पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Rajsamand News He Used To Go Public During Freedom He Did Not Have The Right To Question The Patriotism Of Congress

आजादी के वक्त जाे मुखबिरी करते थे, उन्हें कांग्रेस की देशभक्ति पर प्रश्न करने का हक नहीं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आजादी के समय जो लोग अंग्रेजों की मुखबिरी किया करते थे, उन्हें कांग्रेस की देशभक्ति पर प्रश्न उठाने का हक नहीं। कांग्रेस ने आजादी के आंदोलन में सिर तक कटाए और भाजपा-आरएसएस के लोगों ने उंगली तक नहीं कटाई। उन्हाेंने वसुंधरा राजे सरकार को भ्रष्ट बताया और कहा कि राजे के कार्यकाल में कई अफसर भ्रष्टाचार में जेल गए। गहलोत ने गुरुवार को शहर के पुराने बस स्टैंड पर कांग्रेस उम्मीदवार नारायण सिंह भाटी के समर्थन में एक सभा में कहा कि आप एक-एक वोट की कीमत समझें और पार्टी उम्मीदवारों को जिताएं। उन्होंने कहा, एक वोट की बहुत कीमत होती है। एक वोट से अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार गिर गई थी और एक वोट से ही सीपी जोशी चुनाव हारे थे। आप अब ऐसी गलती मत करना। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार किरण माहेश्वरी को लेकर भी कहा कि वे पहले पीएचईडी मंत्री थीं। बाद में मुख्यमंत्री ने उनका विभाग बदल कर बड़ी मेहरबानी की। गहलोत ने कहा, कई नेता आदत बदलें। वे आलोचना सुनें। महारानी की तरह घमंड नहीं रखें। सीएम ने जयपुर में मेट्रो का काम बंद किया, हाड़ौती में स्वयं के क्षेत्र में बांध बनाने की योजनाओं को बंद कर दिया।

गहलोत ने ये भी कहा :
वसुंधरा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सामने झुकती हैं। वे पांच साल आम जनता के सामने झुकतीं तो लोग गुस्से में नहीं आते। -हमारे समय जो एक ट्रक बजरी पांच हजार में मिलती थी, अब पचास हजार में मिलती है। मैं पहली बार मुख्यमंत्री बना तो अकाल पड़ा। वसुंधराजी कहती थी कि अशोक गहलोत दिल्ली की सड़कों पर भीख मांगता है। तो मैं वसुंधराजी से कहना चाहूंगा कि प्रदेश की जनता से मुझे भीख भी मांगनी पड़े तो मुझे को शर्म नहीं आएगी।

काका नहीं आए मंच पर : अशोक गहलोत की सभा में कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर मंच पर नहीं आए, जबकि उन्होंने हवाई पट्टी पर उनकी अगवानी की थी।

गहलोत भूल गए उम्मीदवार का नाम
पूर्व सीएम अशोक गहलोत भाषण के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी नारायण सिंह भाटी का नाम भूल गए। फिर पर्ची देखकर उनका नाम लिया।

लोगों की जेब से हजारों रुपए ले भागे बदमाश, दो मामले दर्ज
राजसमंद | चुनावी सभा मंच पर मौजूद कार्यकर्ताओं सहित गाड़ी के आस पास खड़े कार्यकर्ताओं की जेबों से हजारों रुपए सहित पर्स ले गए। पर्स में वास्तविक दस्तावेज सहित आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पेन कार्ड और मोबाइल चुराकर ले गए। हालांकि दो लोगों ने कांकरोली थाने में परिवाद भी दर्ज कराया है। सभा समाप्ति के बाद बदमाशों ने आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज मंच के पीछे फेंक दिए, इनको भास्कर फोटोग्राफर उदयगोपाल ने कांकरोली पुलिस को सौंपे ताकि कोई अपना दस्तावेज प्राप्त कर सकता है। पुलिस ने बताया कि कुंवारिया निवासी अशोक दाधीच और कांकरोली निवासी अखिल वर्मा ने मामला दर्ज कराया कि पूर्व सभा में बदमाशों ने जेब से मोबाइल, पर्स मेंं रखे दस्तावेज और रुपए निकाल कर ले गए। अशोक दाधीच ने मामला दर्ज कराया कि सभा में मोबाइल, पर्स में रखे दस्तावेज और 5 हजार रुपए, अखिल वर्मा के पर्स में रखे दस्तावेज और अन्य कागजात ले गए। वहीं सभा में मौजूद केलवा निवासी नरेंद्रसिंह चौहान 20 हजार रुपए, कांकरोली निवासी समीर सुराणा के 3500 रुपए की जेब काट ली।

राजसमंद | जेब कतरे लोगों के आई कार्ड मंच के पीछे फेंक चले गए।

खबरें और भी हैं...