विज्ञापन

आतंकवाद को पनपाता तेरा हुआ अपमान रे, पापी पाकिस्तान अब तू मान रे..

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:11 AM IST

Rajsamand News - नाथद्वारा| साहित्यिक संस्था श्रीनाथ साहित्य संगम की मासिक काव्य गोष्ठी शुक्रवार रात को शहर के नया बाजार स्थित...

Nathdwara News - rajasthan news terrorism tears up insults you sinners now
  • comment
नाथद्वारा| साहित्यिक संस्था श्रीनाथ साहित्य संगम की मासिक काव्य गोष्ठी शुक्रवार रात को शहर के नया बाजार स्थित डाया भवन में हुई। अध्यक्षता संगम अध्यक्ष मदन सिंह रावल ने की। मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार भंवरलाल चपलोत तथा विशिष्ट अतिथि शरद बागोरा थे। गोष्ठी का आगाज सरस्वती वंदना से राजेंद्र सोमानी ने किया। अनुज श्रीवास्तव ने देख सखी रसरंग भयो, बड़ फागुन गोकुल आयो है..., यशवंत सिंह कोठारी ने श्याम रंग बरसोनी भर-भर कर पिचकारी..., श्रीनाथ चौधरी ने मन से न हार तू प्रय| कर बार-बार तू... डाॅ. धरम चंद मेहता ने वीर शौर्य पुत्र अभिनंदन तुम्हारा रचना प्रस्तुत कर विंग कमांडर अभिनंदन का शौर्य गान किया। डाॅ. भगवान लाल बंशीवाल ने आतंकवाद को पनपाता तेरा हुआ अपमान रे, पापी पाकिस्तान अब तू मान रे..., सुभाष सामोता ने पहले हमला हम करते नहीं, प्यार मोहब्बत सदियों से रही, अब वो पुराना भारत नहीं, जो छेड़ता है, उसे छोड़ता नहीं...। संगम अध्यक्ष मदन सिंह रावल ने कश्मीर हमारा हम कश्मीरी क्या केसर की घाटी है, तुम अपने वतन की धरा संभालो ये मेरे देश की माटी है... रचना के माध्यम से पाकिस्तान को ललकारा। श्यामसिंह गहलोत ने फागुन के महीने में ढफ ढोल बाजे है...., रमेशचंद्र मुथा ने दुपट्टा तो रखा है, पर वक्ष स्थल नहीं ढंका है..., भंवरलाल चपलोत ने ढलती उम्र और होली का दिन, सुनकर आहट पुरवाई की जाग उठा चेतन मन...., राजेंद्र सोमानी ने देश भक्ति गीत हर कर्म अपना करेंगे ये वतन तेरे लिए... रजनीकांता पुरोहित ने श्याम प्रभु की श्यामा बन गई...., शरद बागोरा ने सुबह-सुबह का सपना सच होता है..., प्रमोद सनाढ्य ने झोंका ठंडी हवा का हो, ये जिंदगी ये बयारों के संग यूं ही बह जाएगी..., तुलसीदास सनाढ्य ने होरी को उत्सव प्यारो आयो री..., शशिकांत महाकाली ने कोई टोपी तो कोई अपनी पगड़ी बैच देता है.... और मानप्रकाश लोधा ने गोष्ठी का संचालन करते हुए रूबरू होता नहीं है जिंदगी को गले लगाकर, एक बार रूह को रूह से मिलाकर तो देख रचना प्रस्तुत की।

नाथद्वारा. श्रीनाथ साहित्य संगम की काव्य गोष्ठी में काव्य पाठ करते हुए।

X
Nathdwara News - rajasthan news terrorism tears up insults you sinners now
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन