Hindi News »Rajasthan »Rajsamand» शहीद दिवस पर ‘इंसान हैं हम लोकनाद’ संगीत संध्या

शहीद दिवस पर ‘इंसान हैं हम लोकनाद’ संगीत संध्या

राजसमंद | शहीद दिवस की संध्या पर मंगलवार रात को गांधी सेवा सदन में सामाजिक संवेदना और आमजन के सपनों को आवाज देने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:50 PM IST

राजसमंद | शहीद दिवस की संध्या पर मंगलवार रात को गांधी सेवा सदन में सामाजिक संवेदना और आमजन के सपनों को आवाज देने वाले चारुल-विनय की लोकनाद प्रस्तुति ‘इंसान है हम ने श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। कार्यक्रम में अतिथि सामाजिक कार्यकर्ता और सूचना का अधिकार आंदोलन की सूत्रधार अरुणा राय, कलेक्टर पीसी बेरवाल, गांधी सेवा सदन के मंत्री डाॅ. महेंद्र कर्णावट, सर्वोदयी विचारक जीतमल कच्छारा, भंवरलाल वागरेचा, निखिल-डे, दिनेश श्रीमाली थे। संगीत संध्या की शुरुआत वैष्णव जन तो तेने कहिए... से किया। इसके बाद वर्तमान हालात पर इन दिनों क्या हुआ गीत प्रस्तुत किया। सूचना का अधिकार आधारित गीत मेरे सपनों को जानने का हक है, आओ लकीरें मिटा के सभी श्रोताओं ने मोमबत्ती जला हाथ मे ले स्वर से स्वर मिलाया। इसमें अरुणा राय ने कहा समरसता, सद्‌भाव हमारी संस्कृति है और इसे नुकसान पहुंचाने की कोशिश का विरोध होना चाहिए। हिंसात्मक गतिविधि का समाज को चुप्पी तोड़ निषेध करना बहुत जरूरी हैं। डाॅ. महेंद्र कर्णावट, निखिल-डे, दिनेश श्रीमाली ने विचार व्यक्त किए। आभार जीतमल कच्छारा ने ज्ञापित किया। इस दौरान समाज सेवी भंवरलाल वागरेचा, नरेंद्र सिंह कच्छवाहा, कालूशाह, फतहलाल अनोखा, शंकर सिंह, अफजल खां अफजल, राजकुमार दक, दिनेश सनाढ्य, पारस बंजारा थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rajsamand

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×