Hindi News »Rajasthan »Raisinghnagar» सरकारी शिक्षण संस्थाओं में सुधार नहीं तो प्रिंसीपल के साथ अफसर भी जिम्मेदार

सरकारी शिक्षण संस्थाओं में सुधार नहीं तो प्रिंसीपल के साथ अफसर भी जिम्मेदार

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर राजकीय शिक्षण संस्थाओं में लगातार सुधार के प्रयास होते रहने चाहिए। इसके लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 06:40 AM IST

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

राजकीय शिक्षण संस्थाओं में लगातार सुधार के प्रयास होते रहने चाहिए। इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी से लेकर प्रधानाध्यापक तक को जिम्मेदारी लेनी चाहिए। जनप्रतिनिधियों तथा आमजन का सहयोग लिया जाकर संस्थाओं में गुणात्मक सुधार किया जा सकता है। यह बात कलेक्टर ज्ञानाराम ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में जिला स्कूल सलाहाकार समिति की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों की गुणात्मक शिक्षा के लिए विद्यालय में उपलब्ध मानवीय एवं भौतिक संसाधनों का समुचित उपयोग, शैक्षिक व सहशैक्षिक गतिविधियों का सुचारू संचालन किया जाए। विद्यालय के हित में पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी, ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी, डीईओ द्वारा निरीक्षण किया जाए ताकि विद्यार्थियों के शैक्षिक स्तर का मूल्यांकन कर गुणात्मक सुधार हो सके। बैठक में रायसिंहनगर प्रधान इंदु सारस्वत, जिला शिक्षा अधिकारी, रमसा, सर्वशिक्षा अभियान के अधिकारी के अलावा शिक्षा विभाग के जिले में कार्यरत बीईओ तथा एबीईओ ने भाग लिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raisinghnagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×