• Home
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • 62 साल में पहली बार हुए जिले की पहली और सबसे बड़ी महिला शिक्षण संस्था विद्याबाड़ी ट्रस्ट के चुनाव, 3 वोट से जीते पोपटलाल
--Advertisement--

62 साल में पहली बार हुए जिले की पहली और सबसे बड़ी महिला शिक्षण संस्था विद्याबाड़ी ट्रस्ट के चुनाव, 3 वोट से जीते पोपटलाल

21 सदस्यों की कार्यकारिणी में शाह खेमे के 11 तो सुंदेशा ग्रुप के 10 सदस्य जीते, अब उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष एवं सचिव पद...

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 06:30 AM IST
21 सदस्यों की कार्यकारिणी में शाह खेमे के 11 तो सुंदेशा ग्रुप के 10 सदस्य जीते, अब उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष एवं सचिव पद का होगा मनोनयन

भास्कर संवाददाता | पाली

जिले के रानी कस्बे के पास खीमेल में जैन समाज द्वारा संचालित पहली और सबसे बड़ी महिला शिक्षण संस्था विद्याबाड़ी के संचालक ट्रस्ट के मंडल के 62 साल में पहली बार चुनाव हुए। इससे पहले तक यह चुनाव ट्रस्ट मंडल के सभी सदस्य मिलकर आपसी सहमति के आधार पर मनोनयन के माध्यम से करवाते थे। पहली बार प्रोग्रेसिव ग्रुप की चुनौती के बाद रविवार को मुंबई में कालबादेवी रोड स्थित भाटिया महाजनवाड़ी में मतदान हुआ। ट्रस्ट मंडल के कुल 401 सदस्यों में से 292 ने वोट डाले। अध्यक्ष पद के लिए सादड़ी निवासी मुंबई में ऑप्टिकल फाइबर कैबल व रियल एस्टेट कारोबारी पोपटलाल एफ सुंदेशा तथा जवाली मूल के मुंबई में यूनिक इंटरनेशनल के ग्लोबल डिस्ट्रिब्यूटर माणिक एम शाह मैदान में थे। मतगणना में सुंदेशा को 147 वोट मिले जबकि शाह को 144 वोट। जबकि एक वोट खारिज हो गया। निर्वाचन अधिकारी ने 3 वोट से सुंदेशा को विजेता घोषित किया। इसी तरह कार्यकारिणी के 21 सदस्यों के लिए कुल 43 लोग चुनाव मैदान में थे। इनमें सर्वाधिक 177 वोट सादड़ी के व्यवसायी प्रदीप जी. राठौड़ को मिले। कार्यकारिणी में 21वें नंबर पर सुरेश खजांची को 138 वोट मिले।

सादड़ी मूल के मुंबई में व्यवसायी पोपटलाल एफ सुंदेशा ने 3 वोट से हराया जवाली के प्रवासी माणिक एम शाह को

जिले में जैन समाज से जुड़ी संस्था मरुधर महिला शिक्षण संघ, रानी के प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में 401

सदस्यों में से 292 ने वोट डाले, सुंदेशा को 147 तो शाह को 144 वोट मिले

जिले का पहला महिला विश्वविद्यालय जल्द शुरू होगा

अध्यक्ष पद पर निर्वाचित पोपटलाल एफ सुंदेशा ने भास्कर को बताया कि मतदान सिर्फ एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया थी। ट्रस्ट मंडल के सभी साथियों को साथ लेकर वे पाली जिले में महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्थापित विद्याबाड़ी के विकास एवं विस्तार के लिए काम करेंगे। पूर्ववर्ती ट्रस्ट मंडल के प्रयासों से जिले के पहले महिला विश्वविद्यालय के लिए लैटर ऑफ इंटेंट जारी हो चुका है। इसी साल पीजी कक्षाएं एवं व्यावसायिक पाठ्यक्रम शुरू कर बेटियों के लिए अन्य सुविधाएं भी जुटाई जाएंगी।

ये जीते कार्यकारिणी सदस्य

प्रदीप जी. राठौड़ को सर्वाधिक 177 वोट मिले। इनके साथ पारसमल एम संचेती, नवरतन सी. मेहता, जेठमल बी. सिरोया, युक्ति एम. खजांची, प्रकाश बी. जैन, अरविंद पी. राणावत, बख्तावर सी रांकावत, इंदरचंद एम राणावत, चंदा एम. परमार, हेमंत पी जैन, कैलाश टी. कावेरिया, हरीश बी. सुराणा, भरत ए. परमार, संजय बी. सिरोया, जुगराज डी. जैन, कल्याण ए. तालीसरा, सुरेश के. जोधा, महावीर एस. लोढ़ा, लाभचंद पी. मेहता व सुरेंद्र एस. खजांची निर्वाचित घोषित किए गए।