• Home
  • Rajasthan News
  • Rajsamand News
  • बिजली समस्या को लेकर जीएसएस पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, चार घंटे बाद पहुंचे अधिकारियों से मिला आश्वासन
--Advertisement--

बिजली समस्या को लेकर जीएसएस पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, चार घंटे बाद पहुंचे अधिकारियों से मिला आश्वासन

कुंवारिया . बिजली विभाग के अधिकारियों के समक्ष आक्रोश जाहिर करते ग्रामीण। कुंवारिया | बिजली की समस्याओं को लेकर...

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 06:05 AM IST
कुंवारिया . बिजली विभाग के अधिकारियों के समक्ष आक्रोश जाहिर करते ग्रामीण।

कुंवारिया | बिजली की समस्याओं को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने सोमवार सुबह 10 बजे कुंवारिया जीएसएस पहुंच बिजली विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। 4 घंटे इंतजार के बाद पहुंचे अधिकारियों ने जल्द समस्या का निराकरण कराने का आश्वासन दिया।

बताया कि कस्बेवासी जीएसएस पर 10 बजे एकत्रित हो गए और बिजली की समस्याओं को लेकर नारेबाजी और प्रदर्शन करने लगे। लेकिन 4 घंटे इंतजार के बाद राजसमंद से सहायक अभियंता राकेश कर्ण और कुंवारिया के कनिष्ठ अभियंता सुमेर सिंह चौधरी पहुंचे। कस्बेवासियों ने कहा कि कुंवारिया में बारिश का मौसम आते ही बिजली बंद हो जाती है, जब बिजली बंद की जानकारी लेते है तो उनका रटा रटाया एक ही जवाब होता है कि 33 केवी में फॉल्ट से बिजली बंद हुई है। यह समस्या ग्रामीणों के लिए करीब 1 साल से बनी हुई है। ग्रामीण विजय प्रकाश सनाढ्य, शमसुद्दीन, मुश्ताक खान, यशवंत पीपाड़ा, प्रवीण पीपाड़ा, कैलाश गौड़, संजय टांक, राकेश तातेड़ ने बारी-बारी से बिजली की समस्या के बारे में बताया। एक घंटे की बातचीत में ग्रामीणों को समस्या का निराकरण जल्द करने का आश्वासन मिला। तब जाकर ग्रामीण माने। इस दौरान किशनलाल तेली, नायब तहसीलदार ईश्वर चंद पुरोहित, थानाधिकारी योगेंद्र व्यास, विनय दाधीच, ओम चावला, एडवोकेट महेश सेन, दिनेश पंचोली, प्रदीप चावला, फिरोज खान, गुड्डू मोहम्मद सहित लोग थे।

रात को भी जीएसएस पहुंचे थे ग्रामीण : कस्बे में देर रात्रि तक बिजली गुल रहने से आक्रोशित ग्रामीण जीएसएस पहुंचे, जहां पर उन्होंने शिकायत करने का शिकायती रजिस्टर मांगा लेकिन मौके पर शिकायत रजिस्टर नहीं मिला।

25 को लगेगी विद्युत चौपाल : बिजली की सारी समस्या के लिए एक दिन चौपाल का समय निश्चित करने के लिए ग्रामीणों ने मांग की कर 25 को उच्चाधिकारियों की ओर से बिजली चौपाल करवाई जाए। इस पर उन्होंने बैठक कर तय करने का निर्णय लिया।