• Home
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • राजस्थान दिवस को लेकर निकाली ऐतिहासिक शोभायात्रा, प्रदर्शनी से विकास की गाथा बताई
--Advertisement--

राजस्थान दिवस को लेकर निकाली ऐतिहासिक शोभायात्रा, प्रदर्शनी से विकास की गाथा बताई

पाली. प्रदर्शनी का अवलोकन करते प्रशासनिक अधिकारी। भास्कर संवाददाता | पाली राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष्य...

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 06:40 AM IST
पाली. प्रदर्शनी का अवलोकन करते प्रशासनिक अधिकारी।

भास्कर संवाददाता | पाली

राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में जिला प्रशासन और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की ओर से हरीशचंद्र माथुर वाचनालय में आयोजित विकास एवं हस्तशिल्प प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। प्रदर्शनी का कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा ने फीता काटकर उद्घाटन किया। उन्होंने वाचनालय में मौजूद युवाओं से भी चर्चा की और प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के टिप्स दिए। एडीएम भागीरथ विश्नोई ने भी इस दौरान प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए इसकी सराहना की। प्रदर्शनी में चार साल से अधिक समय में कराए गए विकास कार्यों, जिले में चल रही विभिन्न परियोजनाओं, कार्यक्रमों, जिले के ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थलों, वन्य जीवों आदि को दर्शाया गया है।

शोभायात्रा निकाली : जिला प्रशासन की ओर से शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में मीरा से लेकर मूमल और पन्नाधाय से लेकर अमृता विश्नोई से जुड़ी झांकियों ने राजस्थान के ऐतिहासिक गौरव व लोक संस्कृति की झलकियां प्रस्तुत कीं। इस दौरान कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, नगर परिषद सभापति महेंद्र बोहरा, एडीएम भागीरथ विश्नोई ने शोभायात्रा को लोढ़ा स्कूल से रवाना किया। शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए नेहरू गार्डन में संपन्न हुई। शोभायात्रा में शनिधाम आलावास का बैंड दल, नासिक बैंड दल, झंडा दल, दुर्गा वाहिनी दल, गैर नृत्य दल, बालिका दल, घोड़लिया दल सहित विभिन्न दलों ने अपनी प्रस्तुतियां दीं।

30 मार्च को होगा सांस्कृतिक समारोह : राजस्थान दिवस के उपलक्ष्य में जिले में चल रहे कार्यक्रमों के सिलसिले में शुक्रवार को विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। एडीएम भागीरथ बिश्नोई ने बताया कि शुक्रवार को नगर परिषद टाऊन हाॅल में शाम 7 से 9 बजे तक सांस्कृतिक समारोह का आयोजन किया जाएगा। इसमें स्थानीय कलाकारों द्वारा लोकरंग और देशभक्ति की खुशबू से भरे कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद आतिशबाजी की जाएगी। इसी क्रम में 29 व 30 मार्च को ऐतिहासिक स्थलों, कलेक्ट्रेट, सोमनाथ मंदिर, पुरानी कचहरी, राजकीय बांगड़ म्यूजियम, आम चौराहों व सरकारी भवनों पर नगर परिषद की ओर से रोशनी की व्यवस्था की जाएगी।

पाली. राजस्थान दिवस पर केसरिया साफा पहनकर निकली नारीशक्ति।