Hindi News »Rajasthan »Rani» वर्ल्ड कप जिम्नास्टिक में चौथा स्थान पाने वाले राकेश पात्रा को कॉमनवेल्थ गेम्स में मौका नहीं

वर्ल्ड कप जिम्नास्टिक में चौथा स्थान पाने वाले राकेश पात्रा को कॉमनवेल्थ गेम्स में मौका नहीं

मेलबर्न में आयोजित जिम्नास्टिक वर्ल्ड कप में पुरुषों के रिंग इवेंट में चौथा स्थान पाने वाले राकेश पात्रा का नाम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 05, 2018, 06:10 AM IST

वर्ल्ड कप जिम्नास्टिक में चौथा स्थान पाने वाले राकेश पात्रा को कॉमनवेल्थ गेम्स में मौका नहीं
मेलबर्न में आयोजित जिम्नास्टिक वर्ल्ड कप में पुरुषों के रिंग इवेंट में चौथा स्थान पाने वाले राकेश पात्रा का नाम कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए तैयार की गई लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है। ओडिशा के राकेश वर्ल्ड कप में रिंग इवेंट के अलावा पैरलल बार में भी फाइनल में पहुंचे थे। मौजूदा रिकॉर्ड के अनुसार अगर राकेश कॉमनवेल्थ गेम्स में वर्ल्ड कप का रिकॉर्ड दोहरा पाते तो उन्हें सिल्वर मेडल मिलता। कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए जिम्नास्टों का ट्रायल साई ने आयोजित किया है। साई ने ही लिस्ट तैयार की है।

राकेश ने कहा कि उन्होंने ट्रायल में तीन इवेंट में भाग लिया। इसमें से रिंग और पैरलल बार में वह पहले नंबर पर थे। जबकि हॉरीजेंटल बार में तीसरे नंबर पर थे। राकेश का नाम न भेजे जाने पर ओडिशा जिम्नास्टिक एसोसिएशन के सेक्रेटरी अशोक साहू ने खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, भारतीय ओलिंपिक संघ और भारतीय जिम्नास्टिक फेडरेशन ऑफ इंडिया को पत्र लिखकर आपत्ति जताई है।

इस बारे में पूछे जाने पर साई अधिकारी इंद्रजीत पाब्ला ने सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि साई ने ओवरऑल प्रदर्शन को ही आधार बनाया और इसमें वे टॉप-5 में नहीं आ सके।

ओडिशा के जिम्नास्ट ने साई पर लगाया भेदभाव का आरोप

इंडिविजुअल नहीं सभी अपरेटस के प्रदर्शन को दी अहमियत

राकेश रिंग इवेंट के स्पेशलिस्ट जिम्नास्ट हैं। वे पैरलल बार्स में भी अच्छा परफॉर्म करते हैं। लेकिन, कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए इंडिविजुअल की जगह सभी अपरेटस को मिलाकर ओवरऑल प्रदर्शन को अहमियत दी गई है। साहू ने पत्र में इसका भी विरोध किया है। भारत को इस बार कॉमनवेल्थ में 7 कोटा स्थान मिले हैं। छह आर्टिस्टिक और एक रिदमिक जिम्नास्टिक में। इस बार महिला वर्ग में दीपा कर्माकर चोटिल होने के कारण भाग नहीं ले रही हैं।

भारतीय टीम के चीफ कोच को नहीं है कोई जानकारी

उधर भारतीय जिम्नास्टिक टीम के चीफ कोच और चयन समिति के सदस्य बीएस बावा का कहना है कि ट्रायल उनकी निगरानी में आयोजित हुआ था। क्राइटेरिया बाद में क्यों डिसाइड हुआ, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। साथ ही किस जिम्नास्टिक का नाम भेजा गया है, इसकी जानकारी भी उन्हें नहीं है।

राकेश पात्रा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rani

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×