेंट, हाेटल व ढाबे वालों को आगामी आदेश तक प्रतिष्ठान बंद रखने के लिए कहा गया है। जाे प्रतिष्ठान बंद नहीं करेगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।
खबरें और भी हैं...