निर्जला एकादशी : श्रीनाथजी अाैर द्वारकाधीश मंदिरों में उमड़ा अास्था का सैलाब

Rajsamand News - राजसमंद. निर्जला एकादशी पर द्वारकाधीश मंदिर में सुबह से ही दर्शनार्थियों की भारी भीड़ रही। राजसमंद | निर्जला...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:55 AM IST
Nathdwara News - rajasthan news nirjala ekadashi a great spring in shrinathji and dwarkadhish temples
राजसमंद. निर्जला एकादशी पर द्वारकाधीश मंदिर में सुबह से ही दर्शनार्थियों की भारी भीड़ रही।

राजसमंद | निर्जला एकादशी पर जिले के प्रमुख मंदिरों में सुबह से ही दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा। कांकरोली द्वारकाधीश मंदिर पर सुबह से दर्शनार्थियों के आने का क्रम शुरू हो गया। राजभोग दर्शन में मंदिर गोवर्धन चौक, रतन चौक सहित दर्शनार्थियों से भरे रहे। महिला दर्शनार्थियों ने पानी की मटकी, तांबे का लोटा अाैर स्टील के लोटे में जल भरकर, फल आदि की पूजा करके ठाकुरजी के सम्मुख धराया। इसी प्रकार से चारभुजा में भी सुबह से ही दर्शनार्थियों की भीड़ रही।

दर्शनार्थियों की कतारें लगी

चारभुजा | निर्जला एकादशी पर मंदिर में दर्शनार्थियों की कतारें लगी रही। अधिकांश लोगों ने बिना पानी के ही उपवास रखा। वहीं शाम को सूर्यास्त के बाद पानी पीकर उपवास तोड़ा। महिलाओं ने दर्शन के बाद खूब दान पुण्य किया। महिलाओं जल पात्र में पानी भरकर ठाकुरजी काे चढ़ाया। इस दौरान राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी ने राजभोग आरती में दर्शन किए। पुजारी नंदलाल पंचोली ने विधायक किरण माहेश्वरी को पान-बीड़ा, पंचामृत अाैर राजभोग का प्रसाद भेंट किया। इस दौरान सरपंच नाथूलाल गुर्जर, बलदेव सेन, चेतन गुर्जर, किशन भंडारी, गणेश विरावत, मनोज वैष्णव सहित माैजूद रहे।

श्रीजी प्रभु को धराया कली का शृंगार, महिलाअाें ने निर्जल रहकर रखा व्रत, दान-पुण्य किया

नाथद्वारा | वैष्णव नगरी में निर्जला एकादशी के दिन गुरुवार को श्रद्धालुओं ने देव दर्शन कर दान-पुण्य किया। वहीं श्रीजी प्रभु की हवेली में बाल स्वरूपों को श्रृंगार धराकर राग, भोग एवं सेवा के लाड लड़ाए गए। शृंगार झांकी में मुखिया बावा ने श्रीजी प्रभु के श्रीचरणों मे मोती के तोड़ा धराए। श्रीअंग पर धवल पिछोड़ा अंगीकार कराया गया। श्रीमस्तक पर मोती का किरीट व शीशफूल सुशोभित किए। श्रीजी प्यारे के श्रीकर्ण में मयुराकृत कुंडल धराए गए। प्रभु को वनमाला विभूषित मोती के आभरण धराए गए। श्रीजी प्रभु के निधि स्वरूप श्रीलालन प्यारे को पर्व पर पत्र-पुष्पों के पलने में विराजित कर लाड लड़ाए। गुर्जरपुरा वाले श्रीलालाजी भगवान के बाल स्वरूप को भी मुखिया ललित वैरागी ने अनूठा शृंगार अंगीकार कराकर आरती उतारी।

निर्जला एकादशी पर ग्रामीण अंचलों से भी महिलाओं की भारी भीड़ उमड़ी। महिलाओं ने गिरिराज पर्वत की परिक्रमा लगाई। उन्होंने दूध की धार से परिक्रमा देकर पूजा की। तेज धूप में परिक्रमा करने आई महिलाओं काे लोगों ने शरबत अाैर जल पिलाया। पर्व पर स्थानीय श्रद्धालुअाें के संग वैष्णवों ने भी वस्त्र, अनाज, जल पात्र, पंखा, खरबूजा, आम इत्यादि सामग्री का दान दिया। श्रद्धालुअाें ने गाेशाला अाैर बाजारों में गायाें काे दलिया अाैर घास खिलाई।

नाथद्वारा

Nathdwara News - rajasthan news nirjala ekadashi a great spring in shrinathji and dwarkadhish temples
X
Nathdwara News - rajasthan news nirjala ekadashi a great spring in shrinathji and dwarkadhish temples
Nathdwara News - rajasthan news nirjala ekadashi a great spring in shrinathji and dwarkadhish temples
COMMENT