पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Rajsamand News Rajasthan News On The Issue Of Drinking Water The Minister Should Also Put The Application Of Indradev Mla Complained To The Electricity Corporation I Am Working As A Lineman

पेयजल मुद्दे पर मंत्री बाेले-एप्लीकेशन इंद्रदेव काे भी लगाअाे, एमएलए ने बिजली निगम की शिकायत की-लाइनमैन का काम मैं कर रहा हूं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिला प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना अाैर प्रभारी सचिव अपर्णा अरोड़ा ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में सभी अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में भीम विधायक सुदर्शन सिंह रावत, कलेक्टर अरविंद कुमार पोसवाल, सीईओ निमिषा गुप्ता, एडीएम राकेश कुमार अाैर एएसपी राजेश गुप्ता आदि माैजूद रहे। बैठक में जून माह की बैठकों के मुद्दों का रिव्यू किया। वहीं इस बार जिले में बारिश कम होने पर जलदाय विभाग से आगामी माह में पेयजल के हालात को लेकर मुद्दा छाया रहा। इसके साथ ही बजट घोषणा में नाथद्वारा में भूमिगत तार जाेड़ने के लिए बिजली निगम में 55 करोड़ की डीपीआर तैयार करने की बात कही। नाथद्वारा में पेयजल के हालात के लिए चिकलवास से पानी की पाइप लाइन की भी जांच कर ली गई। दोपहर दो बजे पहले जिला प्रभारी सचिव अाैर प्रमुख शासन सचिव अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ विभाग अपर्णा अरोड़ा ने सभी अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिले में नरेगा की स्थिति की रिपाेर्ट सीईओ निमिषा गुप्ता ने दी। इसके बाद साढ़े तीन बजे प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना बैठक में पहुंचे। प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना ने जलदाय विभाग से पेयजल स्थिति के बारे में जानकारी ली। वहीं अगस्त माह तक पानी के बारे बताया। बाघेरी, नंदसमंद, नीमझर अाैर मनोहर सागर तालाब खाली होने से पेयजल की समस्या बनी हुई है। इस पर प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना ने चुटकी लेते हुए कहा कि राजसमंद में बारिश कम हुई है इसके लिए इंद्रदेवता को भी एक एप्लीकेशन लगाअाे की जिले के जलाशय भर जाए।

बैठक में प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना ने बिजली निगम के अधिकारियों से पूछा की बजट में नाथद्वारा में बजट घोषणा के दौरान भूमिगत बिजली के तार बिछाने की योजना की घोषणा की गई। उसका क्या हुआ। इस पर बिजली निगम के अधिकारी राजेश सांवरिया ने बताया कि नाथद्वारा में भूमिगत बिजली के तार बिछाने के लिए 55 करोड़ की डीपीआर तैयार कर दी है।

वहीं बैठक में स्कूल खेल मैदान पर अतिक्रमण का मुद्दा छाया रहा। इस पर प्रभारी मंत्री ने मुख्य जिला शिक्षाधिकारी मधुसूदन व्यास को अभियान चलाकर खेल मैदानों को अतिक्रमण मुक्त करवाने की बात कही। इसके लिए प्रशासन से हरसंभव मदद की बात कही गई।

बिजली निगम के कर्मचारियों को कॉन्फ्रेंस पर लेकर लोगों से बात करवाता हूं : रावत

राजसमंद. बैठक लेते मंत्री उदयलाल आंजना, जिला प्रभारी सचिव अपर्णा अरोड़ा।

जनता जल योजना का पैसा एफएफसी दें

अधिकांश गांवों में लाेगाें ने पैसा देना बंद कर दिया है इससे जनता जल योजना के बिजली के कनेक्शन तक कट गए है। ऐसेे में प्रभारी मंत्री ने सीईओ निमिषा गुप्ता को कहा कि सभी सचिवों को जनता जल योजना का पैसा एफएफसी फंड से देकर जनता को लाभ पहुंचाने की बात कही।

ऐसा कैसा गौरवपथ जो एक साल में ही टूट गया

भीम विधायक ने पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों को कहा कि ऐसा कौन सा गौरवपथ बनाया जो एक साल में ही टूट गया। खामलीघाट से देवगढ़ तक एक साल पहले गौरवपथ बनाया था। गौरवपथ का डामर, सीसी सड़क उखड़ गर्इ। वहीं गौरवपथ बनाने वाले ने राेड के बीच पोल इस प्रकार से लगाए जो हादसों को बुलावा दे रहे हैं।

पीपीपी माेड वाले अस्पताल बंद हों : प्रभारी मंत्री

पीपीपी माेड़ वाले अस्पताल बंद हो : प्रभारी मंत्री ने चिकित्सा विभाग की तरफ से पीपीपी मोड पर संचालित अस्तपतालों के बारे में बताया। इस पर सीएमएचओ डाॅ. जेपी बुनकर ने बताया कि चार अस्पताल पीपीपी माेड़ पर संचालित है। इस पर गजपुर पीएचसी के हालात खराब होने पर प्रभारी मंत्री ने बंद करने की बात कही। इसके साथ ही आरके अस्पताल में पीएमओ ने आरके अस्पताल 300 बेड का होने की बात कही।

भीम विधायक सुदर्शन सिंह रावत बैठक में आक्रमक अंदाज में आए। जहां बिजली निगम की व्यवस्थाओं पर नाराजगी जाहिर की। बताया कि शेखावास में एक बार बारिश के दौरान ट्रांसफार्मर जलने से पांच दिनों तक निगम ने सुध नहीं ली। लोगों ने मुझे फोन कर बताया। मैं लाइनमैन का काम कर रहा हूं। लाेगाें के फोन पर जेईएन को कॉन्फ्रेंस पर लेकर जेईएन को गांव में पांच दिन बिजली बंद होने की जानकारी दी। बताया कि ट्रांसफार्मर 72 घंटे में बदलना चाहिए। जिसकी जगह पर पांच दिनों तक निगम के अधिकारियों को पता तक नहीं चला।

नरेगा कार्मिकाें का नहीं हाे रहा भुगतान

भीम विधायक ने कहा कि नरेगा के भुगतान में काफी देरी हो रही है। दो से चार माह से भी अधिक समय लग रहा है। ऐसे में प्रभारी मंत्री ने सीईओ को भुगतान समय पर करने के निर्देश दिए।

फटकार लगाई : प्रभारी मंत्री के आने से पहले प्रभारी सचिव अपर्णा अरोड़ा ने बैठक ली। मोबाइल पर बात नहीं करने के निर्देश दिए। इसके बाद भ्ी बातचीत करने पर फटकार लगाई।

खबरें और भी हैं...