• Home
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • मानवाधिकार आयोग की जनसुनवाई में 35 प्रकरण, पेंशन मामलाें में अधिकारियों को चेताया
--Advertisement--

मानवाधिकार आयोग की जनसुनवाई में 35 प्रकरण, पेंशन मामलाें में अधिकारियों को चेताया

राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष प्रकाश टाटिया ने सर्किट हाउस में की जनसुनवाई, मारपीट और होमगार्ड के दो महीने से...

Danik Bhaskar | Mar 06, 2018, 06:45 AM IST
राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष प्रकाश टाटिया ने सर्किट हाउस में की जनसुनवाई, मारपीट और होमगार्ड के दो महीने से वेतन नहीं मिलने के मामले में मांगी रिपोर्ट

भास्कर संवाददाता | पाली

राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष प्रकाश टाटिया सोमवार को पाली पहुंचे। यहां सर्किट हाउस में करीब 35 प्रकरणों पर जनसुनवाई करते हुए उनके निस्तारण का आश्वासन दिया। इससे उन्होंने पूर्व कलेक्टर समेत सभी जिला अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में अध्यक्ष टाटिया ने पेंशन और सिलिकोसिस जैसी जानलेवा बीमारी को लेकर गंभीरता दिखाई। पेंशन प्रकरण पर उन्होंने अधिकारियों को भावुकता भरा संदेश देते हुए कहा कि यदि कोई अपना ही परिवार का सदस्य पेंशन के लिए चक्कर काटे तो कैसा लगता है? इस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को चेतावनी देते हुए यह भी कहा कि यदि नियमों का हवाला देकर 6 महीने से ज्यादा पेंशन रोकी तो संबंधित अधिकारी से व्यक्तिगत पैनल्टी वसूली जाएगी। जनसुनवाई में उन्होंने होमगार्ड को दो महीने से नहीं मिल रहे वेतन और पुलिस द्वारा परिवार के सदस्यों से मारपीट करने के मामले में एसपी से रिपोर्ट भी मांगी है। इस अवसर पर कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, एडीएम भागीरथ विश्नोई और एएसपी ज्योति स्वरूप शर्मा समेत कई जिला अधिकारी मौजूद थे।

2 नेशनल और 12 स्टेट खेल चुकी पॉवर लिफ्टिंग खिलाड़ी और उसकी मां आर्थिक सहायता के लिए पहुंची जनसुनवाई में

, कलेक्टर ने मदद के लिए किया आश्वस्त

पेंशन और सिलिकोसिस पर गंभीर नजर आए अध्यक्ष टाटिया

जनसुनवाई से पूर्व हुई बैठक में राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष प्रकाश टाटिया पेंशन प्रकरणों के साथ ही सिलिकोसिस जैसी जानलेवा बीमारी पर गंभीर नजर आए। उन्होंने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को हिदायत दी कि वे समय पर मरीजों की जांच कर उन्हें आर्थिक सहायता पहुंचाएं। साथ ही बोर्ड के जो फर्जी नियम है उन पर भी निगरानी रखें। इसके अलावा उन्होंने इन मरीजाें की समय पर जांच के लिए मोबाइल वैन भी चलाने के निर्देश दिए।

सर्किट हाउस में जनसुनवाई करते आयोग अध्यक्ष टाटिया।

जनसुनवाई में आई नेशनल पॉवर लिफ्टिंग खिलाड़ी, मां-बोली आर्थिक तंगी से प्रयास नहीं कर पा रही

जनसुनवाई में नेशनल खेल चुकी पॉवर लिफ्टिंग खिलाड़ी भरोसा वेद अपनी मां भगवती के साथ पेश हुई। उसकी मां ने बताया कि आर्थिक हालात सही नहीं होने की वजह से उसकी बेटी प्रयास भी नहीं कर पाती, वहीं हर बार नेशनल प्रतियोगिता में जाने के लिए खर्चा भी ज्यादा वहन करना पड़ता है। इसके लिए उन्होंने आर्थिक सहायता की मांग की। इस पर कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा ने आश्वस्त किया कि खिलाड़ी के आर्थिक मदद को लेकर मदद की जाएगी।

जनसुनवाई में ऐसे-ऐसे मामले आए सामने, मांगी रिपोर्ट