--Advertisement--

सीरिया: रासायनिक हमले के बाद एयरबेस पर हमला

डूमा शहर में 3 महीने में यह चौथा कैमिकल अटैक है। सीरिया में छह साल में 17 कैमिकल अटैक हुए हैं। इनमें 2 हजार लोग मारे गए...

Dainik Bhaskar

Apr 10, 2018, 04:50 AM IST
सीरिया: रासायनिक हमले के बाद एयरबेस पर हमला
डूमा शहर में 3 महीने में यह चौथा कैमिकल अटैक है। सीरिया में छह साल में 17 कैमिकल अटैक हुए हैं। इनमें 2 हजार लोग मारे गए हैं।

ट्रम्प ने असद को जानवर बताते हुए उसे मदद कर रहे रूस-ईरान को दी थी धमकी

दमिश्क| सीरिया में कथित रासायनिक हमले के बाद एक एयर बेस पर मिसाइल हमला हुआ है। इसमें ईरानी सैनिक समेत 14 लोग मारे गए हैं। सीरिया की सरकारी मीडिया सना के मुताबिक सोमवार को सूर्योदय से ठीक पहले टी-4 एयरबेस पर एक के बाद एक आठ मिसाइलें दागी गईं। मीडिया रिपोर्ट में इस हमले के पीछे अमेरिका का हाथ बताया गया। क्योंकि डूमा शहर में केमिकल अटैक के बाद अमेरिका ने कहा था कि इस हमले के लिए रूस और सीरियाई सेना जिम्मेदार है और वो इसका बदला लेकर रहेगी। सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के सबसे बड़े सहयोगी रूस ने इस हमले के पीछे इजरायल का हाथ बताया है।

ट्रम्प की धमकी के कुछ घंटों बाद सीरियाई बेस कैंप पर गिरी 8 मिसाइलें, ईरानी सैनिक समेत 14 की मौत

रूस का दावा- इजरायल ने गिराईं मिसाइलें, 8 में से 5 मिसाइलों को रास्ते में ही तबाह किया

इराक के बाद सीरिया से भी आईएस आतंकियों का लगभग सफाया हो चुका है।

रूस का दावा है कि इजरायली विमानों ने लेबनान की तरफ से हमले किए। इजरायल ने कोई टिप्पणी नहीं की।

भूमध्य सागर

इजराइल

डूमा में रासायनिक बैरल बम हेलीकॉप्टर से गिराया गया: वाइट हेलमेट

इदलिब

यह सीरिया का आखिरी प्रांत है जो असद की सेना से दूर है। यहां विद्रोही गुट हयात तहरीर का कब्जा है। 25 लाख लोग रहते हैं, जिनमें 10 लाख लोग विस्थापित हुए हैं।

लेबनान

तुर्की

अलेप्पो

होम

असद का क्षेत्र

दमिश्क

घाेउटा




यहां के डूमा शहर में रविवार को हुए रासायनिक हमले में 70 मौतें हुई हैं। सीरियाई सेना ने खुद पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया है।

अाफरीन ये कुर्दों का गढ़ है। ये पश्चिम-उत्तर में तुर्की और दक्षिण-पूर्व में तुर्की समर्थक विद्रोहियों से घिरा है। तुर्की 20 जनवरी से यहां कुर्दों पर सैन्य कार्रवाई कर रहा है।

सीरिया

टी-4 एयबेस

रूस के मुताबिक इजरायल ने 8 मिसाइलें छोड़ी। सीरियाई एयर डिफेंस सिस्टम ने 8 में से 5 मिसाइलों को मार गिराया।




एसडीएफ

दियर इजोर

इराक

इस पूर्वी प्रांत को सीरियाई सेना ने आईएस से छुड़ा लिया है। सेना फरात नदी के पश्चिमी हिस्से पर, जबकि अमेरिका समर्थित एसडीएफ फोर्स नदी के पूर्वी हिस्से में काबिज है। यहां हाल ही में यूनिवर्सिटी और कॉलेज खुले हैं।




इदलिब-पूर्वी घोउटा में ही बचे विद्रोही गुट

आफरीन: तुर्की कुर्द लड़ाकों की संस्था वाईपीजी को आतंकवादी संगठन और प्रतिबंधित गुट पीकेके की शाखा मानता है। वाईपीजी अमेरिका का सहयोगी गुट है, जिसने सीरिया में आईएस को खत्म करने में भूमिका निभाई है। आईएस के खात्मे के बाद अमेरिका ने यहां से सेना हटाने की घोषणा की है।

घोउटा प्रांत: राजधानी दमिश्क के बाहर पूर्वी घोउटा विद्रोहियों का गढ़ है। बीते कुछ हफ्तों में इस इलाके पर असद की सेना ने हवाई और टैंकों से भारी हमले किए हैं। इनमें 2 हजार से ज्यादा लोग मारे गए। इस इलाके में अलगाववादी गुट जैश अल इस्लाम का नियंत्रण है। अब 90% से ज्यादा हिस्सों पर सेना का कब्जा है।

X
सीरिया: रासायनिक हमले के बाद एयरबेस पर हमला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..