• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Rajsamand
  • Bhim News rajasthan news workers told the agony the workers involved in building construction had to pay brokerage to take advantage of government schemes

मजदूरों ने बताई व्यथा - भवन निर्माण से जुड़े श्रमिकों को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए देनी पड़ रही दलाली

Rajsamand News - भीम. जनसुनवाई में माैजूद जनसमुह (बाएं) अाैर समस्याए सुनते विधायक और अधिकारी। भास्कर न्यूज | भीम मजदूर किसान...

Bhaskar News Network

Oct 22, 2019, 07:46 AM IST
Bhim News - rajasthan news workers told the agony the workers involved in building construction had to pay brokerage to take advantage of government schemes
भीम. जनसुनवाई में माैजूद जनसमुह (बाएं) अाैर समस्याए सुनते विधायक और अधिकारी।

भास्कर न्यूज | भीम

मजदूर किसान शक्ति संगठन, सूचना एवं रोजगार अधिकार अभियान अाैर श्रम विभाग की तरफ से 16 अक्टूबर से शुरू हुई सामाजिक अंकेक्षण की प्रक्रिया अंतिम दिन साेमवार को जन सुनवाई हुई।

इसमें संयुक्त श्रम आयुक्त उदयपुर पीपी शर्मा, भवन एवं संनिर्माण कर्मकार मंडल के विधिक सलाहकार अनिल शर्मा, भीम देवगढ़ विधानसभा के विधायक सुदर्शन सिंह, श्रम कल्याण अधिकारी राजसमंद, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी दिनेश रॉय, बीडीअाे भीम डॉ. रमेश मीणा, सामाजिक कार्यकर्ता निखिल-डे, कर्नाटक में निर्माण एवं ग्रामीण मजदूराें के ग्राकूस के महासचिव अभय कुमार पैनल में माैजूद रहे।

जन सुनवाई की कार्रवाई भवन अाैर संनिर्माण कर्मकार मंडल की तरफ से निर्माण श्रमिकों के लिए विभाग की योजनाओं की जानकारी से हुई। जन सुनवाई में किस प्रकार दलालों और ई-मित्र वालों ने मिलकर हिताधिकारियों को लूटा है वह सबके लिए बहुत आश्चर्यजनक था। जन सुनवाई में लोगों ने बताया कि बिना दलाली के किसी का पंजीयन ही नहीं होता है। पंजीयन के लिए 300 से 1500 रुपए तक लिए जाते है और योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए 5000 से 25000 तक रुपए लेते है।

सामाजिक अंकेक्षण टीम ने घर-घर जाकर किया सत्यापन

सामाजिक अंकेक्षण टीम कुल 1370 परिवारों से मिली। उसमें से 509 पंजीकरण से संबंधित सत्यापन किया। वहीं 829 लोगों से योजनाओं से संबंधित आवेदनों से लेकर सत्यापन किया। जिसमें बड़ी तादाद में गड़बड़ियां सामने आई हैं।

ये रहे मौजूद :

राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय बैंगलोर के 21 विद्यार्थी, टाटा समाज विज्ञान संस्थान गुवाहटी के 5 सदस्य, शंकरसिंह, पारस बंजारा, रूपसिंह, विनीत, मुकेश निर्वासित, शुभांगी शुक्ला, चतरसिंह, बालूलाल, लक्ष्मी, सुशीला, मीरा, चुनी आदि संगठन के पदाधिकारी थे।

विधायक और अधिकारी बाेले : बिचौलिये कर रहे हैं गड़बड़




दलाली अाैर रिश्वतखोरी के ये हैं मामले

कुंडाल की गुआर से अाए प्रेम सिंह ने बताया कि उनकी प|ी का श्रमिक कार्ड बना है। उनकी प|ी की माैत हो गई है। श्रम विभाग की योजना के तहत निर्माण श्रमिक की मौत होने पर 2 लाख का बीमे का प्रावधान है। श्रमिक विभाग से दाे लाख का फायदा मिला। उस परिवार में कमाने वाले कोई नहीं था। उस परिवार में एक ही महिला है जो नरेगा में जाकर अपने परिवार का गुजारा चलाती है। तो 2 लाख तो पास हो गए पर ई मित्र वाले ने 30000 मांगे और रोज उस परिवार को फोन कर परेशान करता है। वहीं गांव चाकहिरात की सुशीला देवी ने शुभशक्ति का फॉर्म पास कराने के लिए 2500 रुपए का चेक अाैर 1000 रुपए नकद दिए। लेकिन आज तक कोई सहायता राशि नहीं मिली। सोहनी देवी आठोलिया के खाते में अब तक कोई राशि नहीं अार्इ। 19 मई 2016 को सोहनी देवी का ऑनलाइन दिखा रहा है लेकिन खाते में 18000 रुपए नहीं मिले। कुंदन देवी सदारण के अभी तक कोई राशि नहीं मिली। हर बार 300 रुपए देने पड़े। दस्तावेज पूरा करने पर 50 रुपए दिये। एक ही व्यक्ति की बना दी हैं दो यूजर आडी और श्रमिक डायरी किसी की लाभ किसी को दे दिया गया। प्रेमी देवी प|ी नारायण लाल जो भैरूखेड़ा, आमनेर ने बताया कि ई-मित्र संचालक ने दो यूजर अाईडी बना दी है। इसके नंबर बी30/2017/0002888 एवं बी30/2016/0211682 है। सामाजिक अंकेक्षण टीम ने बताया कि इनकी केवल एक ही आईड़ी का रिकॉर्ड हमें उपलब्ध कराया है। बताया कि मैंने शुभशक्ति योजना के लिए आवेदन दिया लेकिन अभी आवेदन पेंडिंग फिजिकल वेरिफिकेशन दिखा रहा है। बताया कि बच्चों की छात्रवृत्ति के लिए 6 आवेदन किए लेकिन आज तक लाभ नहीं मिला। इनका जो रिकॉर्ड जन सूचना पोर्टल पर जो आईडी दी है उसमें उनको 6 छात्रवृत्ति का 90 हजार रुपए का लाभ मिल चुका है और उनका पैसा मरुधरा ग्रामीण बैंक में जा चुका है। जबकि आवेदक ने बताया कि उनका खाता तो केवल बैंक ऑफ बड़ौदा में है। जबकि ये जो लाभ है वह उदयपुर के मावली में गया है।

Bhim News - rajasthan news workers told the agony the workers involved in building construction had to pay brokerage to take advantage of government schemes
X
Bhim News - rajasthan news workers told the agony the workers involved in building construction had to pay brokerage to take advantage of government schemes
Bhim News - rajasthan news workers told the agony the workers involved in building construction had to pay brokerage to take advantage of government schemes
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना