• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • हीना ने दूसरी बार एक ही कॉमनवेल्थ में सिल्वर और गोल्ड दोनों मेडल जीते
--Advertisement--

हीना ने दूसरी बार एक ही कॉमनवेल्थ में सिल्वर और गोल्ड दोनों मेडल जीते

गोल्ड कोस्ट | कॉमनवेल्थ गेम्स के छठे दिन भारत को एक गोल्ड और एक ब्रॉन्ज मेडल मिला। 25 मीटर पिस्टल शूटिंग में हीना...

Dainik Bhaskar

Apr 11, 2018, 05:05 AM IST
हीना ने दूसरी बार एक ही कॉमनवेल्थ में सिल्वर और गोल्ड दोनों मेडल जीते
गोल्ड कोस्ट | कॉमनवेल्थ गेम्स के छठे दिन भारत को एक गोल्ड और एक ब्रॉन्ज मेडल मिला। 25 मीटर पिस्टल शूटिंग में हीना सिद्धू ने गोल्ड दिलाया। हीना ने ऑस्ट्रेलिया की एलेना गैलियाबोविच और मलेशिया की आलिया सजाना अजाहारी को पछाड़कर गोल्ड जीता। 2 दिन पहले ही हीना 10 मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर मेडल भी जीत चुकी हैं। ये दूसरा मौका है, जब हीना सिद्धू ने एक ही कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड और सिल्वर दोनों जीते हैं। इससे पहले उन्होंने 2010 कॉमनवेल्थ में भी पेयर्स 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड और 10 मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर मेडल जीता था। भारत के इस कॉमनवेल्थ में अब 11 गोल्ड सहित कुल 21 मेडल हो गए हैं। भारत मेडल टैली में तीसरे स्थान पर है।

गोल्ड कोस्ट से... पैरालिफ्टिंग में ब्रॉन्ज, बॉक्सिंग में भी 6 मेडल पक्के

पैरा पावर लिफ्टिंग| सचिन ने 181 किलो वेट उठा जीता ब्रॉन्ज

पैरा पावरलिफ्टर सचिन चौधरी ने ब्रॉन्ज जीता। इस बार पैरा स्पोर्ट्स में यह भारत का पहला मेडल है। 10 पैरालिफ्टरों के फाइनल में सचिन ने कुल 181 किलो वजन उठाया। नाइजीरिया के अब्दुलाजीज (191.9) गोल्ड और मलेशिया के यी जोंग (188.7) ने सिल्वर जीता।

सचिन चौधरी



फोकस के लिए

आंखों की 9 घंटे तक फ्लेम एक्सरसाइज

शूटर्स के लिए मेंटल फिटनेस जरूरी होती है। इसके लिए मेडिटेशन और प्राणायाम करते हैं। 9 घंटे तक की फ्लेम एक्सरसाइज कराई जाती है, जिसे हठयोग भी कहा जाता है। इसमें अंधेरे में मोमबत्ती की लौ पर फोकस करना होता है।

हाथ के लिए: आर्क मूवमेंट घटाने की ट्रेनिंग

मिनिमम आर्क मूवमेंट के लिए होल्डिंग एक्सरसाइज होती है। इसका मतलब है कि हाथ की मांसपेशियां मजबूत हों और टारगेट श्ूट करते वक्त हैंड मूवमेंट कम से कम हो। इसको ही मिनिमम आर्क मूवमेंट कहते हैं। जितना बेहतर निशानेबाज, उतना ही मिनिमम आर्क मूवमेंट।

 |
दिमाग के लिए

मेंटल कंडीशनिंग ऐसी, जश्न मनाने पर रोक

शूटर कभी भी गेम जीतने पर अन्य खेल के खिलाड़ियों की तरह जश्न नहीं मनाते। इसकी वजह है उनका शांत दिमाग। ट्रेनिंग कैंप में शूटर की खास मेंटल कंडीशनिंग ही इस तरह से कराई जाती है कि उसका दिमाग शांत बना रहे।

बॉक्सिंग | भारत के 5 बॉक्सर सेमीफाइनल में, मेडल पक्के

अमित पंघल (46-49 किग्रा), नमन तंवर (91), हुसामुद्दीन (56), मनोज कुमार(69) और सतीश कुमार (91+) ने सेमीफाइनल में पहुंचकर देश के लिए पांच मेडल पक्के कर दिए। एमसी मैरीकॉम पहले ही सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं। बैडमिंटन में सात्विक रैंकी रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की भारतीय जोड़ी ने मिक्स्ड डबल्स में गुनर्सी को 2-0 से हराकर अंतिम 32 में जगह बना ली।

शरीर के हर हिस्से की साइंटिफिक तैयारी...

सांस के लिए

शॉट के वक्त सांस तक रोक लेते हैं

शूटिंग के वक्त सांस लेने भर से शॉट हिल सकता है। इसलिए शूटरों को ब्रीदिंग एक्सरसाइज कराई जाती है। शूटर अपनी सांस को कंट्रोल करना सीखता है। नतीजतन मैच में जब वो शूट करने की स्थिति में होता है तो सांस अपने आप रुक जाती है।

...और सबसे अहम: ट्रिगर कंट्रोल की ट्रेनिंग

ट्रिगर को शूटर अपने हिसाब से सेट करते हैं। काेई तिरछा रखता है, कोई आगे तो कोई पीछे। गोली चलाने से पहले ट्रिगर पर हाथ फ्रीज हो जाता है। यह न हो इसके लिए कैंप में शूटरों को ट्रिगर सेट करने की ट्रेनिंग दी जाती है। नए शूटरों को शूटिंग एक्यूपमेंट शॉप से इसे बार-बार ठीक कराना पड़ता है।

एथलेटिक्स | अनस 0.2 सेकंड से मेडल चूके, चौथे स्थान पर रहे

मो अनस ने 400 मी. रेस में नेशनल रिकॉर्ड बनाया। हालांकि, वे 0.2 सेकंड से मेडल चूक गए। जेवोन फ्रांसिस (35.11 सेकंड) ने अनस (35.31) को पीछे छोड़कर ब्रॉन्ज जीता। अनस, मिल्खा सिंह के बाद कॉमनवेल्थ गेम्स (1958) के 400 मी. के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय है।

मोहम्मद अनस

बैलेंस के लिए

6 बेसिक- स्टांस, फॉलो थ्रू, ग्रिप...

शूटिंग के 6 बेसिक होते हैं- स्टांस, ग्रिप, ब्रीथिंग, एमिंग, ट्रिगर, फॉलो थ्रू। स्टांस से शूटर स्टार्ट और फिनिश करता है। यानि आखिरी बेसिक फॉलो थ्रू भी इससे ही जुड़ा होता है। इसमें गोली चलाने के बाद 3 सेकंड तक स्टांस रखना होता है।

हॉकी | पुरुष और महिला दोनों टीमें सेमीफाइनल में पहुंचीं

हॉकी में भारत ने पुरुष और महिला दोनों वर्गों में सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। पुरुष टीम ने मलेशिया को 2-1 से हराया। दोनों गोल हरमनप्रीत सिंह ने किए। महिला टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 1-0 से हराया। उधर, दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा ने महिला डबल्स स्क्वॉश इवेंट में पाकिस्तानी जोड़ी को 2-1 से हराया। मिक्स्ड टीम इवेंट में दीपिका और सौरव घोषाल की जोड़ी भी जीती।

हीना सिद्धू

मेडल टैली (टॉप-10)

देश गोल्ड सिल्वर ब्रॉन्ज कुल

ऑस्ट्रेलिया 50 38 42 130

इंग्लैंड 23 27 20 70

भारत 11 4 6 21

न्यूजीलैंड 9 10 7 26

द. अफ्रीका 8 5 5 18

कनाडा 7 17 13 37

वेल्स 7 7 4 18

स्कॉटलैंड 6 9 12 27

नाइजीरिया 4 4 0 8

साइप्रस 4 0 2 6

भारत के आज के मुकाबले

लॉन बॉल | पुरुष सिंगल्स, महिला पेयर्स, महिला ट्रिपल्स, पुरुष फोर।

हॉकी | भारत बनाम इंग्लैंड (पुरुष)

बैडमिंटन | साइना नेहवाल, पीवी सिंधु, किदांबी श्रीकांत, अश्विनी पोनप्पा के अलग-अलग वर्ग के मुकाबले।

स्क्वॉश | पुरुष और महिला डबल्स

टेबल टेनिस | पुरुष, महिला और मिक्स्ड डबल्स के मुकाबले।

बॉक्सिंग | मैरीकॉम, एल सरिता देवी, गौरव सोलंकी, विकास कृष्णन, पिंकी रानी,मनीष कौशिक की बाउट।

एथलेटिक्स | नयना जेम्स और एनवी नीना, तेजस्विन शंकर के अलग-अलग इवेंट।

17 साल की एर्नी टिटमस की गोल्डन हैट्रिक

ऑस्ट्रेलिया की स्वीमर एर्नी टिटमस ने मंगलवार को 800 मीटर फ्रीस्टाइल का गोल्ड भी जीत लिया। 17 साल की टिटमस का यह गोल्ड कोस्ट गेम्स में तीसरा गोल्ड है। वे 400 मीटर फ्रीस्टाइल और 4 गुणा 200 मीटर फ्रीस्टाइल का गोल्ड भी जीत चुकी हैं।

X
हीना ने दूसरी बार एक ही कॉमनवेल्थ में सिल्वर और गोल्ड दोनों मेडल जीते
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..