• Hindi News
  • Rajasthan
  • Rani
  • मोदी जी अगर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं तो हम ममता जी से क्यों नहीं : राउत
--Advertisement--

मोदी जी अगर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं तो हम ममता जी से क्यों नहीं : राउत

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 06:40 AM IST

Rani News - नई दिल्ली | एनडीए में शामिल शिव सेना ने अपने नेताओं की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता...

मोदी जी अगर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं तो हम ममता जी से क्यों नहीं : राउत
नई दिल्ली | एनडीए में शामिल शिव सेना ने अपने नेताओं की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात पर बुधवार को सफाई दी। सेना के संजय राऊत ने कहा, ‘अगर हमारे प्रधानमंत्री पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं, तो हम ममता जी से क्यों नहीं मिल सकते? वे भारतीय हैं और एक बड़े राज्य की मुख्यमंत्री हैं। कोई अछूत नहीं हैं।’ राऊत ने कहा कि ममता पूर्व में एनडीए का हिस्सा रही हैं और अगर इस बार भी एनडीए में होती, तो क्या होता? वहीं भाजपा नेता और यूपी के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि ममता बनर्जी राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका में आने की कोशिश कर रही हैं। उनका एंटी-बीजेपी मोर्चा बनाने का सपना मृगतृष्णा जैसा है। उधर, भाजपा ने ममता पर पश्चिम बंगाल के हालात पर ध्यान देने के बजाय दिल्ली में राजनीति चमकाने का आरोप लगाया है।





दरअसल, सोमवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान रानीगंज में हिंसा हुई थी जिसमें दो लोगों की मौत और कई लोग घायल हो गए थे। इस पर भाजपा के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल का रानीगंज कभी न खत्म होने वाली हिंसा के चक्र में घिर गया है। मीडिया-प्रशासन चुप है, जबकि ममता बनर्जी दिल्ली में राजनीति करने में व्यस्त हैं।’ ममता बनर्जी दो दिनों से दिल्ली में हैं और चुनावी रणनीति के लिए विभिन्न दलों के नेताओं से मुलाकात कर रही हैं।

नई दिल्ली | एनडीए में शामिल शिव सेना ने अपने नेताओं की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात पर बुधवार को सफाई दी। सेना के संजय राऊत ने कहा, ‘अगर हमारे प्रधानमंत्री पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं, तो हम ममता जी से क्यों नहीं मिल सकते? वे भारतीय हैं और एक बड़े राज्य की मुख्यमंत्री हैं। कोई अछूत नहीं हैं।’ राऊत ने कहा कि ममता पूर्व में एनडीए का हिस्सा रही हैं और अगर इस बार भी एनडीए में होती, तो क्या होता? वहीं भाजपा नेता और यूपी के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि ममता बनर्जी राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका में आने की कोशिश कर रही हैं। उनका एंटी-बीजेपी मोर्चा बनाने का सपना मृगतृष्णा जैसा है। उधर, भाजपा ने ममता पर पश्चिम बंगाल के हालात पर ध्यान देने के बजाय दिल्ली में राजनीति चमकाने का आरोप लगाया है।





दरअसल, सोमवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान रानीगंज में हिंसा हुई थी जिसमें दो लोगों की मौत और कई लोग घायल हो गए थे। इस पर भाजपा के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल का रानीगंज कभी न खत्म होने वाली हिंसा के चक्र में घिर गया है। मीडिया-प्रशासन चुप है, जबकि ममता बनर्जी दिल्ली में राजनीति करने में व्यस्त हैं।’ ममता बनर्जी दो दिनों से दिल्ली में हैं और चुनावी रणनीति के लिए विभिन्न दलों के नेताओं से मुलाकात कर रही हैं।

X
मोदी जी अगर नवाज शरीफ से मिल सकते हैं तो हम ममता जी से क्यों नहीं : राउत
Astrology

Recommended

Click to listen..