Hindi News »Rajasthan »Rajsamand» पुरुषोत्तम कथा में उकेरा भगवान बालकृष्ण की लीलाओं का शब्दचित्र

पुरुषोत्तम कथा में उकेरा भगवान बालकृष्ण की लीलाओं का शब्दचित्र

राजसमंद | श्री छोगाला छैल नंदवाना महिला सत्संग समिति राजनगर की नंदवानावास में श्रीमद् भागवत कथा महोत्सव के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 06:30 AM IST

पुरुषोत्तम कथा में उकेरा भगवान बालकृष्ण की लीलाओं का शब्दचित्र
राजसमंद | श्री छोगाला छैल नंदवाना महिला सत्संग समिति राजनगर की नंदवानावास में श्रीमद् भागवत कथा महोत्सव के पांचवें दिन गुरुवार को पं. संजय कृष्ण उपाध्याय ने मैया यशोदा के घर और नंदग्राम सहित ब्रजधाम में भगवान बालकृष्ण की रची विभिन्न लीलाओं के प्रसंगों का चित्रण किया। इस दौरान कन्हैया की नटखट बाल लीलाएं जानकर श्रद्धालु आनंद भाव से सराबोर हो गए। व्यास पीठ पूजन एवं भागवत पुराण आरती के साथ कथा की शुरुआत हुई। इसके तहत आचार्य ने कृष्ण जन्मोत्सव के बाद नंदगांव में छाए उल्लासपूर्ण माहौल का वर्णन कर बालकृष्ण की लीलाओं का बखान किया। उन्होंने कन्हैया की छवि का दर्शन कराते हुए राधाजी के गांव में कुंजन की छांव में बंशी बजावे प्यारो नंदलाल...के साथ हरी कीर्तन कराया। वहीं ब्रज की गोपियों में कृष्ण के प्रति व्याप्त अगाध प्रेमभाव को दर्शाया। कहा कि उन गोपियों की भांति हमारी जिह्वा के अग्रभाग और हमारी हर श्वास पर कृष्ण-कृष्ण और राधा-राधा नाम का उच्चारण होना चाहिए, क्योंकि यह श्वास तो उस गोविंद की कृपा है। भले ही कैसी भी स्थिति हो लेकिन हरिनाम जपना चाहिए। कृष्ण वध के लिए कंस की ओर से राक्षसी पुतना को भेजने, पुतना के कृष्ण को विषयुक्त दुग्धपान कराने सहित प्रसंग सुनाए। हरिनाम स्मरण की महिमा बताते हुए कहा कि जब कोई जीव राम-राम, कृष्ण-कृष्ण जपता है तो उस जीव का तन-मन पवित्र हो जाता है। कण-कण कृष्णमय हो जाता है और दुखों का नाश होता है। गर्गाचार्य की ओर से कृष्ण और बलदाऊ का नामकरण करने, मां यशोदा के आंगन में नटखट कन्हैया के खेलने, नाचने, अठखेलियां करने सहित प्रसंग का वर्णन किया। इस दौरान कौन सखी मार गई रे टोना, रोए रे मोरा सांवला सलोना..., आजा रे निंदिया आ-आ-आ मेरे लाल को..., नाचे नंदलाल नचावे हरि की मैया..जैसे भजनों की प्रस्तुति से समां बांधा तो श्रद्धालु नाचने लग गए।

राजसमंद . भागवत कथा सुनती महिलाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rajsamand

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×