Hindi News »Rajasthan »Rajsamand» प्यास बुझाने पहुंचे तंेदुए के दो शावक हौद में डूबे, देखती रही मां

प्यास बुझाने पहुंचे तंेदुए के दो शावक हौद में डूबे, देखती रही मां

कुंवारिया क्षेत्र के जोधपुरा में शुक्रवार सुबह खेत पर बने हौद में तेंदुए के दो शावकों के शव मिले। वन विभाग के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 04:05 AM IST

प्यास बुझाने पहुंचे तंेदुए के दो शावक हौद में डूबे, देखती रही मां
कुंवारिया क्षेत्र के जोधपुरा में शुक्रवार सुबह खेत पर बने हौद में तेंदुए के दो शावकों के शव मिले। वन विभाग के अधिकारियों का मानना है कि तेंदुए का परिवार नजदीक के काबरी महादेव के जंगल से पानी की तलाश करते हुए खेत पर कुएं के पास बने हौद पर आए होंगे। इनमें एक नर तथा दूसरी मादा शावक थी। घटना के वक्त शावकों की मां के भी साथ होने की आशंका जताई जा रही है। शुक्रवार सुबह खेत पर मालिक पहुंचा तो वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी। तब वन विभाग के गश्ती दल ने शावकों की मां को भगाकर दोनों शावकों के शव को बाहर निकाला। गश्ती दल प्रभारी रामपाल ने बताया कि जोधपुरा गांव के पास ही काबरी महादेव जंगल के काली मगरी स्थित रतन सिंह रावत के कृषि फार्म हाउस पर खेत पिलाई के लिए बने हौद में तेंदुए के दो शावक गिरने से डूबने पर मौत हो गई। तेंदुए का परिवार गुरुवार रात को पानी की तलाश में आया था, लेकिन हौद आधा भरा होने के कारण पैंथर पानी पीने के चक्कर में अंदर गिर गए। काफी प्रयास के बाद भी जब वे नहीं निकल पाए और डूबने से उनकी मौत हो गई। दोनों शावकों की उम्र 8 माह बताई जा रही है। शावकों की मौत के बाद इनकी मां गुर्राते हुए काफी देर तक वहीं बैठी रहीं। अगले दिन सुबह साढ़े आठ बजे किसान रतन सिंह खेत पर पिलाई के लिए हौद का पानी खोलने पहुंचा तो तेंदुए की गुर्राहट से घबरा गया। किसान ने वन विभाग के सूचना केंद्र पर घटना की सूचना दी। गश्ती दल पहुंचा तो दोनों शावक 7 फीट गहरे हौद में डूबे मिले। पास ही उनकी मां दहाड़ रही थी। वह किसी को हौद के पास तक नहीं आने दे रही थी। विभाग के गश्ती दल ने बड़ी मशक्कत के बाद शावकों की मां को वहां से भगाया। इसके बाद दोनों ही शावकों को हौद से बाहर निकाल कर राजसमंद में पीपरड़ा स्थित वन विभाग की नर्सरी ले जाया गया। जहां पर डॉ. घनश्याम मुर्डिया ने शावकों का पोस्टमार्टम किया। इसके बाद शवों का दाह संस्कार कर दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण पानी में डूबने से होना बताया जा रहा है।

दहाड़ से लोग सहमे, वन विभाग ने लगाया पिंजरा

राजसमंद. तेदुएं के शावक की लंबाई नापते वन विभाग के कर्मचारी।

दोनों शावकों के मरने पर इनकी मां हौद के पास ही बैठी रही। वन विभाग के गश्ती दल ने उसे एक बार तो भगाकर शावकों के शव निकाल लिए, लेकिन गश्ती दल के वहां से जाने के बाद फिर शावकों की मां शावक की तलाश में पहुंच गई। शावक के मौके पर नहीं मिलने पर वह काफी देर तक दहाड़ती रही। ऐसे में खेत मालिक सहित आसपास के लोगों में खौफ बना हुआ है। किसान अपने खेतों पर काम करने तक की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए शनिवार को पिंजरा लगा दिया। हालांकि देर शाम तक शावकों की मां हौद के आसपास के क्षेत्र में ही देखी गई और दहाड़ती रही।

वन क्षेत्र में नहीं है वन्य जीवों के लिए पानी

गर्मी की दस्तक के साथ ही वन क्षेत्र के वाटर हॉल में पानी की कमी महसूस की जा रही है। लोगों का कहना है कि वन क्षेत्र में पानी की कमी के चलते वन्य जीव पानी की तलाश में आसपास के आबादी क्षेत्र तक आने लगे हैं। वन विभाग ने गर्मी की शुरुआत के बावजूद वन क्षेत्र में पानी की व्यवस्था नहीं की है। इस कारण तेंदुओं को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है।

घटनास्थल के पास ही है गुफा

जिस हौद पर परिवार सहित तेंदुए पानी पीने के लिए पहुंचे, वहां पास में ही गुफा है। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस गुफा में तेंदुए के परिवार का डेरा है। संभवत: तेंदुए के आने पर वह पिंजरे में आ सकती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Rajsamand News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: प्यास बुझाने पहुंचे तंेदुए के दो शावक हौद में डूबे, देखती रही मां
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Rajsamand

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×