--Advertisement--

फेसबुक बिल्डिंग का वास्तु दोष!

Rani News - फेसबुक बिल्डिंग का वास्तु दोष! दिल्ली में फेसबुक का मुख्यालय पहले होटल ताज मान सिंह में होता था। कुछ साल पहले...

Dainik Bhaskar

Apr 04, 2018, 06:25 AM IST
फेसबुक बिल्डिंग का वास्तु दोष!
फेसबुक बिल्डिंग का वास्तु दोष!

दिल्ली में फेसबुक का मुख्यालय पहले होटल ताज मान सिंह में होता था। कुछ साल पहले फेसबुक ने आईटीओ के पास जमीन खरीदी और फिर वहां फेसबुक बिल्डिंग बनाई गई। लेकिन इस नए कार्यालय में शिफ्ट होने के फौरन बाद फेसबुक के लिए समस्या शुरू हुई। लोग कहने लगे हैं कि फेसबुक ने वास्तु पूजा नहीं कराई थी ना, इसीलिए।

रेशम की डोरियां

अरुण जेटली हाल ही में किसी विवाह समारोह में जा रहे थे। उनके सहायक ने उनकी अल्मारी से निकाल कर कच्चे रेशम का एक शानदार सा नीला कुर्ता पायजामा दिया। अरुण जी सोच में पड़ गए कि यह कुर्ता उन्होंने कब खरीदा था। फिर उनकी नजर कुर्ते में गर्दन के पास लगे निशान पर गई। लिखा था- विस्ब बांग्ला। अब सब याद आ गया। यह कुर्ता अरुण जेटली को ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा के बाद विजयादशमी पर उपहार में भेजा था। अब बीजेपी-टीएमसी झगड़ा जो भी हो, कुर्ता पायजामा तो अच्छा ही है।

संसद में जन्मदिन

टीएमसी की सांसद और अभिनेत्री मुनमुन सेन ने हाल ही में अपना जन्मदिन संसद भवन में मनाया था। ममता बनर्जी उस दिन दिल्ली में थीं। एक दिन पहले वह संसद भी गई थीं, हालांकि मुनमुन सेन के जन्मदिन पर दीदी संसद नहीं गईं। लेकिन दीदी ने अपनी पार्टी के सभी सांसदों को निर्देश दिया था वहां जाकर जन्मदिन भी मनाएं और दीदी के लिए केक भी लेकर आएं। लिहाजा डेरेक ओ’ब्रायन ने संसद भवन में तृणमूल कांग्रेस के पार्टी कार्यालय में केक काटने और पार्टी का आयोजन किया।

ऐसे मना पाकिस्तान दिवस

इस बार पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस पर पाकिस्तान के उच्चायुक्त इस्लामाबाद में थे और इस बार आखिरी क्षण तक थोड़ा तनाव भी था। हुर्रियत का कोई वरिष्ठ नेता नहीं आया। लेकिन होते-होते जोश और जश्न परवान चढ़ गया। रोशनी-फूलों की सजावट- मंच और शानदार दावत। न केवल गैर शाकाहारी बिरयानी और कबाब, बल्कि शाकाहारी भिंडी और परवल भी। पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना था कि हमारे उच्चायुक्त और उप उच्चायुक्त- दोनों की जोड़ी जबर्दस्त है।

संगठन में होगा फेरबदल!

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी अपने मुख्यमंत्री नहीं बदलेगी। लेकिन फिर भी असंतुष्ट नेता दिल्ली आकर प्रधानमंत्री और पार्टी अध्यक्ष से मिलकर कोशिशें बनाए हुए हैं। हालांकि दोनों शीर्ष नेता कह चुके हैं कि अब कोई मुख्यमंत्री नहीं बदला जाएगा, लेकिन संगठन में बदलाव होने वाला है। कुछ नेता संगठन से हटाए जाएंगे और कुछ शामिल किए जाएंगे। अटकलें तेज चल रही हैं।

मोदी फॉर फिलिस्तीन

फिलिस्तीन के घर विहीन शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के राहत फंड में अमेरिकी योगदान ट्रम्प ने बंद कर दिया है। और मोदीजी ने क्या किया? भारत ने हाल ही में इस फंड में अपना योगदान दोगुना कर दिया है। तो क्या यह भारतीय मुसलमानों के लिए मोदी जी का संदेश है? क्या मोदी जी भारतीय मुसलमानों को लुभाना चाहते हैं? विदेश मंत्रालय का कहना है कि यह न केवल भारत, बल्कि दुनिया भर के लिए एक मजबूत धर्मनिरपेक्ष संदेश है।

जेटली का जलवा

भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी सीमांचल दास उस समय से अरुण जेटली के निजी सचिव थे, जब अरुण जेटली राज्यसभा में विपक्ष के नेता होते थे। वित्त मंत्री बनने के बाद भी कुछ महीने पहले तक सीमांचल दा अरुण जेटली के निजी सचिव बने रहे। अब सीमांचल दा ने फिर वापसी की है और वे प्रवर्तन निदेशालय में प्रिंसिपल स्पेशल डायरेक्टर बनाए गए हैं। यह पद सृजित किया गया है। नया पद सृजित किया जाना उन लोगों को एक जवाब है, जो कहते थे कि जेटली का जलवा कम हो गया है।

टीएमसी माने टेढ़ी-मेढ़ी कांग्रेस

राहुल गांधी दलित मुद्दे पर सभी पार्टियों के प्रतिनिधिमंडल लेकर राष्ट्रपति के पास गए थे। उन्होंने दलित सम्मेलन की घोषणा भी की थी। लेकिन इस कवायद में तृणमूल कांग्रेस शामिल नहीं हुई। क्यूं भला?

सिर्फ 26 पास हुए

परिवीक्षाधीन आईपीएस अधिकारियों के 69वें बैच के जिन अधिकारियों का प्रशिक्षण राष्ट्रीय पुलिस अकादमी हैदराबाद में चल रहा है, उनमें 160 परिवीक्षाधीन अधिकारियों में से 134 अधिकारी पिछले 6 महीनों में असफल हो चुके हैं।

इम्पेनलमेंट की सिफारिश

रिटायर्ड अधिकारियों की वरिष्ठ समिति, जिसने अतिरिक्त सचिव इम्पेनलमेंट के लिए 1989 और 1990 के दो बैचों की समीक्षा की थी, 1989 बैच के 35-40 और 1990 बैच के 40-42 अधिकारियों के नाम का सुझाव देने जा रही है।

सरकारी दारू!

भारतीय संसद ने 1950 के दशक की शुरुआत में ही यह संकल्प पारित किया था कि किसी सरकारी कार्यालय या सरकारी समारोह में शराब नहीं परोसी जाएगी। लेकिन मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी प्रशिक्षु अधिकारियों के लिए पूरा बार चलाती है।

स्मृति ईरानी बनाम प्रसार भारती

स्मृति ईरानी बनाम प्रसार भारती लड़ाई जारी है। लेकिन स्मृति ईरानी को पीएम का पूरा विश्वास प्राप्त है। प्रश्न यह है कि प्रसार भारती अध्यक्ष को किसका समर्थन हासिल है? सुना यह गया है कि आरएसएस का एक वर्ग प्रसार भारती अध्यक्ष का समर्थन कर रहा है। उधर मैडम को भी स्मृति ईरानी कहते हैं। उनका कहना है कि सुधार करना हो, तो आपको इन चीजों का सामना करना पड़ता है।

X
फेसबुक बिल्डिंग का वास्तु दोष!
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..