रानी

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • 1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं
--Advertisement--

1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं

जयपुर का एक शख्स पाकिस्तानी जेल में है। यह शख्स 36 साल पहले लापता हुआ था। राष्ट्रीयता की जांच के लिए पाक से आए...

Dainik Bhaskar

May 23, 2018, 06:25 AM IST
1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं
जयपुर का एक शख्स पाकिस्तानी जेल में है। यह शख्स 36 साल पहले लापता हुआ था। राष्ट्रीयता की जांच के लिए पाक से आए दस्तावेजों से चौंकाने वाली जानकारी आई है। इसका नाम गजानंद शर्मा (68) है। गजानंद की उम्मीद छोड़ चुके परिजनों के लिए यह दस्तावेज चमत्कार जैसा है। गजानंद की 62 वर्षीय प|ी मखनी देवी की आंखों में चमक और डर दोनों एकसाथ छलकते हैं। कहती हैं, “अब तो एक ही आखिरी आस है। एक बार दर्शन कर लूं। लेकिन पाक जेल का नाम सुनकर डर लगता है।” परिवार को ये समझ नहीं आ रहा है कि उन्हें कैसे वापस लाया जाए।

सामोद एसएचओ शेरसिंह का कहना है कि 4 मई को जयपुर ग्रामीण एसपी ऑफिस से गजानंद शर्मा की भारतीय राष्ट्रीयता के सत्यापन के दस्तावेज आए थे। इसमें उनके पाक जेल में बंद होने का हवाला था।

गजानंद की पुरानी फोटो दिखाता उनकी प|ी मखनी देवी।

पता नहीं, कैसे पहुंच गए पाकिस्तानी जेल

गजानंद, पाकिस्तानी जेल कैसे पहुंच गए। वहां किस अपराध में बंद है। इस बारे में परिजनों को कोई जानकारी नहीं है। प|ी मखनी देवी बताती हैं, “वे मजदूरी करते थे। ऐसे में अक्सर घर से बाहर रहते थे। बात 1982 की है। वे (गजानंद) अचानक घर से बिना बताए निकल गए। मखनी देवी कहती हैं, कुछ दिनों तक आसपास तलाश की। ब्रह्मपुरी थाने भी गई। लेकिन, कुछ हुआ नहीं। अनपढ़ थी, सो रिपोर्ट भी दर्ज नहीं करवा पाई। तब बेटों की उम्र भी 12-15 साल रही है। मजबूरी में एक निजी अस्पताल में नौकरी कर ली।

दिलों-दिमाग से धुंधली हो गई थी यादें

गजानंद के दो बेटे हैं। मुकेश और राकेश। परिवार नाहरगढ़ थाना इलाके में माउंट रोड में फतेहराम का टीबा कॉलोनी में रहता है। मुकेश बताते हैं, “7 मई को ताऊ के बेटे राजेंद्र ने फोन किया। उन्होंने बताया, गजानंद चाचा का पता चल गया है। वह लाहौर जेल में है। पाक से गजानंद की राष्ट्रीयता की सत्यता जांचने के लिए दस्तावेज सामोद थाने में आए है।” पहले तो भरोसा नहीं हुआ। तब वे 9 मई को सामोद थाने पहुंचे और वहा कागज सौंपे।

1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं
X
1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं
1982 में लापता हुए थे गजानंद, नागरिकता सत्यापन के लिए कागज आए तो पता चला पाकिस्तानी जेल में बंद हैं
Click to listen..