--Advertisement--

मुनि तरुण सागर ने जयपुर के लिए किया विहार, भावुक हुए श्रद्धालु

शहर में चातुर्मास करने के बाद जैन मुनि तरुण सागर ने विदाई ली।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 08:29 AM IST

सीकर। शहर में चातुर्मास करने के बाद जैन मुनि तरुण सागर ने विदाई ली। चातुर्मास की समाप्ति पर देवीपुरा स्थित चंद्रप्रभु मंदिर में समारोह का आयोजन किया। देवीपुरा जैन वीर संगठन के अध्यक्ष सुनील सेसमवाला ने बताया कि 51 रजत थालियों में जैन समाज के लोगों ने मुनि के पादप्रक्षालन कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

- चंद्रप्रभु जैन मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान कई श्रद्धालु भावुक हो गए। मुनि तरुण सागर ने कहा कि चातुर्मास जरूर पूर्ण हुआ है लेकिन धर्म आराधना में हमको ब्रेक नहीं लगाना है। हमें निरंतर धर्म से जुड़े रहना है। धर्म से ही जीवन जीवन का उत्थान होगा।

- भाग्यशाली वह होते हैं जिनके दिल में गुरुवर बसते हैं और सौभाग्यशाली वह होता है, जो गुरुवर के दिल में बसता है। ब्रह्मचारी सतीश भैया ने बताया कि मुनि ने लोहिया फार्म हाऊस पर रात्रि विश्राम किया। अगले दिन आहार लेकर मुनि तिवाड़ी फार्म हाऊस पर विश्राम करेंगे। 3 दिसंबर को मुनि जयपुर में प्रवेश करेंगे।