• Home
  • Rajasthan News
  • R Mandi News
  • शिक्षकों ने बच्चों के साथ मनाई होली पानी बचाने के लिए किया प्रेरित
--Advertisement--

शिक्षकों ने बच्चों के साथ मनाई होली पानी बचाने के लिए किया प्रेरित

भैंसरोड़गढ़| श्रीराम बाल विद्या मंदिर भैसरोड़गढ़ में तिलक होली के साथ रंगों का त्योहार मनाया गया। शिक्षकों और...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:00 AM IST
भैंसरोड़गढ़| श्रीराम बाल विद्या मंदिर भैसरोड़गढ़ में तिलक होली के साथ रंगों का त्योहार मनाया गया। शिक्षकों और बच्चों ने एक-दूसरे को रंग लगाकर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर प्रिंसिपल ओमप्रकाश भांबी ने बताया कि वैदिक काल में यज्ञ किया जाता था। अधपके अन्न को हवन के बाद प्रसाद के रूप मेें खाया जाता था। गेहूं की बालियां इस समय हवन में पकाई जाती थी, जिसे होला कहते थे। होली मनाते समय रंगों का चुनाव सावधानी से करना चाहिए। उन्होंने बच्चों को पानी व्यर्थ नहीं बहाने की सलाह दी।

पानी बचाने का संकल्प

रावतभाटा|
आदर्श विद्या मंदिर रावतभाटा में होली उत्सव मनाया गया। कार्यक्रम में पूनम चतुर्वेदी, नरेंद्र जंगम ने होली का महत्व बताया। होली को भाईचारे के साथ मनाने एवं सावधानी की जानकारी दी। समता गुप्ता, मंजू,अनुराधा आर्य, नीतू सक्सेना ने होली के गीतों की प्रस्तुति दी । कार्यक्रम अध्यक्ष कैलाश शर्मा, सुशीला मोहनपुरिया व विद्यालय परिवार के सभी सदस्यों ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर शुभकामनाएं दी। पानी बचाने का संकल्प लिया। प्रियंका पंचोली ने संकल्प कराया। कार्यक्रम में प्रिंसिपल मुकेश कुमार वैष्णव भी मौजूद थे।

भैंसरोडगढ़. श्रीराम बाल विद्या मंदिर मैं होली मनाते हुए स्कूल शिक्षक और बच्चे।

भैंसरोडगढ़. श्रीराम बाल विद्या मंदिर में होली मनाते हुए स्कूल शिक्षक और बच्चे।

चंदन और फूलों से मनाएगा आर्य समाज होली

रावतभाटा| आर्य समाज रावतभाटा में पर्यावरण को बचाने के लिए चंदन और फूलों की होली खेली जाएगी । प्रधान योगेश आर्य ने बताया कि आर्य समाज पर्यावरण की रक्षा के लिए रंगों के कुप्रभाव को देखते हुए चंदन लगाकर और फूलों की वृष्टि कर होली का पर्व मनाएगा। 1 मार्च को शाम 5 बजे वासंती यज्ञ और 2 मार्च को सुबह 9 बजे चंदन और फूलों की होली आर्य समाज में खेली जाएगी।